Home विज्ञान वैज्ञानिकों को वीनस ग्रह पर मिले जीवन होने के संकेत..

वैज्ञानिकों को वीनस ग्रह पर मिले जीवन होने के संकेत..

वैज्ञानिकों को वीनस यानी शुक्र ग्रह पर फॉस्‍फीन गैस की मौजूदगी के संकेत मिले हैं

खास बातें

  • वीनस पर दिन में बहुत अधिक पहुंच जाता है तापमान
  • कार्बन डाइ ऑक्‍साइड की बहुत अधिक मौजूदगी से होता है ऐसा
  • टेलिस्‍कोप लगाकर लिया वीनस के ऊपरी बादलों का जायजा

वैज्ञानिकों को वीनस यानी शुक्र ग्रह के वातावरण (Atmosphere of Venus)में फास्‍फीन गैस की मौजूदगी के संकेत मिले हैं, इसे पृथ्‍वी पर जीवन होने की संभावना प्रबल हुई है. वैज्ञानिकों ने पृथ्‍वी के सबसे निकटतम ग्रह की स्थिति के बारे में यह बात कही है. वीनस यानी शुक्र की स्थितियां आमतौर पर नारकीय मानी जाती है और यहां पर दिन का तापमान इतना अधिक हो जाता है कि सीसा (Lead) भी पिघल जाए. वीनस के वातावरण में कार्बन डाई ऑक्‍साइड की बहुत अधिक मौजूदगी के कारण ऐसा होता है.  

UAE ने जापान से लॉन्च किया मिशन मंगल, ऐसा करने वाला पहला अरब देश

विशेषज्ञों की एक टीम ने हवाई और चिली के एटाकामा डिजर्ट से टेलिस्‍कोप लगाकर वीनस यानी शुक्र ग्रह के बादलों की ऊपरी झुंड का जायजा लिया. यह ग्रह से सरफेस से करीब 60 किमी की ऊंचाई पर है. इस दौरान उन्‍हें फॉस्‍फीन गैस के अंश मिले जो कि ज्‍वलनशील गैस है और यह पृथ्‍वी पर तब बनती है जब कार्बन का अंश टूटते हैं.

इसरो ने जारी की मंगल के सबसे करीबी और सबसे बड़े चंद्रमा फोबोस की तस्वीरें

हालांकि नेचल एस्‍ट्रोनॉमी के बारे में अनुमान लगाते हुए टीम इस बात पर भी जोर दिया कि केवल फॉस्‍फीन गैस की मौजूदगी को वीनस पर जीवन मौजूद होने के पक्‍के सबूत के रूप में नहीं माना जा सकता. हालांकि वीनस के आसपास के बादल बेहद अम्‍लीय (Highly acidic) हैं, इस कारण फॉस्‍फीन गैस तेजी से नष्‍ट हो रही थी. हालांकि रिसर्च ने यह भी दिखाया है कि किसी चीज के कारण फॉस्‍फीन फिर से बन रही थी. स्विनबर्न यूनिवर्सिटी के एस्‍ट्रोनॉमर और रॉयल इंस्‍टीट्यूट ऑफ ऑस्‍ट्रेलिया के शीर्ष वैज्ञानिक एलेन डफी ने कहा कि यह पृथ्‍वी के अलावा किसी अन्‍य ग्रह पर जीवन की मौजूदगी के होने का सबसे रोमांचक संकेत है. 

पीएम मोदी ने देश के वैज्ञानिकों का बढ़ाया हौसला

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

हाथरस पहुंचकर सीबीआई की वरिष्ठ अधिकारी ने जांच में हुई प्रगति का जायजा लिया

डिसक्लेमर:यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।भाषा | Updated: 20 Oct 2020,...

कोरोना से रिकवरी के बाद भी अस्पताल के चक्कर लगा रहे लोग, दिखे साइड इफेक्ट

नई दिल्ली: देश में 67 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी को हराकर ठीक हो चुके हैं. लेकिन इन मरीजों में से...

सीरम इंस्‍टीट्यूट ने कोविड-19 संक्रमितों के इलाज के लिए दो कंपनियों के साथ मिलाया हाथ

भारत में कोरोना संक्रमण के 77 लाख से ज्‍यादा मामले सामने आ चुके हैं (प्रतीकात्‍मक फोटो)खास बातेंजर्मनी कंपनी मर्क और अमेरिका की IAVI के...