Home अर्थव्यवस्था आनंद महिंद्रा ने गुरुग्राम के इस स्टार्टअप में किया 7.5 करोड़ रुपए...

आनंद महिंद्रा ने गुरुग्राम के इस स्टार्टअप में किया 7.5 करोड़ रुपए का निवेश, जानें क्या करती हैं कंपनी?

सोशल मीडिया स्टार्टअप Hapramp में किया 10 लाख डॉलर का निवेश

2018 में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉडी (IIT) वडोदरा के पांच छात्रों ने Hapramp की स्थापना की थी. महिंद्रा ने वर्ष 2018 में ट्विटर के जरिए घोषणा की थी कि वह कुछ शर्तों पर खरी उतरने वाली एक भारतीय सोशल मीडिया स्टार्टअप में निवेश कर सकते हैं.

नई दिल्ली. महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन (chairman, Mahindra Group) आनंद महिंद्रा ने गुरुग्राम की ब्लॉकचेन बेस्ड सोशल मीडिया स्टार्टअप Hapramp में 7.5 करोड़ रुपए (1 मिलियन डॉलर) निवेश किया है. 2018 में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉडी (IIT) वडोदरा के पांच छात्रों ने इस स्टार्टअप की स्थापना की थी. महिंद्रा ने वर्ष 2018 में ट्विटर के जरिए घोषणा की थी कि वह कुछ शर्तों पर खरी उतरने वाली एक भारतीय सोशल मीडिया स्टार्टअप में निवेश कर सकते हैं.

आनंद महिंद्रा ने बुधवार को ट्वीट किया,आखिर दो साल के बाद मुझे वह स्टार्टअप कंपनी मिल गई, जिसकी मुझे तलाश थी! Hapramp स्वदेशी कंपनी है, जिसका गठन पांच युवा संस्थापकों ने की है. यह कंपनी रचनात्मकता, प्रौद्योगिकी के साथ-साथ डेटा प्रोटेक्शन को एक साथ लेकर चल रही है. उनके सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म gosocial पर गौर करिए.

ये भी पढ़ें :-अब ATM में बिना किसी चीज को छुए निकाल सकेंगे कैश, जानिए पूरा प्रोसेस

उन्होंने महिंद्रा के एक पूर्व अधिकारी जसप्रीत बिंद्रा को अगली पीढ़ी के भारतीय सोशल नेटवर्क स्टार्टअप की तलाश के लिए उनके साथ मिलकर काम करने को कहा था. बिंद्रा ने बताया कि Hapramp की टीम Web 3.0 सोशल नेटवर्क विकसित कर रही है. यह उभरती हुई डिजिटल टेक्नोलॉजी पर बनाया गया है. इसमें एक सॉलिड बिजनेस मॉडल है जो कंटेट क्रिएट करने वालों को रिवार्ड देता है और  निजी जानकारी की सुरक्षा करता है. यह सबके लिए अच्छा है क्योंकि इसका विकास यहां भारत में हो रहा है.सोशल नेटवर्किंग सॉल्यूशन GoSocial के अलावा Hapramp, 1Ramp.io को भी ऑपरेट करती है. यह स्टीम ब्लॉकचेन और Asteria Protocol पर आधारित सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है. Asteria Protocol सार्वजनिक डेटा को निजी और सुरक्षित रूप से व्यवहार करने के लिए प्लेटफार्मों की मदद करेगा.

Hapramp के को-फाउंडर और CEO शुभेंद्र विक्रम ने कहा, हम बहुत सम्मानित और उत्साहित हैं. हमारा प्लान इस फंड के जरिए अपने प्लेटफॉर्म का विस्तार करना है और क्रिएटर्स को सशक्त करना चाहते हैं.

ये भी पढ़ें- बड़ी खबर- TT की जगह रेलवे पुलिस से ट्रेन टिकट चेक कराने और टिकट प्रिंटिंग बंद करने का प्रस्ताव, जानिए क्या है तैयारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.



First published: June 10, 2020, 2:20 PM IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Bihar Election: शेखपुरा में लालू के अंदाज में दिखे तेजस्वी यादव, बोले- सरकारी नौकरी मिलेगी तभी अच्छी बीवी मिलेगी

शेखपुरा, दीपक कुमारबिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election 2020) के पहले चरण का तिथि जैसे जैसे नजदीक आती जा रही है, नेता अपनी पूरी ताकत...

गुप्तेश्वर पांडे कुछु ना कइले, उ चहिते त पूरा जवार चमका देते, उनका टिकट भाजपा ने कटवा दिया

Hindi NewsBihar electionSatireNitish Kumar Gupteshwar Pandey (Bihar) Election 2020 | Buxar Locals Voters Political Debate On Nitish Kumar And BJP Parshuram Chaubeyबक्सर2 घंटे पहलेलेखक:...

बिहार चुनावों में भाजपा की ‘शतरंज’ वाली चाल; नीतीश को एनडीए के छत्र के नीचे रखना चाहती है

2 घंटे पहलेकॉपी लिंकराजदीप सरदेसाई, वरिष्ठ पत्रकारबिहार की चुनावी राजनीति को इस समय वैसे ही ऑक्सीजन की जरूरत है, जैसे वेंटिलेटर पर गंभीर मरीज...