Home बड़ी खबरें भारत 'हम 1962 नहीं भूल सकते, जब चीन ने..', शरद पवार ने दिया...

‘हम 1962 नहीं भूल सकते, जब चीन ने..’, शरद पवार ने दिया राहुल को करारा जवाब

नई दिल्ली: लद्दाख सीमा पर भारत-चीन के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है. सीमा विवाद पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार पर हमला बोलते आए हैं. इस बीच एनसीपी प्रमुख शरद पवार (Sarad Pawar) ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर राजनीति नहीं करनी चाहिए. 

उन्होंने आगे कहा कि साल 1962 में क्या हुआ था, इसे भूला नहीं जा सकता है. चीन ने हमारी 45 हजार वर्ग किमी क्षेत्र में अतिक्रमण कर लिया था. पवार ने कहा, ‘वर्तमान में, मुझे नहीं पता कि उन्होंने किसी भूमि पर कब्जा किया है, लेकिन इस पर चर्चा करते समय हमें अतीत को याद रखने की आवश्यकता है.’

ये भी पढ़ें: जेपी नड्डा ने सोनिया गांधी से पूछा सवाल- ‘जनता का पैसा राजीव गांधी फाउंडेशन को क्यों दिया?’

पवार की टिप्पणी कांग्रेस नेता राहुल गांधी के उस आरोप पर थी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन की आक्रामकता के चलते भारतीय क्षेत्र को सौंप दिया. उन्होंने यह भी कहा कि लद्दाख में गलवान घाटी की घटना को रक्षा मंत्री की नाकामी बताने में जल्दबाजी नहीं की जा सकती क्योंकि गश्त के दौरान भारतीय सैनिक चौकन्ने थे. मीडिया से बातचीत में पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह पूरा प्रकरण ‘‘संवेदनशील’’ प्रकृति का है. गलवान घाटी में चीन ने उकसावे वाला रुख अपनाया.

पूर्व रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत संचार उद्देश्यों के लिए अपने क्षेत्र के भीतर गलवान घाटी में एक सड़क बना रहा था. पवार ने कहा, ‘उन्होंने (चीनी सैनिकों ने) हमारी सड़क पर अतिक्रमण करने की कोशिश की और धक्कामुक्की की. यह किसी की नाकामी नहीं है. अगर गश्त करने के दौरान कोई (आपके क्षेत्र में) आता है, तो वे किसी भी समय आ सकते हैं. हम यह नहीं कह सकते कि यह दिल्ली में बैठे रक्षा मंत्री की नाकामी है.’

उन्होंने कहा, ‘वहां गश्त चल रही थी. झड़प हुई इसका मतलब है कि आप चौकन्ना थे. अगर आप वहां नहीं होते तो आपको पता भी नहीं चलता कि कब वे (चीनी सैनिक) आए और गए. इसलिए मुझे नहीं लगता कि इस समय ऐसा आरोप लगाना सही है.’

BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कांग्रेस पर साधा निशाना

जेपी नड्डा ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस पर निशाना साधते हुए सोनिया गांधी से कई सवाल पूछे. नड्डा ने कहा कि कोरोना वायरस संकट की आड़ में सोनिया गांधी को उन सवालों से नहीं बचना चाहिए जो देश जानना चाहता है. नड्डा ने कहा,  ‘पीएम नेशनल रिलीफ फंड जो लोगों की सेवा और उनको राहत पहुंचाने के लिए है, उससे 2005-08 तक राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा क्यों गया? हमारे देश की जनता इसका जवाब जानना चाहती है.’ 

ये भी देखें-



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

PM मोदी ने लद्दाख में बढ़ाया सैनिकों का हौसला, ‘बौखलाए’ चीन का रिएक्शन आया सामने

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के सीमा पर औचक दौरे से चीन बौखलाया है. चीन ने पीएम मोदी के दौरे पर प्रतिक्रिया...

3 से 12 साल के बच्चों में शरीर का दर्द हो सकता है ‘ग्रोइंग पेन’, जानें ऐसे दर्द के लिए आसान घरेलू नुस्खे

बच्चे कई बार पैरों, हाथों और शरीर में दर्द के कारण रोते और चिल्लाते हैं। अक्सर होने वाले इस दर्द से मां-बाप भी कई...

हांगकांग के लिए चीन द्वारा बनाए गए SAR कानून पर भारत ने संयुक्त राष्ट्र के सामने जताई अपनी चिंता

आलोचकों का कहना है कि हांगकांग में नए कानून से क्षेत्र में लोकतंत्र का अंत हो सकता हैचीन के द्वारा हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र...

CoronaVirus: बिहार में बढ़ी कोरोना की रफ्तार, एक्टिव केस में पटना पहले तो लखीसराय अंतिम पायदान पर

Publish Date:Sun, 05 Jul 2020 05:32 PM (IST) पटना, राज्य ब्यूरो। CoronaVirus Bihar: बिहार में इधर कोरोना संक्रमण (CoronaVirus Infection) की रफ्तार बढ़ी है।...