Home राज्यवार उत्तर प्रदेश Fight Against COVID-19 in UP: CM योगी आदित्यनाथ का निर्देश-महीने के अंत...

Fight Against COVID-19 in UP: CM योगी आदित्यनाथ का निर्देश-महीने के अंत तक डेढ़ लाख करें कोविड बेड

Publish Date:Thu, 18 Jun 2020 03:10 PM (IST)

लखनऊ, जेएनएन। Fight Against COVID-19 in UP: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार पर अंकुश लगाने के प्रयास में लगे सीएम योगी आदित्यनाथ ने चिकित्सा सुविधा भी मुस्तैद करने का निर्देश दिया है। टीम-11 के साथ समीक्षा बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने जून महीने के अंत पर प्रदेश में डेढ़ लाख कोविड बेड का इंतजाम करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही प्रदेश में हर रोज सैंपल टेस्ट की संख्या 15 हजार से बढ़कर रोज 20 हजार करने को कहा है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को टीम 11 के साथ कोरोना वायरस को लेकर समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने टीम 11 की बैठक में अफसरों को जून के अंत तक कोविड अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाकर डेढ़ लाख करने का निर्देश दिया। इनमें सरकारी अस्पतालों की संख्या अधिक है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 20 जून तक टेस्टिंग क्षमता बढ़ाकर 20 हजार टेस्टिंग प्रतिदिन करने का प्रयास करें। प्रदेश में अभी कोरोना वायरस के दस से 15 हजार टेस्ट रोज होते हैं। कोरोना संक्रमण के प्रसार की सटीक जानकारी के लिए रेंडम टेस्टिंग कराएं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया कि कंटेनमेंट जोन में पूरी सख्ती बरतते हुए अनिवार्य रूप से सुनिश्चित करें कि लोगों को आवश्यक सुविधाओं की प्राप्ति में कोई असुविधा ना हो। उन्होंने कहा कि शहर के साथ ही गांव में भी पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम के माध्यम से लोगों को जागरूक करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को इस महामारी से जागरूक करने के लिए पुलिस पीआरवी 112 व प्रशासनिक मजिस्ट्रेट के वाहन का प्रयोग करें। सभी जिलों में कोविड-19 की व्यवस्थाओं की जानकारी लें। उन्होंने कहा कि शासन की तरफ से विशेष सचिव स्तर के अधिकारी को जानकारी लेने के लिए नामित करें। उन्होंने प्रदेश में सभी जगह पर जिलाधिकारी को ओल्ड एज होम, बालगृह, महिला संरक्षण गृह में लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने के निर्देश दिए हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी जगह चिकित्सालयों में कोविड हेल्प डेस्क बनाने के निर्देश देने के साथ कहा कि कोविड-19 डेस्क के माध्यम से लोगों को उपचार और बचाव की जानकारी दी जाए। इस काम के लिए ग्रामीण व शहरी इलाकों में 70000 निगरानी समितियों को सॢवलांस कार्य में लगाया गया है। इसके साथ 20 जून से प्रारंभ हो रहे खाद्यान्न वितरण अभियान की व्यवस्थाएं पूरी करें और मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी अपने जिलों के गौ-आश्रय स्थलों का नियमित निरीक्षण करें। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

बिहार में कोरोना विस्फोट, एक ही दिन में रिकॉर्ड 394 संक्रमित मिले, कुल मरीज बढ़कर 9618

बिहार में कोरोना विस्फोट, एक ही दिन में 34 जिलों में रिकॉर्ड 394 संक्रमित मिले। उसमें भी पटना में रिकॉर्ड 109 संक्रमित मिले।...

होंडा WR-V फेसलिफ्ट लॉन्च, 8.50 लाख से 10.99 लाख रुपए तक है कीमत; व्हाइट कलर के लिए देना होगा एक्स्ट्रा चार्ज

SV के पेट्रोल मॉडल की कीमत 8.50 लाख रु. और डीजल की कीमत 9.80 लाख रु. हैVX के पेट्रोल मॉडल की कीमत 9.70 लाख...

अब शेखर कपूर से भी पूछताछ करेगी मुम्बई पुलिस, सुशांत को लेकर फिल्म पानी बनाने वाले थे

मुंबई पुलिस डायरेक्टर शेखर कपूर से पूछताछ के लिए समन भेजेगी2013 में पानी का प्रोजेक्ट अटक गया था, इससे सुशांत डिस्टर्ब थे दैनिक भास्करJun 30,...