Home मनोरंजन अक्षय की फिल्म का नाम लक्ष्मी बॉम्ब क्यों रखा गया? मेकर्स ने...

अक्षय की फिल्म का नाम लक्ष्मी बॉम्ब क्यों रखा गया? मेकर्स ने शेयर की कहानी

अक्षय कुमार की फिल्म लक्ष्मी बॉम्ब रिलीज से पहले ही कई तरह के विवादों में फंस गई है. एक तरफ आरोप लगाए जा रहे हैं कि फिल्म के जरिए लव जिहाद को बढ़ावा दिया जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ फिल्म के नाम को लेकर भी बवाल खड़ा किया जा रहा है. सोशल मीडिया पर अक्षय की लक्ष्मी बॉम्ब को बैन करने की मांग उठा दी गई है. इस बीच फिल्म के डायरेक्टर ने लक्ष्मी बॉम्ब के टाइटल को लेकर एक कहानी बताई है.

लक्ष्मी बॉम्ब टाइटल क्यों रखा गया?

लक्ष्मी बॉम्ब साउथ फिल्म कंचना की रीमेक है. वहीं क्योंकि दोनों फिल्म के डायरेक्टर सेम हैं, ऐसे में ये सवाल उठे कि हिंदी रीमेक में कंचना का नाम बदल लक्ष्मी बॉम्ब क्यों रख दिया गया. अब एक न्यूज पोर्टल को इंटरव्यू के दौरान डायरेक्टर Raghava Lawrence ने इसका जवाब दे दिया है. वे कहते हैं- हमारी तमिल फिल्म का नाम कंचना मेन किरदार के आधार पर रखा गया था. कंचना का मतलब सोना होता है. अब सोना भी लक्ष्मी का ही एक रूप है. ऐसे में जब हम फिल्म का हिंदी रीमेक बना रहे थे, तब दिमाग में यही चल रहा था कि नाम ऐसा होना चाहिए जो जिसके साथ हिंदी बोलने वाले भी रिलेट कर सखें. इसलिए फिल्म टाइटल में लक्ष्मी शब्द का इस्तेमाल किया गया.

किन्नर समुदाय पर क्यों बनाई फिल्म?

वहीं क्योंकि फिल्म में अक्षय का किरदार काफी मजबूत दिखाया गया है, ऐसे में फिल्म टाइटल में लक्ष्मी संग बॉम्ब को भी जोड़ दिया गया और फिल्म का नाम बन गया लक्ष्मी बॉम्ब. वैसे Raghava Lawrence ये भी मानते हैं कि वे लंबे समय से किन्नर समुदाय के इर्द-गिर्द एक कहानी बनाना चाहते थे. वे कहते हैं- मैं एक ट्रस्ट चलता हूं. तब कुछ किन्नर समाज के लोगों ने मुझ से मदद मांगी थी. जब मैंने उनकी कहानी सुनी, तो मुझे लगा कि उनकी कहानी को फिल्म के जरिए सभी तक पहुंचाना चाहिए.

देखें: आजतक LIVE TV

ऐसे में अब  Raghava Lawrence ने फिल्म टाइटल के पीछे की कहानी तो बता दी है, लेकिन इसको लेकर हो रहे विवाद पर कुछ नहीं बोला है. उन्होंने ये तो बता दिया है कि फिल्म का नाम लक्ष्मी बॉम्ब क्यों रखा गया है, लेकिन इस आरोप पर कुछ नहीं बोला कि फिल्म के जरिए माता लक्ष्मी का अपमान किया जा रहा है. अब रिलीज के दौरान फिल्म को किसी तरह की मुसीबत का सामना करना पड़ता है या नहीं, ये अपने आप में बड़ा सवाल है. 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

सपा कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट में किया प्रदर्शन

{"_id":"5f8dc2958ebc3e9b8f2e66c0","slug":"sp-workers-protested-in-padarauna-kushinagar-news-gkp3700661179","type":"story","status":"publish","title_hn":"u0938u092au093e u0915u093eu0930u094du092fu0915u0930u094du0924u093eu0913u0902 u0928u0947 u0915u0932u0947u0915u094du091fu094du0930u0947u091f u092eu0947u0902 u0915u093fu092fu093e u092au094du0930u0926u0930u094du0936u0928","category":{"title":"City &...

कैलाश विजयवर्गीय का पश्चिम बंगाल सरकार पर हत्या की साजिश का आरोप, कहा- बांग्लादेश से शूटर्स मंगवा रही है ममता बनर्जी

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के लिए करीब नौ महीने का वक्त है, लेकिन इससे पहले ही राज्य...

सड़क की लंबाई से विकास का किलोमीटर नापते हैं साहब, सड़क और बुल से नहीं होता है विकास, जब जनता हो खुशहाल तो समझा जाए हो गया विकास

पटना2 घंटे पहलेलेखक: मनीष मिश्राकॉपी लिंकस्थान- रेडियो स्टेशन गोलंबर के पास एसपी वर्मा रोड पर स्थित सुजीत की लिट्‌टी दुकानसमय - दोपहर दो बजेरेडियो...

हर चार में से तीन ग्रामीण भारतीयों को नहीं मिल पाता पौष्टिक आहार: रिपोर्ट

साझा करें:हाल ही में जारी वैश्विक भूख सूचकांक 2020 में भारत को 107 देशों की सूची में 94वें स्थान पर रखा गया है और देश भूख की...