Home बड़ी खबरें भारत Ladakh India China Border News: भारत की चीन के सामने शर्त, लद्दाख...

Ladakh India China Border News: भारत की चीन के सामने शर्त, लद्दाख से हटाए सैनिकों का जमावड़ा- रिपोर्ट

लद्दाख बॉर्डर पर भारत और चीन (india china Ladakh border news) की सेना आमने-सामने है। फिलहाल स्थिति को कंट्रोल में रखने के लिए शीर्ष अधिकारियों की बैठकों का दौर जारी है। भारत चाहता है कि चीन वहां अपनी सेना कम करे, जिसके बाद ही भारत ऐसा करेगा।

Edited By Vishnu Rawal | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

पैंगॉन्ग झील के पास भारतीय सेना का ट्रेक (फाइल फोटो)
हाइलाइट्स

  • लद्दाख में बॉर्डर के पास तीन पॉइंट्स पर पीछे हुईं भारत-चीन की सेनाएं, तनाव घटा
  • भारत सिर्फ इतने से संतुष्‍ट नहीं, चाहता है बॉर्डर के पास से पूरा इंतजाम हटाए चीन
  • दोनों देशों की सेनाओं के बीच कई दौर की बातचीत होगी, उसी में निकल सकता है हल
  • पेंगोंग शो झील पर तनाव वैसे ही बरकरार, चीनी सैनिक यहां से नहीं हटे हैं पीछे

नई दिल्‍ली

पूर्वी लद्दाख में बॉर्डर के पास तीन जगहों से भारत और चीन ने अपने-अपने सैनिक थोड़ा पीछे किए हैं। भारत का साफ कहना है कि लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (LAC) पर तनाव पूरी तरह से तभी खत्‍म होगा, जब चीन अपने सारे सैनिकों को साजोसामान समेत वापस बुला लेगा। चीन ने भारतीय इलाके के नजदीक आर्टिलरी और टैंक रेजिमेंट्स को तैनात किया हुआ है। बुधवार को दोनों देशों के बीच मेजर जनरल लेवल की बातचीत हो रही है। इससे पहले, 6 जून को मिलिट्री कमांडर लेवल की मीटिंग के बाद दोनों सेनाएं पीछे हटी हैं।

कहां-कहां पीछे हटी हैं सेनाएं

गलवान घाटी इलाका (पैट्रोलिंग पॉइंट 14 और 15)

हॉट स्प्रिंग्‍स (पैट्रोलिंग पॉइंट 17)

तीनों जगह से दोनों देशों की सेनाएं 2-2.5 किलोमीटर पीछे हटी हैं।

बॉर्डर पर जैसे को तैसा जवाब दे रहा भारत

न्‍यूज एजंसी ANI ने सरकार के शीर्ष सूत्रों के हवाले से लिखा है कि ‘पूर्व लद्दाख सेक्‍टर में डिसएंगेजमेंट शुरू हो गया है मगर हम चाहते हैं कि LAC सटे इलाकों में चीन ने जो एक डिविजिन से भी ज्‍यादा (10,000+) सैनिक तैनात कर रखे हैं, उन्‍हें हटाया जाए। डिसएंगेजमेंट ठीक है मगर तनाव तभी दूर होगा जब चीन अपना भारी-भरकम इंतजाम बॉर्डर से हटा ले।’ सूत्रों ने कहा कि चीन के जवाब भारत ने भी लद्दाख सेक्‍टर में 10 हजार से ज्‍यादा सैनिक तैनात कर दिए हैं ताकि चीन की किसी भी हरकत का जवाब दिया जा सके।

