Home कोरोना वायरस दिल्‍ली में कोरोना पर कैसे होगा कंट्रोल, अमित शाह ने समझा दिया...

दिल्‍ली में कोरोना पर कैसे होगा कंट्रोल, अमित शाह ने समझा दिया पूरा प्‍लान

Edited By Deepak Verma | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

दिल्ली: निजी अस्पतालों में कोविड-19 के इलाज के लिए अधिकतम शुल्क तय

नई दिल्‍ली

देश की राजधानी में कोरोना वायरस को कंट्रोल करने का जिम्‍मा गृह मंत्री अमित शाह ने अपने सिर ले लिया है। वह लगातार दिल्‍ली सरकार और अधिकारियों संग मीटिंग कर उन्‍हें निर्देश दे रहे हैं। सारे कंटेनमेंट जोन को फिर से तय किया जाएगा। जोन के बाहर वाले घरों की भी जांच होगी। दिल्‍ली के 20 हजार लोगों के बीच सीरोलॉजिकल सर्वे होगा ताकि ये पता चल सके कि संक्रमण किस हद तक घर कर चुका है। इसके अलावा, दिल्‍ली में कोरोना से होने वाली हर मौत पर एक डिटेल्‍ड रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेजनी होगी। रविवार को नॉर्थ ब्‍लॉक में दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल संग बैठक में शाह ने यह निर्देश दिए। मीटिंग में उपराज्‍यपाल अनिल बैजल और डिप्‍टी सीएम मनीष सिसोदिया भी मौजूद थे।

दिल्‍ली के हर एक डेटा पर होगी केंद्र की नजर

केंद्र सरकार ने बहुत करीब से दिल्‍ली को मॉनिटर करने का प्‍लान बनाया है। नीति आयोग के सदस्‍य डॉ. वी के पॉल के अगुवाई वाली एक कमिटी ने शाह को अपनी रिपोर्ट सौंपी थी। उसकी रिपोर्ट को पेश करते हुए, मीटिंग में दिल्‍ली सरकार को नए निर्देश दिए गए। दिल्‍ली सरकार हर कोविड-19 मौत की जांच करेगी और यह पता करेगी कि मरीज अस्‍पताल कब और कहां से पहुंचा। अगर मरीज पहले होम आइसोलेशन में था तो क्‍या उसे वक्‍त रहते अस्‍पताल पहुंचाया गया, ये बड़ा अहम सवाल होगा। गृह मंत्रालय ने एक बयान में का है कि हर मौत की सूचना केंद्र को दी जानी चाहिए।

देश-दुनिया से कोरोना की लेटेस्‍ट अपडेट

फिर से तय होंगे कंटेनमेंट जोन

गृह मंत्री ने कहा है कि सारे पॉजिटिव केसेज सीधे कोविड सेंटर्स जाने चाहिए। इसके बाद ही, अगर किसी के पास प्रॉपर अरेंजमेंट्स हैं और उसे कोई और दिक्‍कत नहीं है तो होम आइसोलेशन की इजाजत दी जा सकती है। दिल्‍ली में कितने लोग अभी होम आइसोलेशन में हैं, केंद्र ने इसकी जानकारी मांगी है। इससे नए कंटेनमेंट जोन तय करने में भी मदद मिलेगी। दिल्‍ली में 242 कंटेनमेंट जोन थे, अब नए सिरे से उनकी बाउंड्री और लॉकडाउन के नियम तय किए जाएंगे।

कोरोना की तेज रफ्तार, जानें कहां कितने मरीज

कितनों को हुआ इन्‍फेक्‍शन, लग जाएगा पता

दिल्‍ली सरकार को ये बता दिया गया है कि 27 जून से 7 जुलाई के बीच सीरोलॉजिकल सर्वे किया जाएगा। इस दौरान 20,000 लोगों के सैंपल्‍स कलेक्‍ट किए जाएंगे। इससे यह पता चलेगा कि दिल्‍ली में इन्‍फेक्‍शन किस हद तक फैला है। देशव्‍यापी स्‍तर पर हुए सीरोलॉजिकल सर्वे में पता चला था कि वायरस का शिकार होने के बाद कई लोग अपने आप ही ठीक हो चुके थे और उनके शरीर में ऐंडीबॉडीज मौजूद थीं। MHA ने आरोग्‍य सेतु ऐप के जरिए कॉन्‍टैक्‍ट ट्रेसिंग और क्‍वारंटीन व्‍यवस्‍था को भी दुरुस्‍त करने के निर्देश दिए हैं।

मीटिंग में गृह मंत्री अमित शाह। (फाइल फोटो)

मीटिंग में गृह मंत्री अमित शाह। (फाइल फोटो)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

मुंबई: कोरोना इलाज के लिए ज्यादा पैसे ले रहे अस्पताल पर FIR दर्ज

Edited By Abhishek Shukla | एजेंसियां | Updated: 02 Jul 2020, 11:04:00 PM IST प्रतीकात्मक तस्वीरमुंबई मुंबई में कोरोना वायरस के महंगे इलाज...

दुष्कर्म की कोशिश : एसपी ने सीओ को सौंपी जांच

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200 ख़बर सुनें ख़बर सुनें दुष्कर्म की कोशिश :...