Home लाइफस्टाइल कोरोना काल में कई कंपनियां दे रही हैं कांट्रैक्चुअल वर्क के मौके,...

कोरोना काल में कई कंपनियां दे रही हैं कांट्रैक्चुअल वर्क के मौके, हाउस वाइफ इसका हिस्सा बन कर सकती हैं अच्छी कमाई

दैनिक भास्कर

Jul 13, 2020, 01:53 PM IST

भारत में कोरोनोवायरस ने जो एक अच्छा बदलाव किया है, वह है कांट्रैक्चुअल वर्क की वापसी। हाल ही में लागू लॉकडाउन के चलते वर्क फोर्स का एक बड़ा हिस्सा घर से काम कर रहा है। कोरोना ने साबित कर दिया है कि ऐसा कोई भी काम नहीं है, जिसे घर से नहीं किया जा सकता।

ऐसी महिलाएं जिनके पास कोडिंग, डेटा विश्लेषण, प्रोजेक्ट मैनेजमेंट, सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट और प्रोग्रामिंग जैसी प्रमुख तकनीकी क्षेत्रों की क्षमताएं हैं, उनके पास वैश्विक स्तर पर कंपनियों से बड़े कांट्रैक्चुल वर्क लेने का अवसर बढ़ गया है।

विकसित अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में भारतीय रुपए का मूल्य बहुत कम होने के कारण भारत के पेशेवरों को वैश्विक स्तर पर बढ़त मिली है। भारतीय पेशेवर दुनिया के अन्य देशों के पेशेवरों की तुलना में सस्ते पड़ते हैं। एडिटर इंडिया, फोर्ब्स एडवाइजर आशिका जैन बता रही हैं महिलाओं के लिए कांट्रैक्चुअल वर्क के जरिये जॉब के अवसर कैसे तलाशे जा सकते हैं। 

1. बड़े कॉरपोरेट्स के साथ-साथ छोटी फर्म्स भी अब कांट्रैक्चुअल जॉब करवा रही हैं। ऐसी गृहिणियां जिन्हें घर और परिवार की देखभाल के लिए अपनी नौकरियों को छोड़ना पड़ा था, उनके पास अब एक बेहतरीन मौका है। वे इस कांट्रैक्चुअल वर्क के एक टुकड़े को हासिल कर अपने लिए कमाई के दरवाजे खोल सकती हैं।

2. महिलाएं अपने कौशल के हिसाब से एक बड़े उद्यम के लिए टेक्नोलॉजी-आधारित काम से लेकर मास्क सिलाई जैसे काम कर सकती हैं। पिछले तीन महीनों में जो काम सबसे तेजी उभर कर सामने आए हैं, उनमें घर के सिले हुए कपड़े के मास्क, हाथ से तैयार किए गए कैरी बैग जिन्हें धोया जा सकता हो, रोगों से लड़ने के लिए प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले घरेलू नुस्खे जैसे आंवले का अचार, तुलसी की चाय और पारंपरिक आयुर्वेदिक पाउडर शामिल हैं।

3. महिलाएं अपने आसपास के सामुदायिक समूहों, कारोबारियों के साथ गठजोड़ कर सकती हैं। मास्क आदि के लिए अस्पतालों और फार्मेसियों के साथ बात की जा सकती है, क्योंकि उन्हें अपने कर्मचारियों और बिक्री दोनों के लिए इसकी आवश्यकता होती है।

4. इस तरह अब तक घर-गृहस्थी में सिमटी गृहिणियों के पास देश की जीडीपी का हिस्सा बनने का भी एक उज्ज्वल अवसर है। इसलिए अपने डर को दूर करें। अपने सीवी को वेबसाइट पर अपलोड करें, कांट्रैक्चुअल काम के अवसरों के लिए दोस्तों और परिवार से संपर्क करना शुरू करें। क्या पता इसमें आपको घर और बाहर के काम में संतुलन बैठाने की आपकी छिपी हुई क्षमता का भी पता लग जाए।

5. ऐसी महिलाएं जो डिजिटल मार्केटिंग, सोशल मीडिया मार्केटिंग, सेल्स लीड जनरेशन, टेलीकॉलिंग, ग्राफिक्स डिजाइन और बिजनेस एनालिटिक्स जैसी सेवाओं में काम करने का पूर्व अनुभव रखती हैं, उनके लिए जॉब पोर्टल के जरिए वर्क फ्रॉम होम हासिल करने का अच्छा अवसर है। इसके लिए वे नौकरी डॉट कॉम या लिंक्डइन की सहायता ले सकती हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

IPL 2020, KXIP vs DC: धवन के शतक पर भारी पड़ी निकोलस पूरन की पारी, पंजाब से हारी दिल्ली कैपिटल्स

शिखर धवन का लगातार दूसरा शतक निकोलस पूरन की तूफानी अर्धशतकीय पारी के सामने फीका पड़ गया जिसके दम पर किंग्स इलेवन पंजाब...

मोदी के DNA के बयान को नीतीश ने मुद्दा बनाया, फिर कमल में रंग भरते हुए NDA में लौटे

Hindi NewsLocalBiharPatnaBihar Elections 2020: Narendra Modi Nitish Kumar Relationship | Bihar Chief Minister Vs Prime Minister Narendra Modiपटना43 मिनट पहलेकॉपी लिंक2012 में जब मोदी...

विधान परिषद की पटना स्नातक और शिक्षक सीट के लिए मतदान आज, आर्यभट्ट विवि में 12 काे हाेगी मतगणना

Hindi NewsLocalBiharPatnaVoting For Patna Graduate And Teachers Seat Of Legislative Council Today, Aryabhatta Will Have 12 Votes Countingपटनाएक घंटा पहलेकॉपी लिंकराजधानी में 73 बूथों...

‘पालघर में साधुओं की हत्या अधर्म, लेकिन कहीं और हो तो…’, संजय राउत का तंज

शिव सेना सांसद ने इस बहाने यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार पर भी निशाना साधा है.मुंबई: शिव सेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत...