Home राज्यवार दिल्ली दवाई या वैक्सीन नहीं, कोरोना का इस तरीके से भी हो सकता...

दवाई या वैक्सीन नहीं, कोरोना का इस तरीके से भी हो सकता है इलाज! एम्स ने शुरू की रिसर्च

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Thu, 18 Jun 2020 03:38 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने रेडिएशन थेरेपी के जरिये कोरोना मरीज में न्यूमोनिया के प्रभाव को कम करने के लिए एक शोध शुरू किया है। इससे कोरोना मरीजों के इलाज में मदद मिलेगी।

एम्स के रेडिएशन ऑन्कोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड और इस रिसर्च प्रोजेक्ट के प्रिंसिपल इन्वेस्टिगेटर डॉक्टर डीएन शर्मा ने बताया कि शनिवार को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखे गए दो कोरोना मरीजों को रेडिएशन थेरेपी दी गई थी। डॉक्टर शर्मा ने बताया कि इन दोनों कोरोना मरीजों की उम्र 50 वर्ष से अधिक है। इन कोरोना मरीजों को पहले ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जा रहा था, लेकिन अब ऑक्सीजन सपोर्ट हटा लिया गया है।

उन्होंने बताया कि आमतौर पर कैंसर के इलाज के लिए रेडिएशन थेरेपी की हाई डोज दी जाती है, लेकिन इन कोरोना मरीजों को लो डोज रेडिएशन थेरेपी दी गई। डॉक्टर शर्मा ने बताया कि इन कोरोना मरीजों पर रेडिएशन थेरेपी का कोई नकारात्मक प्रभाव भी नहीं हुआ। डॉक्टर शर्मा के मुताबिक, जब एंटीबायोटिक नहीं उपलब्ध थी, तब 1940 के दशक तक न्यूमोनिया के इलाज में रेडिएशन थेरेपी का ही इस्तेमाल किया जाता था। उन्होंने बताया कि पायलट प्रोजेक्ट के तहत और 8 कोरोना मरीजों का रेडिएशन थेरेपी से इलाज किया जाएगा। इसके बाद जो नतीजे आएंगे, उसका विश्लेषण किया जाएगा।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने रेडिएशन थेरेपी के जरिये कोरोना मरीज में न्यूमोनिया के प्रभाव को कम करने के लिए एक शोध शुरू किया है। इससे कोरोना मरीजों के इलाज में मदद मिलेगी।

एम्स के रेडिएशन ऑन्कोलॉजी डिपार्टमेंट के हेड और इस रिसर्च प्रोजेक्ट के प्रिंसिपल इन्वेस्टिगेटर डॉक्टर डीएन शर्मा ने बताया कि शनिवार को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखे गए दो कोरोना मरीजों को रेडिएशन थेरेपी दी गई थी। डॉक्टर शर्मा ने बताया कि इन दोनों कोरोना मरीजों की उम्र 50 वर्ष से अधिक है। इन कोरोना मरीजों को पहले ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जा रहा था, लेकिन अब ऑक्सीजन सपोर्ट हटा लिया गया है।

उन्होंने बताया कि आमतौर पर कैंसर के इलाज के लिए रेडिएशन थेरेपी की हाई डोज दी जाती है, लेकिन इन कोरोना मरीजों को लो डोज रेडिएशन थेरेपी दी गई। डॉक्टर शर्मा ने बताया कि इन कोरोना मरीजों पर रेडिएशन थेरेपी का कोई नकारात्मक प्रभाव भी नहीं हुआ। डॉक्टर शर्मा के मुताबिक, जब एंटीबायोटिक नहीं उपलब्ध थी, तब 1940 के दशक तक न्यूमोनिया के इलाज में रेडिएशन थेरेपी का ही इस्तेमाल किया जाता था। उन्होंने बताया कि पायलट प्रोजेक्ट के तहत और 8 कोरोना मरीजों का रेडिएशन थेरेपी से इलाज किया जाएगा। इसके बाद जो नतीजे आएंगे, उसका विश्लेषण किया जाएगा।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

ये हैं 10,000 रुपये के बजट में मिलने वाले टॉप 5 गेमिंग स्मार्टफोन, यहां देखें पूरी लिस्ट

नई दिल्ली, टेक डेस्क। स्मार्टफोन का इस्तेमाल केवल कॉलिंग, मैसेजिंग और इंटरनेट सर्फिंग के लिए नहीं किया जाता। बल्कि आजकल लोगों के बीच...

IPL 2020: जसप्रीत बुमराह ने 1 ही ओवर में समेटे दो धांसू बैट्समैन, ऐसे की फॉर्म में वापसी-VIDEO

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के सबसे सफल कप्तान रोहित शर्मा की अपने पसंदीदा पुल शॉट से सजी लाजवाब पारी के बाद गेंदबाजों के...

महाराष्ट्र में कोविड-19 के 15,738 नए मामले सामने आए, 344 मरीजों की मौत

डिसक्लेमर:यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।भाषा | Updated: 21 Sep 2020,...

IPL में खड़ा हुआ नया विवाद, अंपायर के गलत फैसले पर गुस्साई प्रीति जिंटा, बोलीं- ‘हर साल…’

IPL 2020 DC Vs KXIP: अंपायर के गलत फैसले पर गुस्साई प्रीति जिंटा, बोलीं- 'हर साल यही होता है...'IPL 2020 DC Vs KXIP: आईपीएल...

bihar legislative assembly election 2020 bihar vidhan sabha chunav complete schedule – इस बार वर्चुअल चुनाव प्रचार होगा। बड़ी- बड़ी जनसभाएं नहीं की जा सकेंगीः चुनाव आयोग | Navbharat Times

Fri, 25 Sep 2020 12:55:26 (IST)इस बार वर्चुअल चुनाव प्रचार होगा। बड़ी- बड़ी जनसभाएं नहीं की जा सकेंगीः चुनाव आयोगFri, 25 Sep 2020...

रिलायंस रिटेल को मिला दूसरा बड़ा निवेशक, केकेआर करेगी 5550 करोड़ रुपयों को निवेश

नई दिल्लीरिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की खुदरा कारोबार करने वाली कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर्स ने घोषणा की है कि ग्लोबल इन्वेस्टमेंट फर्म केकेआर उसमें...