Home राज्यवार बिहार बिहार: पत्नी को बिठा बिना सीट वाला ठेला खींच रहे थे 70...

बिहार: पत्नी को बिठा बिना सीट वाला ठेला खींच रहे थे 70 साल के बुजुर्ग, DM की पड़ी नजर तो…

जमुई के डीएम धर्मेंद्र कुमार ने बुजुर्ग की मदद की.

सोशल मीडिया (Social Media) पर पोस्ट की गई एक बुजुर्ग ठेला चालक की तस्वीर देखकर जमुई के डीएम ने जब बुजुर्ग की तलाश कर उसे अपने कार्यालय बुलवाया तो उनकी गरीबी का पता चला.

जमुई. जमुई के डीएम धर्मेंद्र कुमार (Jamui DM Dharmendra Kumar) संवेदनशीलता का परिचय देते हुए एक गरीब की मदद करने को आगे आए. दरअसल सोशल मीडिया (Social media) पर डाली गई एक तस्वीर ने उन्हें झकझोर दिया. इसमें एक 70 साल के बुजुर्ग शरीर से कमजोर होते हुए भी ठेला खींच रहे थे. इस तस्वीर को देखकर डीएम ने उनकी मदद करने की ठान ली. फिर उसकी तलाश उन्होंने अपने माध्यम से करवाई और पूरे परिवार को अपने कार्यालय बुलवाकर समस्या को सुनते हुए सहायता पहुंचाने का निर्देश दिया. जमुई के डीएम ने सत्तर साल के बुजुर्ग ठेला चालक अर्जुन पासवान को तत्काल 11 हजार की सहायता राशि भी दी और राशन कार्ड और वृद्धा पेंशन दिलवाने का भरोसा भी दिया.

दरअसल सोशल मीडिया (Social Media) पर डाले गए एक बुजुर्ग ठेला चालक की तस्वीर को देखकर जमुई के डीएम ने जब बुजुर्ग की तलाश कर उन्हें अपने कार्यालय में बुलवाया तो उनकी गरीबी का पता चला. तस्वीर में बुजुर्ग के ठेले पर न ही बैठने के लिए सीट थी और न ही टायर व ट्यूब. बुजुर्ग होने के बाद भी ठेला खींचकर दो पैसे कमाने के लिए मेहनत करना अर्जुन पासवान की मजबूरी थी.

जमुई शहर के भछियार मोहल्ले में रहने वाले 70 साल के बुजुर्ग अर्जुन उम्र अधिक होने के कारण कान से कम सुनते हैं. 65 वर्षीय पत्नी कमली देवी भी पैर से दिव्यांग है. तीन बेटे हैं जो मजदूरी करते हैं, जिसमें दो बेटे अलग अपनी दुनिया मे रहते हैं. एक बेटा जो अर्जुन के साथ रहता है वो बीमार रहता है जिसके कारण उसे हर दिन काम नहीं मिल पाता.

70 साल की उम्र में भी परिवार चलाने के लिए दो पैसे कमाने के लिए अर्जुन हर दिन पुरानी बाजार इलाके में ठेला खीचते हैं. बुजुर्ग अर्जुन का कहना है कि ठेला पैदल ही खींचता हूं क्योंकि उम्र अधिक होने के कारण उसे चला नहीं पाता. ठेले के हैंडल के सहारे ठेला खींचने मे आसानी होती है.बुधवार को जमुई के डीएम ने अर्जुन के हालात के बारे में सुनने के बाद अपने कार्यालय में ही अधिकारियों को बुलवाकर एक सप्ताह में राशन कार्ड बनाने और उनकी पत्नी कमली देवी को सामाजिक सुरक्षा पेंशन के तहत लाभ दिलवाने का निर्देश दिया. सरकारी कर्मियो ने ही इन दोनों की फोटो खींचने जैसी सारी औपचारिकताएं पूरी करवाईं. इस मौके पर डीएम ने बुजुर्ग ठेला चालक को 11 हजार रुपये की भी सहायता दी.

जमुई के डीएम ने बुजुर्ग दंपती की मदद की.

इस मामले मे जमुई के डीएम ने बताया कि सरकार की तरफ से गरीब लाचार लोगो के लिए कई तरह की योजनाएं चलाई जा रही हैं. माध्यम चाहे कोई हो अगर उन तक इस तरह के मामले सामने आएंगे तो वो जरूर मदद पहुंचाएंगे.

डीएम ने बताया कि बुजुर्ग होने के बाद भी ठेला खींचने का काम करने वाले शख्स को आराम करने के लिए कहा गया है. सरकार की तरफ से उन्हें एक सप्ताह में राशन कार्ड मिल जाएगा, उनकी पत्नी की वृद्धा पेंशन भी शुरू हो जाएगी, जिससे उनकी जिंदगी आसान हो जाएगी.

ये भी पढ़ें :-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जमुई से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.



First published: June 10, 2020, 4:27 PM IST



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

बिहार चुनाव: नीतीश के मंच से मोदी के ‘स्नेह’ से चिराग हुए भावुक, आखिर क्या हैं संकेत?

पटनाबिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Vidhan Sabha Chunav 2020) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi Rally in Bihar) ने भी मोर्चा संभाल लिया है। शुक्रवार...

BJP के करीब आ रही हैं Mayawati, देखिए सबूत

लखनऊः इस वक्त बिहार विधानसभा के लिए चल रही चुनावी गहमा-गहमी के बीच सबका ध्यान अचानक ही उत्तर प्रदेश में राज्यसभा चुनाव की ओर...