India China conflict: चीन के सामानों का बहिष्कार करें हिंदुस्तान के लोग, ये खुद टूट जाएगा- सोनम वांगचुकIndia China conflict: चीन के सामानों का बहिष्कार करें हिंदुस्तान के लोग, ये खुद टूट जाएगा- सोनम वांगचुकChina को मजबूर किया जाए कि वो सीमा पर 1962 की लाइन तक पीछे जाए (India – China Yudh) . इसके लिए जरूरी है कि भारत आर्थिक नाकेबंदी शुरू करे। Sonam Wangchuk इसी मुहिम को आगे बढ़ा रहे हैं। India – China Border Talks का दूसरा चरण आज ही शुरू हो रहा है। वांगचुक कहते हैं कि पहली बार चीन दबाव महसूस कर रहा है। इसे बनाए रखने की जरूरत है। India – China Trade अभी हमारे पक्ष में नहीं है। भारत के बाजार में चीन के सामान छाए हुए हैं। हमें इनका बहिष्कार करना चाहिए।पहली बार चीन दबाव महसूस कर रहा है। इसे बनाए रखने की जरूरत है। India – China Trade अभी हमारे पक्ष में नहीं है। भारत के बाजार में चीन के सामान छाए हुए हैं। हमें इनका बहिष्कार करना चाहिए।

10 दिन चलेगी बातचीत, नतीजा आएगा?

चीनी सैनिकों ने 4 मार्च को इस तनाव की शुरुआत की थी। जब पीपुल्‍स लिबरेशन आर्मी (PLA) की लगभग एक पूरी बटालियन अपने पैट्रोलिंग पॉइंट से कहीं आगे चली आई थी। उनके साथ इन्‍फैंट्री कॉम्‍बैड व्‍हीकल्‍स और भारी गाड़‍ियां भी थीं। भारत इन पॉइंट्स को अगले 10 दिन होने वाली दोनों देशों की बातचीत में उठा सकता है। भारत और चीन के बीच बटालियन लेवल, ब्रिगेड लेवल और मेजर जनरल लेवल की बातचीत होनी है। बटालियन कमांडर लेवल पर डिसएंगेजमेंट पॉइंट्स पर बात हो सकती है।

रूस के T90 टैंक

  • रूस के T90 टैंक

    पिछले साल जब लद्दाख में चीन के साथ तनावपूर्ण स्थिति पैदा हुई थी, तब भारतीय सेना और एयरफोर्स ने ऊंचाई वाले इलाकों में जोरदार युद्धाभ्‍यास किया था और दुश्‍मन को अपनी सैन्‍य ताकत का अहसास कराया था। रूस से आए सेना के अत्‍याधुनिक टी-90 भीष्‍म टैंकों की गड़गड़ाहट से लद्दाख की पहाड़ी वादियां भी थर्रा उठी थीं। ये टैंक अपनी मोबिलिटी, फायर करने की क्षमता, देखते ही निशाना मारने की काबिलियत और आत्मरक्षा के लिए जाने जाते हैं। इनके अलावा एयर फोर्स के सी-17 विमानों ने रात के अंधेरे में भी रसद पहुंचाने की क्षमता का प्रदर्शन किया था।

  • रूस का Mi 17 V5 हेलिकॉप्टर

    रूस निर्मित एमआई 17वी5 चॉपर का भी इस्‍तेमाल इस युद्धाभ्यास में किया गया था। इन्हें दुनिया के सबसे अडवांस्ड हेलिकॉप्टर्स में से एक माना जाता है। ये असॉल्ट, ऐंबुलेंस और ट्रांसपोर्टर के तौर पर बेहतरीन काम कर सकते हैं। खास बात यह है कि यह बेहद सर्दी से लेकर बेहद गर्मी वाले इलाकों में भी बेहतरीन काम करते हैं। इनका फ्लाइट नैविगेनशन, दिन-रात, सर्दी-गर्मी, बारिश-तूफान कैसे भी हालात में ऑपरेट करने में मदद करता है।

