Home राज्यवार झारखण्ड गरीब दंपती को नहीं मिल सका पीएम आवास

गरीब दंपती को नहीं मिल सका पीएम आवास

Publish Date:Mon, 22 Jun 2020 11:00 AM (IST)

सियाटांड़ (गिरिडीह): पदाधिकारियों द्वारा कागजी प्रक्रिया में हर गरीब तक सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने का दावा भले ही किया जाता हो लेकिन ठीक इसके विपरीत जमुआ पूर्वी के चिलगा पंचायत अंतर्गत चिलगा गांव के बुजुर्ग दंपती को प्रधानमंत्री आवास का लाभ नहीं मिल पा रहा है। आवास के लिए ये दंपती पंचायत से लेकर प्रखंड का चक्कर लगा रहे हैं लेकिन इनकी सुध लेनेवाला कोई नहीं है। उसे केवल आश्वासन ही दिया जा रहा है। चिलगा के रीतलाल विश्वकर्मा (73) और उनकी पत्नी शांति देवी (64) निसंतान दंपती हैं। ये दोनों खपरैल के कच्चे मकान में रहते हैं। समय के साथ यह कच्चा मकान भी जर्जर हो चुका है। शांति देवी ने एक वर्ष पूर्व प्रधानमंत्री आवास के लिए आवेदन किया था। इनका नाम भी आवास योजना के क्रम संख्या 289 व आईडी संख्या जेएच-2740082 में दर्ज है लेकिन अभी तक एक भी किस्त नहीं मिली है। आवास योजना का लाभ लेने के लिए जमुआ के बीडीओ को आवेदन भी सौंपा गया है, इसके बावजूद इन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। एक वर्ष पूर्व बरसात के मौसम में इनके मकान का एक हिस्सा पानी से टूटकर गिर गया था। उस समय भी सरकारी स्तर पर इन्हें कोई सुविधा नहीं दी गई। इनकी दयनीय स्थिति को देखकर गणेश राणा उर्फ छोटू के सहयोग से गांव के लोगों ने चंदा इकट्ठा कर कच्चे मकान को दुरुस्त करवाया था।

-शांति देवी कहतीं हैं कि वह गरीब हैं और उसका कोई सहारा नहीं है इस कारण उसका काम नहीं हो रहा है। जब मखिया हनीफ अंसारी के पास गई और उनसे पूछा कि गांव के बाकी लोगों के आवास का पैसा आ गया मेरा क्यों नहीं आया तो उन्होंने कहा कि आपका नंबर अभी नहीं आया है।

रीतलाल विश्वकर्मा ने बताया कि मुखिया ने कहा कि आप आवास के लिए ईट गिरा लीजिए आपके आवास का पैसा आपके खाते में जल्द आ जाएगा। मुखिया के कहने पर कर्ज लेकर ईंट गिरा दिया गया, लेकिन अभी तक आवास का पैसा नहीं पहुंचा है। मुखिया हनीफ अंसारी ने कहा कि उन्होंने अपने स्तर से सारी कागजी प्रक्रिया पूरी कर डीओ को कागज सौंप दिया है, ताकि शांति देवी का आवास बन सके। प्रक्रिया पूरी करने के बावजूद अभी तक इनका आवास नहीं बन पाया है। ऐसे में वे क्या कर सकते हैं।

बीडीओ बिनोद कुमार कर्मकार ने कहा कि देख लेते हैं। अगर ग्राम सभा का रजिस्टर प्राप्त हुआ होगा तो इनको सबसे पहले आवास उपलब्ध करवा दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

सड़क के लिए तरस रही एक हजार की आबादी

Publish Date:Sun, 12 Jul 2020 11:00 AM (IST) संदीप बरनवाल, गावां (गिरिडीह): गावां प्रखंड अंतर्गत नगवां पंचायत के ककमारी गांव में करीब 100 घर हैं।...

सीबीएसई ने जारी किया 12वीं का परिणाम, बिहार में सरकारी स्कूलों का उम्दा प्रदर्शन

दिल्ली/पटना: सीबीएसई (केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड) ने सोमवार को 12वीं का रिजल्ट घोषित कर दिया है. बिहार में छात्रों का प्रदर्शन उम्दा है लेकिन...

लॉकडाउन में हुई बीएस-4 वाहनों की बिक्री की समीक्षा करेगा सुप्रीम कोर्ट

प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : पीटीआई पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200 ख़बर सुनें ख़बर...

फिर लगे लॉकडाउन में हो रहे बोर? नो प्रॉब्‍लम- राजधानी की इन विरासतों का करिए वर्चुअल दीदार

पटना, जेएनएन। कोरोना संक्रमण व उसके कारण एक बार फिर जगह-जगह लॉकडाउन ने लोगों को घरों तक सिमटने पर मजबूर कर दिया है।...

घरों में बर्तन धोने वाली मां का बेटा गौरव बना जिला टॉपर, इंजीनियर बन रोशन करना चाहता है मां-बाप का नाम

अमर उजाला नेटवर्क, गुरुग्राम Updated Sat, 11 Jul 2020 06:05 PM IST हरियाणा दसवीं बोर्ड परीक्षा में गुरुग्राम जिले में टॉप करने वाला गौरव अपने परिवार...