Home राज्यवार दिल्ली चीन को सबक सिखाने एकजुट हुए व्यापारी, सह लेंगे नुकसान लेकिन लेंगे...

चीन को सबक सिखाने एकजुट हुए व्यापारी, सह लेंगे नुकसान लेकिन लेंगे बदला

चीन द्वारा भारतीय सैनिकों पर हमले (India-China clash)से व्यापारी काफी आक्रोश में हैं। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने सरकार से चीनी कम्पनियों को दिए टेंडर वापिस लेने का आग्रह किया है। इसके अलावा चीनी वस्तुओं का विज्ञापन करने वाले फिल्मी सितारों से भी यह न करने की अपील की है।

Edited By Shashank Jha | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

नई दिल्ली

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने चीनी सेना द्वारा भारतीय सैनिकों पर हमले की निंदा करते हुए कहा कि भारत के व्यापारी लद्दाख में एलएसी के ताजा घटनाक्रम से काफी आक्रोशित और गुस्से में है। उन्होंने चीनी उत्पादों का बहिष्कार और भारतीय वस्तुओं को बढ़ावा देने वाले राष्ट्रीय अभियान को और अधिक तेज करने का फैसला किया है। कैट ने सरकार से चीनी कम्पनियों को दिए गए ठेकों को तुरंत रद्द करने और भारतीय स्टार्टअप में चीनी कंपनियों द्वारा निवेश को वापस करने के नियमों को बनाने जैसे कुछ तत्काल कदम उठाने का भी आग्रह किया है, ताकि भारतीय सैनिकों के खिलाफ चीन के अनैतिक और बर्बरतापूर्ण व्यवहार के लिए कड़ा जवाब दिया जा सके।

चीन को सबक सिखाने एकजुट हुए व्यापारी

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि हाल के घटनाक्रमों और भारत के प्रति चीन के लगातार रवैये के मद्देनजर, भारतीय व्यापारियों ने संकल्प लिया है चीनी आयात को कम करके चीन को एक बड़ा सबक सिखाएं और कैट द्वारा दिसम्बर निर्धारित एक लाख करोड़ के लक्ष्य को हासिल करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। भले ही व्यापारियों का व्यापार चीन से आयात हो रहा है, लेकिन फिर भी उनके लिए राष्ट्रीय हित से पहले कुछ नहीं होगा और उन्होंने आंदोलन के साथ एकजुटता से खड़े होने का फैसला किया है।

1.3 करोड़ किसानों को योजना का लाभ नहीं

  • 1.3 करोड़ किसानों को योजना का लाभ नहीं

    वर्तमान में देश में करीब 1.3 करोड़ ऐसे किसान हैं, जिन्होंने पीएम किसान स्कीम के लिए आवेदन तो कर दिया है, इसके बावजूद किसी गड़बड़ी के कारण उन्हें इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। पीएम किसान की राशि डीबीटी के माध्यम से सीधे अकाउंट में ट्रांसफर किया जाता है।

  • बैंक अकाउंट के साथ आधार लिंक जरूरी

    अगर बैंक अकाउंट और आधार में नाम अलग-अलग है तो भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। यह भी संभव है कि आधार में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और बैंक में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर अलग-अलग हों, इससे आपको बैंक अकाउंट का अपडेट नहीं मिल पाता है। इसके अलावा अगर आपका बैंक अकाउंट आधार से लिंक नहीं है तब भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।

  • ऐप्लिकेशन फॉर्म और आधार में एक नाम जरूरी

    पीएम किसान के ऐप्लिकेशन फॉर्म में मुख्य रूप से मोबाइल नंबर, आधार और बैंक अकाउंट डीटेल भरना होता है। योजना का लाभ उठाने के लिए आधार वेरिफिकेशन जरूरी है। आधार वेरिफिकेशन के लिए अपडेटेड मोबाइल नंबर होना जरूरी है। अगर ऐप्लिकेशन फॉर्म और आधार में अलग-अलग नाम है तब भी इसे बदलना होगा। इस काम को आसानी से (https://pmkisan.gov.in/BeneficiaryStatus.aspx) यहां किया जा सकता है। इस बात का ध्यान रखें कि ऐप्लिकेशन फॉर्म का नाम आधार के मुताबिक हो।

  • आधार और बैंक अकाउंट में एक नाम जरूरी

    अगर आपका बैंक अकाउंट आधार से लिंक नहीं है, तब भी योजना का लाभ नहीं मिलेगा। ऐसे में अकाउंट को आधार से लिंक करना जरूरी है। अगर बैंक अकाउंट और आधार में भी अलग-अलग नाम है, तब भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। ऐसे में ओरिजिनल आधार लेकर बैंक अकाउंट में नाम बदलवाना जरूरी है।

चीनी कंपनियों के कॉन्ट्रैक्ट को रद्द करने की अपील

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री बीसी भरतिया ने सरकार से चीन पर एक मजबूत स्थिति बनाने का आग्रह किया है और चीनी कंपनियों को दिए गए सभी सरकारी अनुबंधों को तुरंत रद्द कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीनों से चीनी कंपनियां विभिन्न सरकारी अनुबंधों में बहुत कम दरों पर बोली लगा रही हैं और इस तरह से वे कई सरकारी परियोजना निविदाओं को प्राप्त करने में सफल हुई हैं। बीसी भरतिया ने कहा कि सरकार को लागत में मामूली अंतर होने के बावजूद भारतीय कंपनियों को यह अनुबंध देने चाहिए।



टेक स्टार्टअप में चीनी कंपनियों का प्रभुत्व खत्म किया जाए


भरतिया और खंडेलवाल ने भारतीय तकनीकी स्टार्टअप में चीनी निवेश के तेजी से विकास पर भी प्रकाश डालते हुए कहा कि टेक स्टार्ट सेगमेंट में चीनी प्रभुत्व को खत्म करने की तत्काल आवश्यकता है। पेटीएम, बिग बास्केट, मिल्क बास्केट, फ्लिपकार्ट, स्विगी जैसे कई भारतीय स्टार्टअप में चीन की कम्पनियों ने पैसा लगाया है।

क्या लिखा है मैसेज में?

