Home दुनिया नेपाल की सत्तारूढ़ पार्टी में आंतरिक कलह तेज, केपी ओली की कुर्सी...

नेपाल की सत्तारूढ़ पार्टी में आंतरिक कलह तेज, केपी ओली की कुर्सी खतरे में

नई दिल्ली: नेपाल के (Nepal) प्रधानमंत्री केपी ओली (K P Oli) ने एक बड़ा राजनयिक फैसला लिया और भारत विरोधी भावना की लहर को जन्म दिया. हालांकि, अपनी स्थिति को मजबूत करने के लिए चलाए गए इस अभियान ने ऐसा मोड़ लिया है कि अब उनकी सरकार पर ही बन आई है. काठमांडू पोस्ट में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री के रूप में ओली की स्थिति डांवाडोल है और उनकी अपनी पार्टी ही चाहती है कि वो पद छोड़ दें.

नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी असल में दो कम्युनिस्ट पार्टियों का गठबंधन है- एक के अध्यक्ष हैं पुष्प कमल दहल, जिन्हें प्रचंड के नाम से भी जाना जाता है, और दूसरी की अध्यक्षता कर रहे हैं के पी शर्मा ओली. प्रचंड दो बार नेपाल के प्रधानमंत्री रह चुके हैं. उनके समर्थकों ने प्रधानमंत्री ओली पर पार्टी और सरकार को विफल करने के आरोप लगाए हैं.

अपने पद पर बने रहने और राष्ट्रवाद साबित करने के लिए ओली ने भारत के खिलाफ एक कठिन फैसला लिया. लेकिन, हवा का रुख बदल गया. इस हफ्ते, ओली सरकार को कई असफलताओं का सामना करना पड़ा. पहला, विपक्ष ने संसद में एक प्रस्ताव पेश किया, जिसमें कहा गया कि चीन ने नेपाल की 64 हेक्टेयर से अधिक भूमि का अतिक्रमण किया है.

बुधवार को, नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की स्थायी समिति ने अपनी बैठक की. रिपोर्ट के अनुसार, 44 में से केवल 11 सदस्य ही ओली की तरफ थे. स्थायी समिति गुरुवार को भी अपनी बैठक जारी रखने वाली थी, लेकिन प्रधानमंत्री ओली ने इसे छोड़ने का फैसला किया. इससे पहले, नेपाल में चीनी राजदूत ने इस तरह के मामलों में खुले तौर पर हस्तक्षेप किया है, उन्होंने सत्तारूढ़ पार्टी के सदस्यों के साथ बैठकें कीं ताकि मतभेदों को सुलझाया जा सके और सरकार को बचाया जा सके.

ये भी देखें-

प्रधानमंत्री ओली दो पाटों के बीच पिस रहे हैं. उन्होंने भारत को छोड़कर चीन को चुना, उपनी संप्रभुता को समर्पण कर दिया लेकिन ये दांव उनपर ही उल्टा पड़ गया. ओली लंबे समय से अपने पतन की तरफ बढ़ रहे हैं, हालांकि प्रचंड के साथ ये स्थिति थोड़ी ही देर के लिए रही. ओली नेपाल की भूमि चीन के हाथों खो रहे हैं, वो भारत की सहानुभूति खो रहे हैं, वो अपने लोगों का विश्वास खो रहे हैं और अब तो वो अपनी ही पार्टी के सदस्यों का समर्थन भी खोने लगे हैं.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

पेड़ से लटकी मिली प्रवासी मजदूर की लाश, एक महीने से था बेरोज़गार!

लॉकडाउन में दो महीने पहले ही जेठ की चिलचिलाती धूप में वह दिल्ली से 1000 किलोमीटर पैदल चलकर और ट्रक पर चढ़कर बिहार के...

Poco M2 Pro में मिलेगा 33 वॉट का फास्ट चार्जिंग सपॉर्ट, अगले हफ्ते है लॉन्च

पोको M2 प्रोनई दिल्ली पोको 7 जुलाई को भारत में अपना नया स्मार्टफोन Poco M2 Pro लॉन्च करने वाला है। इस फोन की माइक्रोसाइट फ्लिपकार्ट...

मॉनसून में बढ़ जाता है इंफेक्शन का खतरा, Pregnant महिलाएं इन 5 तरीकों से करें अपनी इम्युनिटी मजबूत

Pregnancy Tips: प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को अधिक सतर्क रहने की जरूरत होती है क्योंकि उनके गर्भ में एक नई जिंदगी पल रही होती है।...

Sanjana Sanghi को याद आए Sushant के संग बिताए हुए पल, खोले कई राज

नई दिल्ली: सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) हमारे बीच नहीं है लेकिन उनसे जुड़ी हर बात, हर खबर, फैंस के दिल में उत्सुकता पैदा...

एक बार सलाह देने पर यूनिस ने मेरी गर्दन पर चाकू रख दिया था: पूर्व कोच ग्रांट फ्लावर

Edited By Nityanand Pathak | पीटीआई | Updated: 02 Jul 2020, 06:08:00 PM IST यूनिस खान और ग्रांट फ्लावरहाइलाइट्सपाकिस्तान के पूर्व बल्लेबाजी...