Home राज्यवार बिहार कंटेनमेंट जोन में थोड़ी सी चूक हुई तो भुगतने होंगे गंभीर परिणाम

कंटेनमेंट जोन में थोड़ी सी चूक हुई तो भुगतने होंगे गंभीर परिणाम

Publish Date:Wed, 10 Jun 2020 07:24 PM (IST)

बेतिया। नरकटियागंज में कोरोना संक्रमित तीन लोगों के मिलने के बाद प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अस्पताल के समीप वाले उस क्षेत्र को सील कर दिया है। उस क्षेत्र को बांस बल्ला लगाकर घेराबंदी भी कर दी गई। फिलहाल वहां के लोग अपनी सूझबूझ का परिचय दे रहे हैं तीसरे दिन भी कंटेनमेंट जोन में सुरक्षा व्यवस्था की कोई इंतजाम नहीं रहने से आसपास के लोगों में चिता बनी रही। प्रशासन द्वारा निर्देशित किया गया है कि कंटेनमेंट जोन में निवास कर रहे लोगों को आसपास से आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध हो जाएंगी। खुद जिस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन में बदला गया है उसमें अधिकांशत: दवा की दुकानें तथा क्लीनिक है। लेकिन इस बीच किसी ही व्यक्ति द्वारा बाहर निकलने की लापरवाही होती है संक्रमण के फैलाव को रोकना मुश्किल होगा। ऐसे में वहां सुरक्षा व्यवस्था भी होनी चाहिए। आसपास के लोग पुलिस कैंप नहीं होने से चितित महसूस कर रहे हैं। क्योंकि उस कंटेनमेंट जोन के सामने मुख्य पथ खुला हुआ है और वहां इक्का-दुक्का वाहन भी लग रहे हैं। आसपास वाहनों की पार्किंग की जा रही है। इसके साथ ही उसके आस-पास छोटे बड़े होटल भी संचालित हो रहे है। लेकिन प्रशासन का इस ओर ध्यान नहीं है। ऐसे में बड़ी आबादी का प्रतिदिन नगर में आना और कंटेनमेंट जोन से गुजरना हो रहा है। बता दें कि महामारी का फैलाव ना हो इसके लिए जिस क्षेत्र में मरीज मिल रहे हैं, उसे बाहरी संपर्क से अलग रहने के लिए सील कर दिया जा रहा है। ताकि उस क्षेत्र में लोगों का बाहर आवागमन पर रोक लग सके और संक्रमण का प्रसार ना हो। साथ ही उस क्षेत्र में सुरक्षा की पुरी व्यवस्था भी रखनी है। वही सभी प्रकार की गतिविधि पर रोक लगाई गई है। लेकिन नगर के अनुमंडल अस्पताल के समीप मिले कोरोना मरीज के मिलने के बाद प्रशासन ने उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन में तब्दील कर दिया। लेकिन लोगों को सुरक्षा व्यवस्था तीसरे दिन भी कहीं नजर नहीं आई। पुलिस बल के तैनात नहीं रहने से लोग इधर उधर भ्रमण करते भी नजर आए। इससे लोगों में तरह तरह की चर्चा है। कुछ लोगों का कहना है कि जब इस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है तो यहां पूरी सुरक्षा का इंतजाम होनी चाहिए। ताकि लोगों के बाहरी संपर्क पर रोक लगाई जा सके। उस क्षेत्र की कोई दुकान नहीं खुले। कुछ लोगों का कहना है कि जब प्रशासन उस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन में घोषित कर दिया गया है तो हमें भी उस क्षेत्र में जाने से परहेज करना चाहिए। वहां से भी किसी व्यक्ति को बाहर नहीं आनी चाहिए। तब जाकर संक्रमण के प्रसार को रोकने में मदद मिलेगा।

इनसेट

बाहर से किसी व्यक्ति को उस क्षेत्र में जाने अथवा क्षेत्र से बाहर निकलने की मनाही है कंटेनमेंट जून के लोगों को सावधानीपूर्वक इसका अनुपालन करने की अपील की गई है।

चंदन चौहान

एसडीओ

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

उप्र: दुष्कर्म पीड़िता की आत्महत्या के बाद 2 पुलिसकर्मी निलंबित – आईएएनएस न्यूज़

लखनऊ, 15 अक्टूबर (आईएएनएस) उत्तर प्रदेश के चित्रकूट में एसएचओ सहित दो पुलिसकर्मियों को नाबालिग दलित लड़की के साथ दुष्कर्म के मामले में त्वरित...

UNHRC में चीन, रूस और क्यूबा की जीत से अमेरिका नाराज, दिया यह बयान

वॉशिंगटन: चीन, रूस और क्यूबा (China, Russia and Cuba) के संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (United Nations Human Rights Council-UNHRC) की सदस्यता हासिल करने पर...

Coronavirus In India: भारत में कंट्रोल में आ रहा कोरोना! नए केसों के साथ मौतों में भी बड़ी गिरावट

हाइलाइट्स:भारत में कोरोना का कहर कम होता दिख रहा हैअक्टूबर के पहले पखवाड़े में नए मामलों में 18% की गिरावट कोरोना से होने वाली...