Home राज्यवार उत्तर प्रदेश 99 साल में 5505 से 56 लाख छात्रों तक पहुंचा बोर्ड, कोरोना...

99 साल में 5505 से 56 लाख छात्रों तक पहुंचा बोर्ड, कोरोना के चलते पहली बार 7 बदलाव हुए

  • 1921 में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की स्थापना हुई थी, तब 10वीं में 5500 और इंटरमीडिएट में 5 छात्र रजिस्टर्ड हुए थे
  • छात्रों की संख्या के मामले में यह एशिया का सबसे बड़ा बोर्ड, इस साल 56 लाखा छात्रों ने कराया था रजिस्ट्रेशन

दैनिक भास्कर

Jun 27, 2020, 03:58 PM IST

लखनऊ. 99 साल पहले महज 5505 छात्रों से शुरू हुए हुए माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) का कारवां 2020 में 56 लाख छात्र-छात्राओं तक पहुंचा है। 99 साल के इतिहास में बोर्ड ने कई बदलाव किए। लेकिन, साल 2020 में सात बड़े बदलाव हुए। शनिवार को दूसरा अवसर था, जब बोर्ड परीक्षा का परिणाम प्रयागराज स्थित मुख्यालय के बजाए राजधानी लखनऊ से जारी किया। साल 2007 में बसपा शासनकाल में पहली बार परिणाम लखनऊ से जारी किया था। हालांकि, इंटरमीडिएट का रिजल्ट प्रयागराज से ही जारी हुआ था।

1921 में बोर्ड की हुई थी स्थापना
बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा परिषद की स्थापना आजादी से पहले साल 1921 में हुई थी। तब इंटरमीडिएट में पांच और हाईस्कूल में 5500 छात्र रजिस्टर्ड हुए थे। वहीं, साल 2020 में हाईस्कूल और इंटरमीडिए को मिलाकर 56 लाख से अधिक परीक्षार्थी पंजीकृत हुए थे।

बोर्ड द्वारा इस साल तीन बड़े बदलाव-

  • सिलाई वाली कॉपी का इस्तेमाल: मथुरा, प्रयागराज, बलिया, मुजफ्फरनगर और हरदोई में पहली बार सिलाई वाली कॉपी से परीक्षा कराई गई। ताकि परीक्षा केंद्रों पर कॉपियों में होने वाली हेराफेरा रोकी जा सके। इसे आगामी बोर्ड परीक्षा में अन्य जिलों में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। 
  • डिजिटिल अंकपत्र-प्रमाण पत्र: बोर्ड पहली मर्तबा डिजिटल हस्ताक्षर वाले अंकपत्र और प्रमाण पत्र जारी कर रहा है। यह डिजिटल अंकपत्र-प्रमाण पत्र छात्रों को परिणाम जारी होने के दो से तीन दिन के भीतर स्कूल के प्रधानाचार्य के माध्यम से मिल जाएगा। 
  • इंटर के छात्रों को कंपार्टमेंट का मौका: इंटरमीडिएट में एक विषय में फेल होने वाले परीक्षार्थी को पहली बार कंपार्टमेंट में शामिल होने का मौका दिया जा रहा है। अभी तक यह व्यवस्था हाईस्कूल के छात्रों के लिए थी।

यह बदलाव भी अहम-

  • 10वीं और 12वीं की कॉपियों की लाइनें चार अलग-अलग रंगों में थी। 
  • इस बार ऑनलाइन लिए जाएंगे स्क्रूटनी के आवेदन।
  • छात्रों में तनाव दूर करने को लेकर टोल फ्री नंबर जारी किए गए। 
  • सूचनाओं के आदान प्रदान के लिए वॉट्सऐप ग्रुप बनाए गए। 

10 माह पहले जारी हुआ था टाइम टेबल

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने 10 माह पहले ही एक जुलाई 2019 को बोर्ड परीक्षा का टाइम टेबल जारी कर दिया था। 18 फरवरी से शुरू हुई परीक्षा छह मार्च को खत्म हुई थी। पहली बार रिकॉर्ड 15 दिन में सभी विषयों की परीक्षा हुई। 

पहली बार 15 दिन में खत्म हुई परीक्षा, 23 दिन में जांची गई कॉपियां

बोर्ड ने ऑनलाइन 7783 परीक्षा केंद्रों का निर्धारण किया था, जो 2019 की तुलना में 517 परीक्षा केंद्र कम थे। वहीं, साल 2018 से 766 और 2017 से 3331 केंद्र कम बनाए गए। परीक्षा की निगरानी के लिए वेबकास्टिंग की गई। इसके लिए राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम और हर जिले में जिला स्तरीय कंट्रोल रूम बनाया गया। नकल रोकने के लिए 1.94 लाख वॉयस रिकॉर्डर युक्त सीसीटीवी इंस्टाल किए गए थे। कोरोना संकट काल में 5257135 परीक्षार्थियों की कुल 2,82,93,304 कॉपियां जांची गईं। इसके लिए 1,46,755 परीक्षक लगाए गए थे। 23 दिन में कॉपियों का मूल्यांकन किया गया है। 

हाईस्कूल विद्यालयों की संख्या- 

  • शासकीय-2,306
  • अशासकीय (सहायता प्राप्त)- 4,528
  • अशासकीय (असहायता प्राप्त)- 20,539
  • योग- 27,373

इंटर कॉलेजों की संख्या- 

  • शासकीय- 785
  • अशासकीय (सहायता प्राप्त)- 4077
  • अशासकीय (असहायता प्राप्त)- 12482
  • योग- 17344

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

ग्रेनो: डीपीएस के छात्र मोहम्मद जैद हसन ने संस्कृत में हासिल किए 100 में 100 अंक

अमर उजाला नेटवर्क, नोएडा Updated Wed, 15 Jul 2020 06:08 PM IST मोहम्मद जैद हसन - फोटो : अमर उजाला पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी...

दिल्ली सरकार की सभी यूनिवर्सिटी के सारे एग्जाम कैंसल, कोरोना की वजह से सरकार ने लिया फैसला

Edited By Vishnu Rawal | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 11 Jul 2020, 01:39:00 PM IST दिल्ली स्टेट यूनिवर्सिटीज के पेपर कैंसलहाइलाइट्सदिल्ली सरकार ने...

Ranchi Coronavirus News: रांची में कोरोना की स्थिति खतरनाक, संक्रमित को ट्रेस करने में लग रहे 24 घंटे से अधिक

Publish Date:Wed, 15 Jul 2020 11:27 AM (IST) रांची, जासं। Ranchi Coronavirus News Update रांची में एक दिन में एक साथ 40 पॉजिटिव मामले...

लॉकडाउनः गाजियाबाद और नोएडा में मॉल और सलून भी बंद

Edited By Shashi Mishra | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 10 Jul 2020, 08:09:00 AM IST प्रतीकात्मक चित्रनोएडा उत्तर प्रदेश में सरकार ने एक बार...