Home कोरोना वायरस कोरोना वायरस की दवा बनाने वाली कंपनी को हुआ तगड़ा मुनाफा, जानिए...

कोरोना वायरस की दवा बनाने वाली कंपनी को हुआ तगड़ा मुनाफा, जानिए कितना

हाल ही में ग्लेनमार्क फार्मा (glenmark pharma profit) ने कोरोना वायरस की दवा (coronavirus medicine) बनाई थी, जिसकी एक टैबलेट की कीमत 130 रुपए थी। अबब कंपनी के चौथी तिमाही के मुनाफे के आंकड़े सामने आए हैं।

Edited By Anuj Maurya | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

हाइलाइट्स

  • ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स को 31 मार्च 2020 को समाप्त चौथी तिमाही में 220.3 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ
  • यह साल भर पहले की इसी तिमाही के 161.66 करोड़ रुपये की तुलना में 36.28 प्रतिशत अधिक है
  • ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने कोविड-19 के इलाज के लिए एंटीवायरल दवा फेविपिराविर को फैबिफ्लू ब्रांड नाम से पेश किया था
  • इसकी कीमत 103 रुपये प्रति टैबलेट रखी गई

नई दिल्ली

कोरोना वायरस की दवा (coronavirus medicine) बनाने वाली कंपनी ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स (glenmark pharma profit) को 31 मार्च 2020 को समाप्त चौथी तिमाही में 220.3 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ। यह साल भर पहले की इसी तिमाही के 161.66 करोड़ रुपये की तुलना में 36.28 प्रतिशत अधिक है। कंपनी ने शेयर बाजारों को बताया कि इस दौरान उसका एकीकृत राजस्व 7.96 प्रतिशत बढ़कर 2,767.48 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। यह साल भर पहले की इसी तिमाही में 2,563.47 करोड़ रुपये था। पूरे वित्त वर्ष के आधार पर 2019-20 में कंपनी को 2018-19 के 924.99 करोड़ रुपये के मुकाबले 775.97 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध लाभ हुआ।

इस दौरान कंपनी का राजस्व भी 9,865.46 करोड़ रुपये के मुकाबले बढ़कर 10,640.96 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक (एमडी) ग्लेन सल्दान्हा ने कहा, “कोविड-19 महामारी और वैश्विक बाजारों में जेनरिक दवा के चुनौतीपूर्ण कारोबारी माहौल के बावजूद चौथी तिमाही में हमारी वृद्धि की रफ्तार बरकरार रही।” कंपनी के निदेशक मंडल ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिये अपने शेयरधारकों को एक रुपये अंकित मूल्य के प्रत्येक शेयर पर 2.50 रुपये यानी 250 प्रतिशत लाभांश देने की सिफारिश की है।

यह भी पढ़ें- 6 महीने में 1240% बढ़ी इस शेयर की कीमत, 3 से बढ़कर हुआ 40 रुपये का

103 रुपए की बनाई थी टैबलेट

ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने कोविड-19 से मामूली रूप से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए एंटीवायरल दवा फेविपिराविर को फैबिफ्लू ब्रांड नाम से पेश किया था। इसकी कीमत 103 रुपये प्रति टैबलेट रखी गई। ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने कहा कि यह दवा 200 एमजी में उपलब्ध होगी। इसके 34 टैबलेट के पत्ते की कीमत 3,500 रुपये है। कंपनी ने कहा कि फैबिफ्लू कोविड-19 के इलाज के लिए फेविपिराविर दवा है, जिसे मंजूरी मिली है। यह दवा चिकित्सक की सलाह पर 103 रुपये प्रति टैबलेट के दाम पर मिलेगी। पहले दिन इसकी 1800 एमजी की दो खुराक लेनी होगी। उसके बाद 14 दिन तक 800 एमजी की दो खुराक लेनी होगी।

Web Title coronavirus medicine maker company glenmark pharma q4 net profit jumps 36 percent to rs 220 crore(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

मॉक टेस्ट की असफलता के बाद दिल्ली विश्विद्यालय पर परीक्षाएं टालने का दबाव बढ़ा

दिल्ली विश्वविद्यालय - फोटो : DU Website पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200 ख़बर सुनें...

कर्नाटक के गांव में चरवाहे को कोरोना वायरस, 47 बकरियां क्वारंटीन, जांच के लिए भेजे गए नमूने

Edited By Shashi Mishra | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated: 01 Jul 2020, 10:56:00 AM IST बकरियों के लिए गए सैंपलहाइलाइट्सकर्नाटक में...

जानिए! धर्मचक्र प्रवर्त्तन सूत्र (धम्मचक्कप्पवत्तनसुत्त) का महत्व परि. बौद्धाचार्य Shanti जी से।

बहुजन पोस्ट डॉट कॉम #Dhammachaakpravtan #Baudhacharya_shanti_swaroop आओ जाने धर्मचक्र प्रवर्त्तन सूत्र (धम्मचक्कप्पवत्तनसुत्त) का महत्व। { सारनाथ में दिया गया भगवान बुद्ध का प्रथम उपदेश } तत्त्वलीन बौद्धाचार्य...

विकास दुबे के साथ वायरल तस्वीर पर बोले बीजेपी सांसद देवेंद्र सिंह भोले, ‘जिसे जो दिखाना है दिखाए’

कानपुर (Kanpur Encounter) में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाले अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) की एक पुरानी तस्वीर सामने आई है जिसमें वह...