Home राज्यवार बिहार बिहार के हर खेत को पानी पहुंचाने के लिए प्लॉटवार सर्वे शुरू...

बिहार के हर खेत को पानी पहुंचाने के लिए प्लॉटवार सर्वे शुरू : संजय झा

Edited By Neel Kamal | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

हाइलाइट्स

  • मुख्यमंत्री के मिशन ‘हर खेत तक सिंचाई का पानी’ पर काम शुरू, प्लॉटवार सर्वे का काम 7 अगस्त तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित-संजय झा
  • जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने विपक्ष के नेताओं को गिनाई एनडीए सरकार के 15 साल की उपलब्धियां
  • 2004-2005 में बिहार का कुल बजट 23,885 करोड़ का था, जबकि 2020-21 में सिर्फ शिक्षा बजट ही 33,191 करोड़ का है-जल संसाधन मंत्री।

नीलकमल,पटना

बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने बताया कि,मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के हर खेत को पानी पहुंचाने का निश्चय किया है। मार्च में घोषणा करने के बाद 28 जून को उन्होंने जल संसाधन विभाग के ‘उत्कृष्ट सिंचाई उन्नत फसल अभियान’ का प्रेजेंटेशन देखा था। इसके तहत अब किस जिले में किस तरह का और कितनी अतिरिक्त सिंचाई क्षमता सृजन की जरूरत है, इसके सटीक आकलन के लिए प्लॉटवार सर्वे का काम शुरू हो चुका है। जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने बताया कि, सर्वे के इस काम को 7 अगस्त तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

विपक्ष के नेताओं को जल संसाधन मंत्री की नसीहत

बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने बिहार के एनडीए सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए, विपक्ष को पिछले 15 साल में हुए विकास के आंकड़ों का आकलन करने की नसीहत दी है। जल संसाधन मंत्री ने कहा कि एनडीए सरकार की उपलब्धियों को नकारने वाले नेताओं को जानना चाहिए कि, 2004-2005 में बिहार का कुल बजट 23,885 करोड़ का था, जबकि 2020-21 में सिर्फ शिक्षा बजट ही 33,191 करोड़ का है।

एनडीए के शासनकाल में बेहतर हुई शिक्षा व्यवस्था : संजय झा

बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने यह भी कहा कि बिहार में 1960 से 2005 तक एक भी इंजीनियरिंग कॉलेज नहीं खुले थे, लेकिन 2005 के बाद नीतीश कुमार के निश्चय के तहत बिहार के सभी 38 जिलों में इंजीनियरिंग कॉलेज की स्थापना की गई। संजय झा ने यह भी कहा कि 2005 तक बिहार में एक भी सेंट्रल यूनिवर्सिटी नहीं था, लेकिन आज बिहार में दो केंद्रीय विश्वविद्यालय मौजूद है। इसी प्रकार 2005 में 12% बच्चे स्कूल का मुंह तक नहीं देख पाते थे, और यह सभी बच्चे दलित और महादलित परिवारों से आते थे। जल संसाधन मंत्री ने यह भी कहा कि एनडीए के 15 साल के शासन में यह नीतीश कुमार का न्याय के साथ विकास का ही परिणाम है कि, आज ऐसे बच्चों की संख्या 1 प्रतिशत से भी कम रह गई है। संजय झा ने कहा कि नीतीश कुमार के निश्चय के तहत बिहार में अनेक B.Ed कॉलेज, हर जिले में पालिटेक्निक, एएनएम और जीएनएम संस्थान के साथ कई आईटीआई संस्थान खुल चुके हैं।

एनडीए के 15 साल के शासनकाल में अस्पतालों का हुआ कायाकल्प

बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने कहा कि फरवरी 2006 के सर्वे के अनुसार बिहार के सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिए हर महीने औसतन 39 मरीज ही आते थे, क्योंकि उस वक्त ना तो डॉक्टर मौजूद होते थे ना ही कोई सुविधा थी। आरजेडी की सरकार ने अपने 15 साल के कार्यकाल में अस्पताल व्यवस्था को पूरी तरह से चौपट कर रख दिया था। लेकिन, नीतीश कुमार के निश्चय और एनडीए के 15 साल के शासन काल में अस्पतालों को कायाकल्प कर दिया गया। जिसके कारण अब हर महीने औसतन 10 हजार मरीज अस्पताल में पहुंच रहे हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

भगवती के स्कंदमाता स्वरूप की भक्तों ने की वंदना

जागरण संवाददाता, बाहरी दिल्ली : कोरोना काल में शारदीय नवरात्र को लेकर हर दिन भक्त आराध्य देवी की स्तुति कर रहे हैं।...

पटना में कांग्रेस मुख्यालय पर आईटी की रेड, शक्ति सिंह गोहिल बोले- छापा क्यों डाला गया, पब्लिक सब जानती है

कांग्रेस सांसद व बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि कोई कितना भी परेशान करे, कोई फर्क नहीं पड़ेगा। राहुल गांधी के...

दिल्ली के सभी वार्डों में जन औषधि केंद्र खोले जाने की योजना : आदेश गुप्ता

जागरण संवाददाता, बाहरी दिल्ली : आदर्श नगर वार्ड 17 में प्रधानमंत्री जन औषधि योजना के अंतर्गत जन औषधि केंद्र का शुभारंभ किया...

Delhi Pollution 2020: अगले 24 घंटे में बिगड़ेंगे हालात, सांस लेना होगा दुश्वार; आने वाले दिनों में ‘गैस चैंबर’ बन सकती है दिल्‍ली

नई दिल्ली । दिल्ली में बृहस्पतिवार सुबह स्मॉग की चादर में लिपटी रही। इस वजह से हवा की गुणवत्ता खराब रही। दिल्ली में...

बिहार में क्या होगा देखिए/BIG NEWS ON BIHAR ELECTION BY SHAMBHU

बहुजन पोस्ट डॉट कॉम Amazon Website Link: यदि आप ऊपर दिए गए लिंक से कोई भी सामान खरीदते है तो Amazon से हमें कुछ आर्थिक...