Home बड़ी खबरें भारत LAC पर भारत की स्थिति चीन से बेहतर, हवा और जमीन पर...

LAC पर भारत की स्थिति चीन से बेहतर, हवा और जमीन पर बीजिंग को ‘पड़ सकती है मुंह की खानी’

चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर सैन्य तैनाती के मामलों में बीजिंग से कही बेहतर भारत की स्थिति है। ये बात हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के हालिया आकलन में कही गई है। यूएस नेवल वॉर कॉलेज के को-ऑथर ओ’डोनिएल ने हिन्दुस्तान टाइम्स से कहा, “अगर चीन हमला करता है तो सीमावर्ती इलाकों में भारत और चीन के सैनिकों की बड़ी तादाद में स्थाई रूप से तैनाती के चलते भारत वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीनी सेना को पीछे धकेलने में सक्षम है। हालांकि, इस दौरान दोनों देशों को काफी नुकसान होगा।”

इसमें कहा गया है कि एक चीज जिसका पता नहीं चल पाया वो ये है कि इस तरह की लड़ाई में भारतीय के कम्युनिकेशन और लॉजिस्टिक्स को बाधा पहुंचाने के लिए चीन किस तरह साइबर हमले का इस्तेमाल करेगा।

पिछले कई सालों में भारत ने चीन के मुकाबले ना सिर्फ अपनी सैन्य शक्ति को मजबूत किया है बल्कि कई मायनों में ये उससे ज्यादा शक्तिशाली हो चुका है। भारतीय अधिकारी इस दृष्टिकोण से सहमत रखते है हालांकि तनाव के चलते भारत के पूर्ण प्रभुत्व के बारे में कुछ नहीं बताया है।

चीन की सेना इस समस्या को साल 2000 के मध्य से ही समझने लगी थी। भारत और चीन की सेनाओं की संख्या सीमा पर करीब-करीब बराबर है। दोनों तरफ 2-2 लाख से ज्यादा सैनिकों की तैनाती है। लेकिन, चीनी सैनिकों का कुछ हिस्सा रूस की सीमा के साथ तिब्बत और जिनजियांग में विद्रोह को लेकर रिजर्व है।

ये भी पढ़ें: भारत ने पहाड़ों पर लड़ने में महारत हासिल सैन्य टुकड़ियों को LAC पर तैनात किया

लड़ाकू विमानों की संख्या के मामलों में भारत की स्थिति कहीं ज्यादा अच्छी है। सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि इस इलाके में चीन के किसी भी लड़ाकू विमान से सुखोई-30 बेहतर है। ओ’ डोनियल ने कहा, “सीमा पर भारत के पास ज्यादा और बेहतर लड़ाकू विमान हैं और चीन की तुलना में कही ज्यादा अनुभवी एयर क्रूज और सेनाओं की पॉजिशन है।”

दशकों तक पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की जर्नल- साइंस ऑफ मिलिट्री स्ट्रेटजी में चीन के विदेशी सुरक्षा मामलों में भारत को चौथा स्थान दिया जाता था। इसमें बदलाव होना शुरू हुआ है। चाइना डिफेंस डेली साल 2013 में सीमा पर भारत की तरफ से बढ़ाए गए सुरक्षाबलों के बारे में जिक्र किया था। 2017 में नानफंग डेली के एक सर्वे में चीन के सामरिक थिंकर्स ने इस बात को लेकर चिंता जताई थी कि “भारत की रक्षा रणनीति में बदलाव हुई है… और यह आक्रामक है।”

ये भी पढ़ें: चीनी ऐप की जगह अब कर सकते हैं इन सुरक्षित ऐप्स का इस्तेमाल



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

भोजपुरी में BJP कार्यकर्ताओं को दिया संदेश, कहा- कोरोना पर दावा करने वालों को आपने गलत साबित किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को BJP के ‘Seva Hi Sangathan’ कार्यक्रम में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उन्होंने इस दौरान भोजपुरी में अपनी...

मुंबई: कोरोना इलाज के लिए ज्यादा पैसे ले रहे अस्पताल पर FIR दर्ज

Edited By Abhishek Shukla | एजेंसियां | Updated: 02 Jul 2020, 11:04:00 PM IST प्रतीकात्मक तस्वीरमुंबई मुंबई में कोरोना वायरस के महंगे इलाज...

योजना में लक्ष्य से पिछड़े बीडीओ तलब

Publish Date:Sun, 05 Jul 2020 12:40 AM (IST) दरभंगा। जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने शनिवार को अपने कार्यालय कक्ष में जिला जल एवं स्वच्छता...