Home बहुजन विशेष अनुसूचित जाति जनजाति के अभ्यर्थियों के साथ में भारी नाइंसाफी - Ajmernama

अनुसूचित जाति जनजाति के अभ्यर्थियों के साथ में भारी नाइंसाफी – Ajmernama

राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर में राजस्थान प्रशासनिक सेवा के परीक्षा परिणाम में डेढ़ गुना प्रत्याशी पास करके अनुसूचित जाति जनजाति के अभ्यर्थियों के साथ में भारी नाइंसाफी की है यह बात अनुसूचित जाति जनजाति संगठनों का अखिल भारतीय परिसंघ बाड़मेर के नवनियुक्त अध्यक्ष लक्ष्मण बडेरा राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर के अध्यक्ष दीपक उप्रेती राजस्थान लोक सेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष डॉ ललित के पवार भारतीय जनता पार्टी के राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया उप नेता राजेंद्र सिंह राठौड़ प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया को पत्र लिखकर लक्ष्मण बडेरा ने अवगत कराया कि राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा किसी भी पद की भर्ती पर पदों की संख्या के 3 गुना अभ्यर्थियों को पास किया जाता है और उन्हें साक्षात्कार हेतु बुलाया जाता है राजस्थान प्रशासनिक सेवा के प्री एग्जाम में 15 गुना लोगों को बुलाया गया और मेन एग्जाम के परिणाम में तीन गुना की बजाय डेढ़ गुना लोगों को साक्षात्कार के लिए आमंत्रित किया गया है इससे सबसे ज्यादा समाज के वंचित अनुसुचित जाति जनजाति के योग्य प्रतिभाओं को भारी आघात लगा है उन लोगों की आशाओं पर आयोग ने पानी फेर दिया आयोग ने यह नई परंपरा डालकर राजस्थान के विकास के लिए योग्यतम प्रतिभाएं जो निखर कर आती थी उस पर गैरजरूरी अवरोध पैदा किया है इस अवरोध से आयोग की नियत पर शक जाहिर होता है लक्ष्मण बडेरा ने मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री वह आयोग के अध्यक्ष तथा भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को इसमें हस्तक्षेप करने की मांग की है दलित समाज की हितों की रक्षा करने की दम भरने वाली सरकार अनुसूचित जाति जनजाति के हितों की अनदेखी कर रही है दलित नेता ने बताया कि इस प्रकार अनुसूचित जाति जनजाति वंचित और पिछड़े वर्ग को भारी नुकसान पहुंचाया गया है ज्ञापन में लक्ष्मण बड़ेरा ने आयोग व मुख्यमंत्री से मांग की है कि डेढ़ गुना को 3 गुना बुलाकर के राज्य के प्रतिभाओं को राजस्थान के विकास में भूमिका निभाने का अवसर प्रदान करने की जरूरत बताया है लक्ष्मण बडेरा ने बताया के स्वीकृत 1053 पदों पर 3159 अभ्यार्थियों को बुलाया जाना था इनके नहीं बुलाने से इस वर्ग के लोग भारी हतोत्साहित हुए हैं और रोष व्याप्त है आयोग को अपने निर्णय पर पुनर्विचार कर डेढ़ गुना लोगों को बुलाने की मांग की

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Live Telecast | धम्मचक्र गतिमान करने में भिक्खुसंघ की भूमिका | दीक्षोत्सव 2020 |

बहुजन पोस्ट डॉट कॉम Live Telecast | धम्मचक्र प्रवर्तन दिन AWAAZ INDIA TV

बिहार चुनाव: नीतीश के सामने JDU विधायक ने सांसद को दी खुली चुनौती, कहा- त्यागपत्र देकर चुनाव लड़ कर देख लें

दीनबंधु सिंह,सिवान। सिवान के दरौंदा विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी कर्णजीत सिंह के चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व केंद्रीय मंत्री रविशंकर...

डीयू ने जारी की तीसरी कटऑफ लिस्ट, कई पाठ्यक्रमों में दाखिले बंद

जागरण संवाददाता, नई दिल्ली : दिल्ली विश्वविद्यालय ने स्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए तीसरी कटऑफ लिस्ट शनिवार रात जारी कर दी। कई...

बिहार की धरती पर रोजगार की बात उठाना आश्चर्यजनक, डिबेट में बोले भाजपा प्रवक्ता तो गौरव वल्लभ ने यूं दिया जवाब

बिहार विधानसभा चुनाव में रोजगार का मुद्दा गर्माया हुआ है। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव चुनाव प्रचार में लगातार दोहरा रहे हैं कि महागठबंधन की...

सर्च पर गूगल की दादागिरी खत्म करेगा एपल! बना रहा है गूगल का विकल्प

Hindi NewsDb originalExplainerBhaskar Explainer: Apple Vs Google: All You Need To Know; Google Anti trust Case | Apple Received Hefty Payments From Google |...