  • क्या लिखा है मैसेज में?

    मोदी सरकार की तरफ से भेजे गए मैसेज में लिखा है- ‘प्रिय किसान, अब आप अपने आवेदन की स्थिति PM-KISAN की हेल्पलाइन नंबर 011-24300606 पर कॉल करके जान सकते हैं।’ यानी अब अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से बहुत ही आसानी से आप आवेदन के बारे में जान सकते हैं।

  • क्या बोले पीएम किसान स्कीम के सीईओ

    पीएम-किसान स्कीम के सीईओ विवेक अग्रवाल ने कहा कि अगस्त से इस स्कीम की छठी किश्त भेजी जाएगी। उन्होंने ये भी बताया कि अब तक 9.54 करोड़ लोगों को इसका लाभ मिल चुका है। बता दें कि इस स्कीम के तहत मोदी सरकार तीन किश्तों में किसानों को हर साल 6000 रुपए का लाभ देती है।

  • कुछ किसान अभी भी परेशान

    देश में करीब 1.3 करोड़ किसान ऐसे हैं, जिन्होंने आवेदन तो किया है, लेकिन इस स्कीम के तहत उन्हें पैसा नहीं मिल सका है। इसकी वजह ये है कि या तो उनका आधार नहीं लगा है या फिर आधार और बैंक खाते में मोबाइल नंबर गलत है।

  • इस नंबर पर कर सकते हैं शिकायत

    अब मोदी सरकार ने जो नंबर 011-24300606 जारी किया है, उस पर सीधे संपर्क कर के अपनी दिक्कत बता सकते हैं। अगर कोई अधिकारी किसी तरह की लापरवाही कर रहा है, तो उसकी शिकायत भी इस नंबर पर की जा सकती है।

  • पहले से चल रहे हैं कुछ हेल्पलाइन नंबर

    पीएम किसान टोल फ्री नंबर- 18001155266पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर-155261पीएम किसान लैंडलाइन नंबर्स-: 011—23381092, 23382401पीएम किसान हेल्पलाइन- 0120-6025109ई-मेल आईडी- [email protected]

खुदरा बाजारों पर कब्जा की कोशिश

यह पूरी तरह से भारतीय खुदरा बाजारों पर कब्जा करने के लिए चीन के एक भयावह डिजाइन के अलावा कुछ नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार को चीनी निवेश पर प्रतिबंध लगाने के लिए नियमों को लाना चाहिए और साथ ही इन तकनीकी दिग्गजों को चीनी निवेश वापस लेने की सलाह भी देनी चाहिए।

फिल्मी सितारे बंद करें विज्ञापन

भरतिया और खंडेलवाल ने भारतीय फिल्म स्टारों और क्रिकेट स्टारों द्वारा चीनी ब्रांडों के बड़े पैमाने पर विज्ञापन करने पर भी गंभीर चिंता जताई। उन्होंने दीपिका पादुकोण, आमिर खान, विराट कोहली, रणवीर सिंह , सारा अली खान , रणवीर कपूर , विकी कौशल से अपील की कि वे चीन के मोबाइल ब्रांड का विज्ञापन बंद करें।

Web Title cait said businessmen are united to boycott chinese products to give china a lesson(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

शालिनी पांडे बॉलीवुड में फिल्म ‘जयेशभाई जोरदार’ से करने जा रही हैं डेब्यू, रणवीर सिंह संग करेंगी रोमांस

बॉलीवुड में रणवीर सिंह के साथ अपनी शुरुआत करने के लिए शालिनी पांडेय पूरी तरह से तैयार हैं. तेलुगु...

नाइजीरिया में सरकार का बड़ा फैसला, बलात्‍कारी बनाए जाएंगे नपुंसक, मौत की सजा

हाइलाइट्स:बलात्‍कार की बढ़ती घटनाओं से जूझ रहे नाइजीरिया में कदूना प्रांत की सरकार ने बड़ा फैसला कियाअब राज्‍य में बलात्‍कारियों को सर्जरी करके नपुंसक...

शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड को हुआ कोरोना

Another minister in Maharashtra has tested positive for the coronavirus. Maharashtra School Education Minister Varsha Gaikwad on Tuesday informed that she has tested positive...

मुंबई फिल्म इंडस्ट्री को टक्कर, यहां बनने जा रही है देश की सबसे खूबसूरत फिल्म सिटी

लखनऊ: देश- दुनिया में सबसे बड़े हिंदी फिल्मोद्योग के रूप में प्रसिद्ध मुंबई से यह तमगा भविष्य में छिन सकता है. यूपी ने अब...

कोरोना का ग्राफ तय करेगा यूपी, बिहार समेत इन राज्यों में कब खुलेंगे स्कूल?

कोरोना संकट के बीच 5 महीने से भी ज्यादा समय के बाद सोमवार से कई राज्यों में स्कूल दोबारा खुल गए। 9वीं से 12वीं...

दिल्ली में वायु प्रदूषण पर लगाम के लिए अभी से शुरू हुई तैयारी

नई दिल्ली । सर्दियों में यहां की हवा साफ रहे इसके लिए दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए...