Home राज्यवार दिल्ली मेहनत से पाया मुकाम, छात्राओं ने फहराया परचम

मेहनत से पाया मुकाम, छात्राओं ने फहराया परचम

प्रियंका दुबे मेहता, गुरुग्राम

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने बारहवीं कक्षा के परिणामों की घोषणा सोमवार को की। शहर के विद्यार्थियों ने इस परीक्षा में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अच्छे अंक अर्जित किए। दिल्ली पब्लिक स्कूल, गुरुग्राम सेक्टर 45 की छात्रा दिशा मुखर्जी ने 99 प्रतिशत अंक कला संकाय में, श्री एसएन सिद्धेश्वर स्कूल की ईशा गुप्ता ने 98.8 प्रतिशत अंक वाणिज्य संकाय में और सलवान पब्लिक स्कूल की छात्रा तान्या गुप्ता ने 98.6 प्रतिशत अंक विज्ञान संकाय में हासिल कर अपने-अपने स्कूलों में पहला स्थान प्राप्त किया है। मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करना चाहती हैं दिशा मुखर्जी

विषयवार अंक :

मनोविज्ञान – 100

भूगोल – 99

फ्रेंच – 99

राजनीतिक विज्ञान – 99

अंग्रेजी – 98

कुल प्रतिशत अंक – 99 दिल्ली पब्लिक स्कूल की छात्रा दिशा मुखर्जी ने कला संकाय में 99 प्रतिशत अंक प्राप्त किए और स्कूल में पहले स्थान पर रहीं। साइकोलॉजी यानि मनोविज्ञान दिशा का पसंदीदा विषय है और वे इसी क्षेत्र में आगे की पढ़ाई करना चाहती हैं। अनुशासन से मिली सफलता

दिशा ने शुरुआत से ही लक्ष्य तय कर लिया था कि उन्हें अच्छे अंक लाने हैं। चाहे कुछ भी हो, उन्होंने समय सारिणी बनाकर नियमित पढ़ाई का सिलसिला कभी टूटने नहीं दिया। उनका कहना है कि किसी भी क्षेत्र में सफलता अनुशासन के साथ की गई मेहनत से मिलती है। साहित्य और संस्कृति में रुचि

डीएलएफ फेज-पांच निवासी दिशा को अलग-अलग लेखकों की किताबें पढ़ने का शौक बचपन से है। इसके अलावा नृत्य और कुकिग का भी शौक है, जिसके चलते वे हमेशा किचन में मां का हाथ बंटाती हैं। वे ब्लॉग से लेकर विभिन्न जर्नल में भी समसामयिक मुद्दों पर आलेख लिखती हैं। माता-पिता और स्कूल का सहयोग

दिशा अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता और स्कूल शिक्षकों के साथ-साथ अपने दोस्तों को भी देती हैं। उनका कहना है कि कभी किसी ने उनपर अपेक्षाओं का बोझ नहीं डाला। शिक्षकों ने हर समय उनकी मदद की और उनकी समस्याओं के समाधान दिए। पिता जयदेब मुखर्जी और मां पूनम मुखर्जी बेटी की इस सफलता से खुश हैं और उनका कहना है कि शुरुआत से ही पढ़ाई में अव्वल रहने वाली दिशा ने परीक्षाओं के लिए जीतोड़ मेहनत की थी। मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करने का लक्ष्य

वैसे तो मनोविज्ञान दिशा का पसंदीदा विषय रहा है, लेकिन हाल में उन्होंने इतने मामले देखे कि देश के विभिन्न हिस्सों से जिस तरह अवसाद और तनाव के भयावह परिणाम देखने को मिल रहे हैं, ऐसे में उन्होंने सोचा कि वे इसी क्षेत्र में काम करेंगी और देश से इस समस्या को दूर करने में सहयोग देंगी। इसके लिए वे आगे की पढ़ाई लेडी श्रीराम कॉलेज से करना चाहती हैं।

चित्रकार बनना चाहती हैं कॉमर्स की टॉपर ईशा विषयवार अंक :

शारीरिक शिक्षा- 100

अर्थशास्त्र – 98

हिदी – 98

अंग्रेजी – 99

बिजनेस स्टडीज – 99

कुल प्रतिशत अंक – 98.8 सेक्टर नौ स्थित एसएन सिद्धेश्वर स्कूल की छात्रा ईशा गुप्ता ने कॉमर्स (वाणिज्य संकाय) में 98.8 प्रतिशत अंक अर्जित कर स्कूल में पहला स्थान प्राप्त किया है। ईशा को अपनी इस सफलता पर खुशी है, लेकिन उन्हें लगता है कि अगर उन्होंने हिदी और बिजनेस स्टडीज का पेपर दिया होता तो अंक और बेहतर आते। घंटों में नहीं बांधी पढ़ाई

