Home बड़ी खबरें भारत लद्दाख विवादः शरद पवार ने राहुल को दिलाई अतीत की याद, कहा-...

लद्दाख विवादः शरद पवार ने राहुल को दिलाई अतीत की याद, कहा- भूल नहीं सकते 1962 में क्या हुआ था

राहुल गांधी-शरद पवार (फाइल फोटो)
– फोटो : PTI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

गलवां घाटी में चीन के साथ तनाव को लेकर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी लगातार केंद्र सरकार पर हमला बोल रहे हैं। पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों की घुसपैठ को लेकर राहुल ने शुक्रवार को भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बारे में सच बोलें और अपनी जमीन वापस लेने के लिए कार्रवाई करें। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष के बयान पर उनके सहयोगी दल एनसीपी के प्रमुख शरद पवार ने उन्हें अतीत की याद दिलाई है।

राहुल के बयानों पर शरद पवार ने कहा, ‘हम नहीं भूल सकते कि 1962 में क्या हुआ था। चीन ने हमारी 45 हजार स्क्वेयर किमी जमीन पर कब्जा कर लिया था। वर्तमान में मुझे नहीं पता कि चीन ने जमीन ली है या नहीं, मगर इस पर बात करते वक्त हमें इतिहास याद रखना चाहिए। राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर राजनीति नहीं करनी चाहिए।’

पवार ने यह भी कहा कि लद्दाख में गलवां घाटी की घटना को रक्षा मंत्री की नाकामी बताने में जल्दबाजी नहीं की जा सकती, क्योंकि गश्त के दौरान भारतीय सैनिक चौकन्ने थे। पत्रकारों से बातचीत में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह पूरा प्रकरण ‘संवेदनशील’ प्रकृति का है। गलवां घाटी में चीन ने उकसावे वाला रुख अपनाया। 

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में 15 जून को चीन के साथ हिंसक झड़प में भारत के 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए। पूर्व रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत संचार उद्देश्यों के लिए अपने क्षेत्र के भीतर गलवान घाटी में एक सड़क बना रहा था। 

दिल्ली में बैठे रक्षा मंत्री की नाकामी नहीं कह सकते

पवार ने कहा, ‘उन्होंने (चीनी सैनिकों ने) हमारी सड़क पर अतिक्रमण करने की कोशिश की और धक्कामुक्की की। यह किसी की नाकामी नहीं है। अगर गश्त करने के दौरान कोई (आपके क्षेत्र में) आता है, तो वे किसी भी समय आ सकते हैं। हम यह नहीं कह सकते कि यह दिल्ली में बैठे रक्षा मंत्री की नाकामी है।’

उन्होंने कहा, ‘वहां गश्त चल रही थी। झड़प हुई इसका मतलब है कि आप चौकन्ना थे। अगर आप वहां नहीं होते तो आपको पता भी नहीं चलता कि कब वे (चीनी सैनिक) आए और गए। इसलिए मुझे नहीं लगता कि इस समय ऐसा आरोप लगाना सही है।’ राहुल गांधी द्वारा लगाए एक आरोप पर जवाब देते हुए पवार ने कहा कि यह कोई नहीं भूल सकता कि दोनों देशों के बीच 1962 के युद्ध के बाद चीन ने भारत की करीब 45,000 वर्ग किलोमीटर की जमीन पर कब्जा कर लिया था। 

उन्होंने कहा, ‘यह जमीन अब भी चीन के पास है। मुझे नहीं मालूम कि क्या उन्होंने (चीन) अब फिर से कुछ क्षेत्र पर अतिक्रमण कर लिया। लेकिन जब मैं आरोप लगाता हूं तो मुझे यह भी देखना चाहिए कि जब मैं सत्ता में था तो क्या हुआ था। अगर इतनी बड़ी जमीन अधिग्रहीत की जाती है तो इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। यह राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला है और मुझे लगता है कि इसका राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए।’

महाराष्ट्र में शरद पवार की पार्टी एनसीपी, कांग्रेस और शिवसेना के साथ मिलकर सरकार चला रही है। बीच-बीच में इस गठबंधन को लेकर आपसी मनमुटाव की खबरें आती रहती हैं।

गलवां घाटी में चीन के साथ तनाव को लेकर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी लगातार केंद्र सरकार पर हमला बोल रहे हैं। पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों की घुसपैठ को लेकर राहुल ने शुक्रवार को भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बारे में सच बोलें और अपनी जमीन वापस लेने के लिए कार्रवाई करें। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष के बयान पर उनके सहयोगी दल एनसीपी के प्रमुख शरद पवार ने उन्हें अतीत की याद दिलाई है।

राहुल के बयानों पर शरद पवार ने कहा, ‘हम नहीं भूल सकते कि 1962 में क्या हुआ था। चीन ने हमारी 45 हजार स्क्वेयर किमी जमीन पर कब्जा कर लिया था। वर्तमान में मुझे नहीं पता कि चीन ने जमीन ली है या नहीं, मगर इस पर बात करते वक्त हमें इतिहास याद रखना चाहिए। राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर राजनीति नहीं करनी चाहिए।’

