Home राज्यवार बिहार नवजोत सिद्धू ने पांच दिन बाद भी नहीं लिया कोर्ट समन, बिहार...

नवजोत सिद्धू ने पांच दिन बाद भी नहीं लिया कोर्ट समन, बिहार पुलिस की टीम कोठी के बाहर डटी

Publish Date:Mon, 22 Jun 2020 07:57 AM (IST)

अमृतसर, जेएनएन। पूर्व क्रिकेटर व पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने पांचवे दिन भी बिहार की अदालत का समन रिसीव नहीं किया। समन लेकर आई बिहार पुलिस टीम पांच दिन से सिद्धू को समन देने के लिए उनकी कोठी के चक्‍कर लगा रही है, लेनिक वह नहीं मिल रही है। बिहार के कटिहार जिले की पुलिस टीम ने अब अमृतसर में डेरा डाल दिया है। टीम के सदस्‍याें का कहना है कि अ‍ब सिद्धू को समन देने के बाद ही लाैटेंगे। अब टीम कोे बताया गया है कि सिद्धू अभी बाहर हैं और साेमवार को आएंगे।

रविवार को भी कटिहार पुलिस की टीम सुबह से लेकर देर रात तक सिद्धू की कोठी के चक्कर काटती रही। कटिहार पुलिस टीम में शामिल सब इंस्पेक्टर जनार्दन प्रसाद और जावेद अहमद ने बताया कि पांचवें दिन भी पूर्व मंत्री के आवास से उन्हें कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। आफिस अटेंडेंट ने सिर्फ इतना कहा कि सोमवार को पूर्व मंत्री के आने की संभावना है। उम्मीद है कि सोमवार को वह सिद्धू को नोटिस तामील करवा देंगे।

2019 के लोकसभा चुनाव में सिद्धू जनसभा में किया था आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल

बिहार पुलिस टीम के सदस्‍यों ने बताया कि बिहार पुलिस के आला अधिकारियों ने भी आदेश दिए हैं कि वह सिद्धू को नोटिस रिसीव करवाकर ही लौटें। दोनों पुलिस मुलाजिमों ने बताया कि कोरोना काल में वे यहां होटल में रह रहे हैं और कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए खास सावधानी भी बरत रहे हैं।

पिछले वर्ष भी बैरंग लौटी थी बिहार पुलिस

बता दें कि लोकसभा चुनाव के समय 16 अप्रैल 2019 को बिहार के कटिहार जिला के वरसोई थानाक्षेत्र में नवजोत सिंह सिद्धू को एक सभा को संबोधन के लिए बुलाया गया था। सिद्धू ने कांग्रेस प्रत्याशी व पूर्व सांसद तारिक अनवर के पक्ष में आयोजित चुनावी सभा में पहुंचे थे। आरोप है कि सिद्धू ने सभा में आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था।   

बताया जाता है  चुनावी सभा में सिद्धू ने एक समुदाय विशेष को उकसाने वाली बातें कही थीं। इस पर देशभर में विवाद पैदा हो गया था और नवजाेत सिंह सिद्धू विरोधी नेताओं के निशाने पर आ गए थे। यहां तक कि कांग्रेस उम्‍मीदवार तारिक अनवर ने भी उनके बयान से सहमति जताई थी। इसके बाद चुनाव पर्यवेक्षक की शिकायत पर सिद्धू के खिलाफ चुनाव आचार संहिता के उल्‍लंघन के आरोप में क‍टिहार के वरसोई पुलिस थाना में केस दर्ज किया था। हालांकि केस में सभी धाराएं जमानत योग्य हैं।

सिद्धू से पूछताछ करने व बयान कलमबद्ध करने के लिए पिछले साल दिसंबर में भी बिहार पुलिस आई थी लेकिन तब भी उसे बैरंग लौटना पड़ा था। अब फिर सिद्धू कोर्ट का समन नह‍ीं ले रहे हैं। बताया जाता है कि समन नहीं लेने पर सिद्धू के लिए मुश्किल खड़ी हाे सकती है।

यह भी पढ़ें: कुरुक्षेत्र में सूर्यग्रहण का दिखा अनोखा नजारा, कंगन सा नजर आया सूर्य, ब्रह्म सरोवर पर अनुष्‍ठान

यह भी पढ़ें: नवजोत सिद्धू के घर पहु्ंची बिहार पुलिस की टीम, चार दिन से नहीं मिल रहे, नहीं ले रहे समन

 

यह भी पढ़ें: यादों में रह गई बातें: ‘हौसले’ की बात करते-करते ‘हौसला’ तोड़ बैठे सुशांत राजपूत

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

बलात्कार की घटना में शामिल बस चालक का आत्मसमर्पण

नोएडा, 30 जून (भाषा) उत्तर प्रदेश के जनपद प्रतापगढ़ से बस में सवार होकर नोएडा आ रही महिला के साथ 17 जून को चलती...

आठ हेल्थ वर्कर समेत 25 नए कोरोना पॉजिटिव मिले, कोरोना को मात देकर 19 डिस्चार्ज भी हुए

जिले में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 1063 तक पहुंच गई हैसंक्रमित मिले मरीजों को कोविड अस्पतालों में भर्ती कर इलाज शुरू किया...

सोपोर में बच्चे को कैसे बचाया, एसएचओ अजीम खान ने बताया पूरा घटनाक्रम

sopore encounter 3 year old baby: सोपोर में अपने नाना के शव पर बैठकर रो रहे बच्चे को सुरक्षाबलों ने सुरक्षित बचाकर उसके घर...

Food To Avoid In Diabetic: डायबिटीज से परेशान लोगों को इन 4 चीजों से आज ही बना देनी चाहिए दूरी, कंट्रोल में रहेगा शुगर लेवल!

Food To Avoid In Diabetes: डायबिटीज में इन 4 फूड्स को खाने से बचना चाहिए!खास बातेंडायबिटीज में इन 4 चीजों को खाने से बचना...

बिहार सरकार ने लॉन्च किया Indravajra एप, बिजली गिरने से 45 मिनट पहले ही मिल जाएगा अलर्ट

टेक डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sat, 04 Jul 2020 11:17 AM IST पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly subscription for just ₹249...

पशु क्रूरताः बंदरों के झुंड को सबक सिखाने के लिए जिंदा बंदर को फांसी के फंदे से लटकाया

Edited By Shashi Mishra | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated: 29 Jun 2020, 02:54:00 PM IST बंदर (फाइल फोटो)हाइलाइट्सतेलंगाना के खम्ममम जिले...