पढ़ाई में नियमितता जरूर थी, लेकिन ईशा ने घंटों में बांधकर पढ़ाई नहीं की। उन्होंने आवश्यकता समझकर विषयों पर काम किया। कमजोर विषयों को ज्यादा समय दिया और पसंदीदा विषयों को लगातार पढ़ती रहीं। पढ़ाई के बीच-बीच में वे पेंटिग भी करती थीं। उनका कहना है कि रंगों को देखते ही उनका तनाव दूर हो जाता है। वे अपने मनोभावों और आसपास की स्थितियों को कैनवस पर उतारती हैं। चित्रकार बनना चाहती हैं ईशा

ईशा ने भले ही कॉमर्स को चुना हो, लेकिन कला के प्रति उनका लगाव इतना है कि वे चित्रकार बनना चाहती हैं। उनका कहना है कि व्यक्ति को अपने पसंदीदा क्षेत्र को चुनना चाहिए और उनके माता पिता ने उन्हें यह आजादी दी है। वे आगे की पढ़ाई फाइन आ‌र्ट्स में करना चाहती हैं। माता-पिता का सहयोग

सेक्टर सात निवासी ईशा के पिता नीरज कुमार गुप्ता व्यवसायी हैं और मां गृहणी हैं। पिता के मुताबिक ईशा शुरुआत से ही हर विषय में अच्छे अंक लाती थीं। ईशा के मुताबिक माता-पिता ने कभी अपने पसंद के विषय लेने और पढ़ाई के लिए दबाव डालने जैसी बात नहीं की। ईशा ने किसी विषय की ट्यूशन भी नहीं ली।

फाइनेंस के क्षेत्र में जाना चाहती हैं तान्या

सलवान पब्लिक स्कूल की छात्रा तान्या गुप्ता ने विज्ञान संकाय में 98.6 प्रतिशत अंक प्राप्त कर स्कूल में पहले स्थान पर रहीं। उन्होंने बताया कि पढ़ाई में निरंतरता ने उन्हें यह सफलता दिलवाई। गणित – 99

अर्थशास्त्र – 99

रसायन शास्त्र – 98

अंग्रेजी – 98

पेंटिग – 99

कुल प्रतिशत अंक – 98.6 डीएलएफ फेज पांच निवासी तान्या गुप्ता सलवान पब्लिक स्कूल की छात्रा हैं। बारहवीं कक्षा में विज्ञान संकाय में इन्होंने 98.6 प्रतिशत अंक प्राप्त करके स्कूल में पहला स्थान प्राप्त किया है। तान्या आगे की पढ़ाई दिल्ली विश्वविद्यालय से करना चाहती हैं और फाइनेंस के क्षेत्र में करियर बनाने का लक्ष्य बनाया हुआ है। नियमित पढ़ाई ने बनाया टॉपर

तान्या गुप्ता ने लगातार सात से आठ घंटे की नियमित पढ़ाई की। उनका कहना है कि वे पढ़ाई को बतौर शौक लेती हैं। यही वजह है कि वे अन्य चीजों में समय देने की बजाए पढ़ाई ही करतीं थीं। उन्होंने हमेशा यही चाह रखी कि हर क्षेत्र विषय को गहराई से जानें, ऐसे में अंकों के लिए नहीं बल्कि अपने ज्ञान को बढ़ाने के लिए गहराई से चीजों को समझने पर जोर दिया। विषयों को लेकर रही उलझन

तान्या के मुताबिक उन्हें शुरू से यह इच्छा थी कि वे फाइनेंस के क्षेत्र में जाएं। उन्होंने ग्यारहवीं में विषय चुनते हुए भी काफी परेशानी हुई और अंत में साइंस लिया। बाद में करियर काउंसलिग ली तो पता लगा कि विज्ञान के साथ अर्थशास्त्र लेकर वे अपने पसंदीदा क्षेत्र में जा सकती हैं। ऐसे में उन्होंने अर्थशास्त्र के साथ विज्ञान विषयों की पढ़ाई की। माता-पिता ने नहीं डाला दबाव

