Home बड़ी खबरें भारत दिल्‍ली: टिड्डियों को भगाने के लिए ढोल, पटाखे, DJ बजाने की सलाह,...

दिल्‍ली: टिड्डियों को भगाने के लिए ढोल, पटाखे, DJ बजाने की सलाह, कई इलाकों में हाई अलर्ट

नई दिल्ली: दिल्ली में टिड्डियों के खतरे को देखते हुए दिल्ली सरकार ने एक एडवाइजरी जारी की है. सरकार ने साउथ और वेस्ट जिले में हाई अलर्ट घोषित किया है. बैठक में विकास सचिव, डिविजनल कमिश्नर, डायरेक्टर एग्रीकल्चर, डीएम साउथ दिल्ली, डीएम वेस्ट दिल्ली मौजूद रहे. इसके अलावा दिल्ली सरकार ने डेवलपमेंट सेक्रेटरी, डिवीजनल सेक्रेटरी, डिवीजनल कमिश्नर और एग्रीकल्चर एवं हॉर्टिकल्चर के निदेशक को जरूरी कदम उठाने के लिए निर्देश दिए गए हैं.

दिल्ली सरकार ने जिला मजिस्ट्रेटों को सलाह दी है कि वह टिड्डी दल को भगाने के लिए ड्रमों / बर्तनों की पिटाई, डीजे बजाकर, पटाखे और नीम की पत्तियों को जलाने की जानकारी देने के साथ ही लोगों की हर संभव मदद करें.

ये भी पढ़ें: राजधानी दिल्ली पर होने वाला है टिड्डी दल का हमला, जानें नियंत्रण के उपाय

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली में अभी टिड्डियों की जो टुकड़ी आई है, वह बहुत छोटी टुकड़ी है. दिल्ली सरकार पूरी स्थितियों पर नजर रखे हुए हैं. साउथ दिल्ली और वेस्ट दिल्ली को हाई अलर्ट पर रखा गया है. अभी हवाओं का जो रुक है, वह साउथ की तरफ जा रहा है. अगर हवा में कोई बदलाव आता है, तो शायद दिल्ली की तरफ इनका रुख बदल सकता है. इसलिए पूरी स्थितियों को मॉनिटर किया जा रहा है.

दिल्ली के सभी डीएम, एसडीएम और एमसीडी सहित सभी अथॉरिटी को दिल्ली सरकार की तरफ से तत्काल एडवाइजरी जारी की जा रही है. केंद्र सरकार के अधिकारियों के संपर्क में भी रहेंगे, ताकि हरियाणा में टिड्डियों के आवागमन में बदलाव आता है, तो हम उसके लिए तैयार रहेंगे और समय रहते कार्रवाई करेंगे.

टिड्डी दल के हमले की आशंका के मद्देनजर कृषि विज्ञान केंद्र, दिल्ली ने किसानों को संभावित संकट से निपटने के लिए उपाय बताए हैं. टिड्डी कीट समूह एक साथ चलता है और ये एक दिन के अंदर 100 से 150 किलोमीटर का सफर तय कर लेता है. टिड्डी समूह एक दिन में औसतन 10 हाथियों, 25 ऊटों या 2500 लोगों के बराबर भोजन कर लेता है.

देश के अलग-अलग हिस्सों में अपना आतंक मचाने के बाद टिड्डियों का आतंक दिल्ली, गुरुग्राम और द्वारका तक पहुंच गया है. आपको बता दें कि टिड्डी दल ज्यादातर शाम के वक्त आता है और जमीन पर बैठ जाता है. इनके रुकने की जगह पेड़, झाड़ियां और फसलें होती हैं. अगली सुबह टिड्डी दल आगे का सफर शुरू करता है.

ये भी देखें-



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

त्वचा की रंगत निखारने में सहायक हैं ये कॉफी फेसपैक, जानिये बनाने और इस्तेमाल का तरीका

त्वचा की रंगत निखारने में सहायक हैं ये कॉफी फेसपैक, जानिये बनाने और इस्तेमाल का तरीका 0){setTimeout(function(){body.item(0).classList.remove('styles-loading');}, 10);}"> ...

हांसी में चालान से बचने को भागा बाइक सवार पुलिस की जिप्सी ने कुचला, परिजनों ने सचिवालय पर दिया धरना

पुलिस ने गढ़ दी हादसे की कहानी, परिजनों ने मान लीपुलिस की जिप्सी के नीचे आने से गंगन खेड़ी निवासी युवक की मौत दैनिक भास्करJul...

विकास दुबे एनकाउंटर के बाद यूपी की जातीय सियासत गरमाई, योगी सरकार पर ब्राह्मण उत्पीड़न का आरोप

10 जुलाई की सुबह कानपुर से 17 किमी पहले भौंती में गैंगस्टर विकास दुबे का हुआ था एनकाउंटर2 जुलाई को बिकरु गांव में 8...