Home बहुजन विशेष मायावती ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बताया सराहनीय कदम, कहा- प्रवासी...

मायावती ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बताया सराहनीय कदम, कहा- प्रवासी श्रमिकों के प्रति गंभीर हों सरकारें

Publish Date:Wed, 10 Jun 2020 08:10 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रमुख मायावती ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रवासी मजदूरों पर दर्ज मुकदमे वापस लेने का आदेश जारी करने की सराहना करते हुए उनके रोजगार की व्यवस्था करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अब सरकारों को प्रवासी मजदूरों को रोजगार की व्यवस्था करने के लिए गंभीर व संवेदनशील होकर ठोस कार्रवाई अविलम्ब शुरू कर देनी चाहिए।

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को ट्वीट कर राज्य सरकारों से संवेदनशील होकर ठोस कार्रवाई करने की मांग की। उन्होंने लिखा, कोरोना महामारी व लॉकडाउन के कारण बेरोजगार व बेसहारा होकर जैसे-तैसे सैकड़ों किलोमीटर दूर घर वापसी करते हुए नियमों का अक्षरश: पालन नहीं कर पाने वाले प्रवासी श्रमिकों के विरुद्ध दर्ज मुकदमे वापस लेने का सुप्रीम का आदेश सही, सामयिक व सराहनीय है।

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने आगे कहा कि इसके साथ ही घर लौटे प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में उनकी योग्यता का आकलन करके रोजगार की व्यवस्था करने के कोर्ट के निर्देश का भी भरपूर स्वागत है। इस संबंध में अब सरकारों को गंभीर व संवेदनशील होकर ठोस कार्रवाई अविलंब शुरू कर देनी चाहिए, यह बसपा की मांग है।

शिक्षक भर्ती घोटाले की सीबीआइ जांच हो : इससे पहले मंगलवार को बहुजन समाज पार्टी अध्यक्ष मायावती ने ट्वीट कर शिक्षक भर्ती घोटाले की सीबीआई जांच की मांग और दलितों का उत्पीड़न बढ़ने पर नाराजगी जताई। वहीं, एक अन्य ट्वीट में चीन व नेपाल के साथ सीमा विवाद पर भाजपा के साथ कांग्रेस को भी घेरा। मायावती ने लिखा कि उत्तर प्रदेश में 69 हजार शिक्षकों की भर्ती में धांधली व भ्रष्टाचार आदि की सीबीआइ जांच होनी चाहिए। वहीं, दूसरे ट्वीट में दलित उत्पीड़न पर आक्रोश जताया। उन्होंने लिखा, देश में कोरोना महामारी के इस संकटकाल में गरीब, श्रमिक वर्ग व मेहनतकश सरकारी अनदेखी व प्रताड़ना झेल रहे हैं। ऐसे समय में खासकर यूपी में दलितों की हत्या व उनका उत्पीडऩ गंभीर बात है। अमरोहा के डोमखेड़ा और बिजनौर के लाडनपुर गांव की घटनाएं निंदनीय है। पीड़ित परिवारों की सरकार मदद करे और दोषियों के खिलाफ सख्त कदम उठाए।

सीमा विवाद पर छोड़ें दलगत राजनीति : चीन और नेपाल से सीमा विवाद का मुद्दा उठाते हुए बसपा प्रमुख मायावती ने लिखा है कि यह दुर्भाग्य की बात है कि भाजपा व कांग्रेस घिनौनी राजनीति कर रहे हैैं। इनमें आरोप-प्रत्यारोप जारी है, जो कि उचित नहीं है। पड़ोसी देश नेपाल के साथ भी सीमा विवाद गंभीर रूप धारण कर रहा है। सभी को दलगत राजनीति से ऊपर उठकर देश हित में ही सोचना चाहिए। केंद्र सरकार को सबको विश्वास में लेना होगा।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

द्वारका में ट्रांसप्लांट किए गए 20 फीसद पेड़ सूखे, अन्य पर भी मंडरा रहा खतरा

जागरण संवाददाता, पश्चिमी दिल्ली : स्वच्छ पर्यावरण व विकास की गति के बीच बेहतर समन्वय बनाने के लिए पेड़ों को ट्रांसप्लांट करने...

नवरात्र में रेस्त्रां की स्पेशल नवरात्र थाली

जागरण संवाददाता, पश्चिमी दिल्ली : नवरात्र के दौरान व्रत के चलते खानपान को लेकर संयम बरतने वाले लोगों के लिए रेस्त्रां व...

KKR vs RCB IPL 2020 Live Updates: कोलकाता नाइट राइडर्स के 7 विकेट गिरे, 19 ओवर के बाद स्कोर 74/7

KKR vs RCB IPL 2020: आईपीएल में आज कोलकाता नाइटराइडर्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच मुकाबला होगा. यह मैच अबु धाबी के शेख जायद...

ऑक्सफर्ड कोरोना वैक्सीन पर अच्छी खबर, स्वतंत्र शोध में सभी मानदंडों पर उतरी खरी

लंदनकोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच दुनियाभर की निगाहें ऑक्सफर्ड-एस्ट्राजेनेका की कोरोना वायरस वैक्सीन पर टिकी हैं। एक दिन पहले ही खबर आई...

राम जी ले रहे स्वास्थ्य लाभ, सीता जी नौकरी पर

नेमिष हेमंत, नई दिल्ली वैश्विक महामारी कोरोना की असाधारण परिस्थितियों के कारण दिल्ली में पहली बार अधिकांश रामलीलाओं का मंचन नहीं हो रहा...

किसानों का विरोध प्रदर्शन हुआ तेज, 8 ट्रेनें कैंसल और दर्जनों डायवर्ट, देखें लिस्ट

नई दिल्लीपंजाब में किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। 1 अक्टूबर से प्रदर्शन कर रहे किसानों की तरफ से रेल रोको आंदोलन किया जा...