पवार ने यह भी कहा कि लद्दाख में गलवां घाटी की घटना को रक्षा मंत्री की नाकामी बताने में जल्दबाजी नहीं की जा सकती, क्योंकि गश्त के दौरान भारतीय सैनिक चौकन्ने थे। पत्रकारों से बातचीत में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह पूरा प्रकरण ‘संवेदनशील’ प्रकृति का है। गलवां घाटी में चीन ने उकसावे वाला रुख अपनाया। 

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में 15 जून को चीन के साथ हिंसक झड़प में भारत के 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए। पूर्व रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत संचार उद्देश्यों के लिए अपने क्षेत्र के भीतर गलवान घाटी में एक सड़क बना रहा था। 

दिल्ली में बैठे रक्षा मंत्री की नाकामी नहीं कह सकते

पवार ने कहा, ‘उन्होंने (चीनी सैनिकों ने) हमारी सड़क पर अतिक्रमण करने की कोशिश की और धक्कामुक्की की। यह किसी की नाकामी नहीं है। अगर गश्त करने के दौरान कोई (आपके क्षेत्र में) आता है, तो वे किसी भी समय आ सकते हैं। हम यह नहीं कह सकते कि यह दिल्ली में बैठे रक्षा मंत्री की नाकामी है।’

उन्होंने कहा, ‘वहां गश्त चल रही थी। झड़प हुई इसका मतलब है कि आप चौकन्ना थे। अगर आप वहां नहीं होते तो आपको पता भी नहीं चलता कि कब वे (चीनी सैनिक) आए और गए। इसलिए मुझे नहीं लगता कि इस समय ऐसा आरोप लगाना सही है।’ राहुल गांधी द्वारा लगाए एक आरोप पर जवाब देते हुए पवार ने कहा कि यह कोई नहीं भूल सकता कि दोनों देशों के बीच 1962 के युद्ध के बाद चीन ने भारत की करीब 45,000 वर्ग किलोमीटर की जमीन पर कब्जा कर लिया था। 


आगे पढ़ें

जमीन अब भी चीन के पास



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

मुंबई में इस गणेश उत्सव पर नहीं बैठेंगे ‘लालबागचा राजा’, 87 सालों में पहली बार रद्द हुआ प्रसिद्ध समारोह

87 सालों में पहली बार लालबाग में नहीं मनेगा गणेश उत्सव.मुंबई: कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित शहर मुंबई में इस साल का 11 दिनों...

मंगलवार को लॉन्च होगा 33W फास्ट चार्जिंग सपोर्ट वाला पोको M2 प्रो स्मार्टफोन, यह अबतक का सबसे किफायती पोको फोन हो सकता है

रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि यह अबतक का सबसे किफायती पोको स्मार्टफोन हो सकता हैटीज़र इमेज और स्पेसिफिकेशंस देखकर कहा जा रहा...

Coronavirus in India Live Updates: त्रिपुरा में 5 जुलाई को पूर्ण लॉकडाउन, मिजोरम में 1,900 से अधिक लोग खो चुके रोजगार; जानें कोरोना पर बाकी सूबों का हाल

India Coronavirus Covid-19 Tracker News Live Updates: त्रिपुरा सरकार ने कोविड-19 का संक्रमण चक्र को तोड़ने के लिये पांच जुलाई को 24 घंटे के पूर्ण...

Kanpur Encounter: विकास दुबे के बॉडीगार्ड को दबोचने के लिए पुलिस और एसटीएफ ने बिछाया जाल, घंटों की कॉम्बिंग

{"_id":"5f0351e97251c46cf010c2f6","slug":"vikas-dubey-kanpur-police-encounter-news-police-under-siege-of-vikas-dubey-bodyguard-babban","type":"photo-gallery","status":"publish","title_hn":"Kanpur Encounter: u0935u093fu0915u093eu0938 u0926u0941u092cu0947 u0915u0947 u092cu0949u0921u0940u0917u093eu0930u094du0921 u0915u094b u0926u092cu094bu091au0928u0947 u0915u0947 u0932u093fu090f u092au0941u0932u093fu0938 u0914u0930 u090fu0938u091fu0940u090fu092b u0928u0947 u092cu093fu091bu093eu092fu093e u091cu093eu0932, u0918u0902u091fu094bu0902 u0915u0940 u0915u0949u092eu094du092cu093fu0902u0917","category":{"title":"City & states","title_hn":"u0936u0939u0930 u0914u0930 u0930u093eu091cu094du092f","slug":"city-and-states"}} भाऊपुर गांव...

एक दिन में रिकॉर्ड 67 संक्रमित मिले, इनमें 35 मरीज हॉटस्पॉट इब्राहिमगंज इलाके के

लगातार चौथे दिन राजधानी में 50 से ज्यादा कोरोना केस मिले, जहांगीराबाद में भी नया मामलाएक ही परिवार के 4 लोग संक्रमित, 23वीं बटालियन...

33 लाख बरामद, पांच अपराधी गिरफ्तार, सीढ़ी के नीचे छिपाकर रखे थे रुपए

52.38 लाख रुपए की डकैती हुई थी, मामले की जांच एसएसपी के नेतृत्व में की गईयह गिरोह लंबे समय से लूट और डकैती की...