तान्या के पिता नितिन गुप्ता और मां प्रिया गुप्ता अलग-अलग बहुराष्ट्रीय कंपनियों में प्रतिष्ठित पदों पर कार्यरत हैं। तान्या के मुताबिक माता-पिता ने कभी यह नहीं कहा कि उन्हें इतने अंक लाने ही हैं। उन्होंने तनाव के पलों में संबल दिया और बिना फल की इच्छा किए मेहनत करते रहने को कहा। तान्या ने बताया कि स्कूल शिक्षकों से भी उन्हें लगातार सहयोग मिला है। फुर्सत के क्षणों में संगीत सुनना है पसंद

वैसे तो स्कूल की बेहतरीन वॉलीबॉल खिलाड़ी रहीं हैं लेकिन तान्या को संगीत सुनना सबसे अधिक पसंद है। तनावमुक्ति और एकरसता को दूर करने के लिए अच्छे बोल वाले गीत सुनना पसंद करती हैं। सप्ताहांत में पिता के साथ किचन में अपनी पाक-कला की प्रतिभा भी दिखाती हैं। तान्या को किताबें पढ़ना भी पसंद है।

सिविल सर्विसेज में जाना चाहती हैं आकर्षी

विषयवार अंक :

अंग्रेजी – 100

राजनीति विज्ञान – 99

गणित – 98

इतिहास – 98

अर्थशास्त्र – 97

कुल प्रतिशत अंक – 98.4 एमिटी इंटरनेशनल स्कूल, सेक्टर 46 की छात्रा आकर्षी अग्रवाल ने कला संकाय में 98.4 प्रतिशत अंक हासिल करके स्कूल में पहला स्थान प्राप्त किया है। आगे की पढ़ाई श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से करना चाहती हैं। उन्होंने पूरे वर्ष परीक्षाओं की तैयारी की। इसके लिए उन्होंने लिस्ट बनाई थी कि उन्होंने पूरे साल किस तरह से विषयों को पढ़ना है। अपने स्कूल की हेडगर्ल रहीं आकर्षी ने दसवीं कक्षा में भी स्कूल में पहला स्थान प्राप्त किया था। उनका लक्ष्य सिविल सेवाओं में जाने का है। पढ़ाई के अलावा उन्होंने राष्ट्र स्तरीय प्रतियोगिता ‘यूथ पावर’ में भी स्कूल का प्रतिनिधित्व किया। किताबें पढ़ना, कैरिकेचर बनाना और पर्यावरण पर काम करना उनके पसंदीदा विषय हैं। इसके अलावा नृत्य, बैडमिटन और पेंटिग में भी अपना हाथ आजमाती हैं। सेक्टर 47 निवासी आकर्षी की मां गृहणी हैं और पिता निजी कंपनी में काम करते हैं। आकर्षी के मुताबिक माता-पिता ने हमेशा घर पर पढ़ाई का सहज माहौल दिया। जिससे उन्हें परीक्षा की तैयारी करने में मदद मिली।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

विम्स के 40 मेडिकल छात्र मिले कोरोना पॉजिटिव, आठ आइसोलेशन वार्ड में भर्ती

बिहारशरीफ/गिरियक5 घंटे पहलेकॉपी लिंकपावापुरी मेडिकल कॉलेज स्थित इमरजेंसी वार्ड।एमबीबीएस सेकेंड इयर की परीक्षा के दौरान बिगड़ी थी तबीयत19 अक्टूबर को तबीयत खराब होने के...

Bihar, Patna Election 2020: पटना की पालीगंज और मसौढी विधानसभा सीट पर मतदान का बहिष्‍कार

पटना, जेेएनएन । Bihar, Patna Election News 2020:   जिले की बाढ़, मोकामा, मसौढ़ी, पालीगंज और बिक्रम विधानसभा सीटों पर बुधवार, 28 अक्‍टूबर...

KKR vs DC: फिफ्टी पूरी करने के बाद नितीश राणा ने मैदान पर दिखाई ससुर की जर्सी, जानें इसका कारण

आईपीएल में आज पहले मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स का मुकाबला टूर्नामेंट की मजबूत टीमों में से एक दिल्ली कैपिटल्स से हो रहा...

अब्दुल बारी सिद्दीकी का ‘आप लोगों की अगले 5 साल की गारंटी है’ वाला वीडियो क्यों हो रहा है वायरल?

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Chunav 2020) के पहले चरण के प्रचार थमने के साथ ही आरजेडी के कद्दावर नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी का एक वीडियो...