Home दुनिया नेपाल के पीएम ओली का अयोध्या को लेकर बयान, खड़ा हुआ विवाद

नेपाल के पीएम ओली का अयोध्या को लेकर बयान, खड़ा हुआ विवाद

इमेज कॉपीरइट
HINDUSTAN TIMES

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के एक बयान से विवाद खड़ा हो गया है.

उन्होंने कहा कि भगवान राम का जन्म नेपाल में हुआ था.

अपने सरकारी आवास पर कवि भानुभक्त की जन्मदिन पर हुए समारोह में केपी ओली ने ये बयान दिया. भारत और नेपाल के बीच पहले से ही तनाव चल रहा है.

केपी शर्मा ओली ने दावा कि असली अयोध्या नेपाल के बीरगंज के पास एक गाँव है, जहाँ भगवान राम का जन्म हुआ था.

नेपाल में राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी के नेता कमल थापा ने प्रधानमंत्री केपी ओली के बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है.

उन्होंने कहा कि किसी भी प्रधानमंत्री के लिए इस तरह का आधारहीन और अप्रामाणित बयान देना उचित नहीं है. उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, “ऐसा लगता है कि पीएम ओली भारत और नेपाल के रिश्ते और बिगाड़ना चाहते हैं, जबकि उन्हें तनाव कम करने के लिए काम करना चाहिए.”

भारत और नेपाल में पिछले कुछ महीने से तनाव चल रहा है. नेपाल ने 20 मई को अपना नया नक्शा जारी किया था जिसमें लिपुलेख, लिम्पियाधुरा और कालापानी को अपना इलाक़ा दिखाया था. ये तीनों इलाक़े अभी भारत में हैं लेकिन नेपाल दावा करता है कि ये उसका इलाक़ा है.

तनाव

इमेज कॉपीरइट
HOU YANQI/TWITTER

इसके बाद से दोनों देशों में तनाव बढ़ता गया. हालांकि इससे पहले भारत ने पिछले साल नवंबर में जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने के बाद अपना नक्शा अपडेट किया था. इस नक्शे में ये तीनों इलाक़े थे. भारत का कहना है कि उसने किसी नए इलाक़े को नक्शे में शामिल नहीं किया है बल्कि ये तीनों इलाक़े पहले से ही हैं.

पिछले दिनों भारतीय मीडिया की भूमिका को लेकर भी नेपाल में कड़ी नाराज़गी जताई गई थी. कई भारतीय चैनलों ने प्रधानमंत्री केपी ओली और चीनी राजदूत होउ यांकी को लेकर सनसनीख़ेज़ दावे किए. कुछ चैनलों ने यह स्टोरी चलाई कि ओली को हनी ट्रैप में फंसा दिया गया है.

नेपाल ने इन रिपोर्ट पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई और केबल ऑपरेटरों से कहा कि ऐसे भारतीय न्यूज़ चैनलों को अपनी ज़िम्मेदारी समझते हुए प्रसारण से रोके.

नेपाल के विदेश मंत्री प्रदीप ज्ञावली ने कहा कि उन्होंने भारत में नेपाल के राजदूत नीलांबर आचार्य को भारतीय विदेश मंत्रालय के सामने कड़ी आपत्ति दर्ज कराने के लिए कहा है.

नीलांबर ने कहा कि भारतीय मीडिया नेपाल और भारत के द्विपक्षीय संबंधों को और ख़राब कर रहा है.

हालांकि चीन की राजदूत की सक्रियता को लेकर नेपाल में विरोध भी दर्ज हुआ है.

नेपाल में विपक्ष से लेकर मीडिया तक में सवाल उठा कि घरेलू राजनीति में किसी राजदूत की ऐसी सक्रियता ठीक नहीं है. मुलाक़ातों का यह दौर पिछले ढाई महीने से चल रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

प्ले-ऑफ में 3 टीमों की जगह लगभग पक्की, KKR समेत 5 टीमें चौथे नंबर की दौड़ में

2 घंटे पहलेकॉपी लिंकआईपीएल सीजन-13 के लगभग 70% मैच खत्म हो चुके हैं। अब सभी 8 टीमों के सामने प्ले-ऑफ में जगह बनाने की...

S-400 टेस्‍ट पर तुर्की के राष्‍ट्रपति ने अमेरिका को दी धमकी, ‘जानते नहीं किससे भिड़ रहे’

अंकारा रूस के S-400 मिसाइल ड‍िफेंस सिस्‍टम पर नाटो के दो सदस्‍य देशों अमेरिका और तुर्की के बीच तीखी जुबानी जंग शुरू हो गई...

कोविड-19: रेमडेसिवीर के इस्तेमाल को अमरीका ने दी मंज़ूरी – BBC News हिंदी

एक घंटा पहलेइमेज स्रोत, ULRICH PERREYअमरीकी नियामक ने अस्पताल में कोविड-19 के कारण अस्पताल में भर्ती मरीज़ों के लिए रेमडेसिवीर दवा के इस्तेमाल को...

सेमिनार व कार्यशाला से छात्रों को प्रेरित करती हैं रचना

समाज की बेहतरी के लिए कुछ करना है तो सबसे पहले बच्चों को सही राह दिखाएं। बच्चों को सही राह दिखाने के बाद खुद...

Neha Kakkar Wedding: नेहा कक्कड़ ने रोहनप्रीत सिंह के साथ दिल्ली में की शादी, वायरल हुआ वीडियो

नई दिल्ली, जेएनएनl आखिकार गायिका नेहा कक्कड़ ने दिल्ली में रोहनप्रीत सिंह से शादी कर लीl शादी में कपल के करीबी दोस्त और परिवार...