  • अमेरिका का C 130J एयरक्राफ्ट

    अमेरिका का 4-इंजन टर्बोप्रॉप मिलिटरी ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट बिना किसी खास रनवे के टेक-ऑफ और लैंडिंग कर सकता है। इसे पहले मेडिकल इवैक (Evacuation) और कार्गो के लिए इस्तेमाल किया जाता था। इसके खास एयरफ्रेम की वजह से इसका इस्तेमाल असॉल्ट, सर्च ऐंड रेस्क्यू, साइंटिफिक रीसर्च, मौसम के जायजे, एरियल रिफ्यूलिंग, मैरीटाइम पट्रोल और एरियल फायर फाइटिंग के लिए किया जाता है।

  • इजरायल का Heron UAV

    बीच की ऊंचाई पर उड़ने वाले इजरायल के Heron UAV की खासियत है ज्यादा वक्त तक लंबी दूरी तय कर पाने की काबिलियत। यह अनमैन्ड एरियल वीइकल 52 घंटों तक उड़ान भर सकता है। यह एक इंटरनल जीपीएस नैविगेशन डिवाइस से नैविगेट करता है। पहले से प्रोग्राम्ड फ्लाइट होने पर इसकी लैंडिंग और टेक-ऑफ भी प्रोग्राम्ड होता है। साथ में ग्राउंट कंट्रोल स्टेशन से इसे मैन्युअली भी ऑपरेट किया जा सकता है।

  • देखें वीडियो- सैन्य वार्ता के बाद भारत-चीन ने शांतिपूर्ण तरीके से सीमा विवाद सुलझाने का भरोसा जताया

पेंगोंग लेक पर फंसा है पेच

सीमा से सटे तीन पॉइंट्स से तो सेनाएं पीछे हट गई हैं। मगर पेंगोंग शो झील पर तनाव बरकरार है। यहां पर दोनों देशों की सेनाओं में मई की शुरुआत में संघर्ष हो चुका है जिसमें दोनों तरफ के कई जवान घायल हुए थे। झील के उत्‍तरी किनारे पर फिंगर 4 से लेकर फिंगर 8 तक के इलाके में चीनी सेना अब भी मौजूद है। चीन अपनी सीमा फिंगर 4 तक मानता है जबकि भारत के मुताबिक, चीन की सीमा फिंगर 8 पर खत्‍म हो जाती है। दोनों देशों के बीच आगे की बातचीत में इस पॉइंट पर क्‍या फैसला होता है, यह देखने वाली बात होगी।

Web Title india china ladakh border news india wants china to de-induct all troops with artillery and tanks from ladakh border(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

संस्कारशाला : प्रिसिपल का आलेख

फोटो 20पीकेटी 11, 12, 13 विषय: स्वार्थ से दूर निस्वार्थ भाव ही मनुष्य के उन्नति की राह जो व्यक्ति दूसरों...

पंजाब में छह साल की बच्ची से दुष्कर्म और हत्या के आरोपी पर फूटा भीड़ का गुस्सा

पंजाब (Punjab) के टांडा शहर में एक प्रवासी मजदूर की छह साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म (Rape) करने और उसे जलाने के आरोपी...

करणवीर बोहरा का रुबीना दिलैक को सपोर्ट, सलमान खान के ह्यूमर पर किया कमेंट

बीते वीकेंड का वार में सलमान खान ने मजाक में रुबीना दिलैक के पति अभिनव शुक्ला को सामान कहकर बुलाया था. इस पर एक्ट्रेस...

Sushant Singh Rajput Case: मुंबई हाईकोर्ट ने रिपब्लिक टीवी की रिपोर्ट पर उठाए सवाल

राज्य ब्यूरो, मुंबई। Sushant Singh Rajput Case: बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले में रिपब्लिकन टीवी की रिपोर्टिंग व उसकी शैली पर मुंबई...

पाकिस्तान में चीन की मदद से चली पहली मेट्रो ट्रेन – देखिए तस्वीरें – BBC News हिंदी

49 मिनट पहलेइमेज स्रोत, Getty Imagesपाकिस्तान को अपनी पहली मेट्रो लाइन मिल गई है. पंजाब सूबे की राजधानी लाहौर में देश की पहली मेट्रो...