Home राज्यवार उत्तर प्रदेश Barabanki News: ऑनलाइन पढ़ाई के कारण प्राइवेट स्कूलों से लोगों का मोहभंग,...

Barabanki News: ऑनलाइन पढ़ाई के कारण प्राइवेट स्कूलों से लोगों का मोहभंग, सरकारी स्कूलों में दोगुने ऐडमिशन

Edited By Aishwary Rai | नवभारत टाइम्स | Updated:

सांकेतिक तस्वीर

बाराबंकी

लॉकडाउन से लोग भले नुकसान की बात कह रहे हैं हों लेकिन सरकारी इंटर कॉलेजों को इसका फायदा हुआ है। सरकारी कॉलेजों में ऐडमिशन लेने वालों की संख्या दोगनुी तक हो गई है। जिन सरकारी इंटर कॉलेजों में एक क्लास के लिए पूरे स्टूडेंट्स नहीं मिलते थे, वहीं अब तीन सेक्शन तक फुल हो रहे हैं। आलम यह है कि राजकीय और ऐडेड कॉलेजों में प्रवेश रोकने पड़ रहे हैं, क्योंकि सीटें फुल हो रही हैं। जीआईसी में ऐसे हालात पिछले दो दशक में पहली बार बने हैं।

40 प्रतिशत बढ़े प्रवेश

जिला मुख्यालय के राजकीय इंटर कॉलेज में प्रतिदिन प्रवेश के लिए 50 से ज्यादा अभिभावक तथा छात्र पहुंच रहे हैं। पिछले सालों की तुलना में 30 प्रतिशत से ज्यादा प्रवेश अब तक किए जा चुके हैं। सबसे ज्यादा मारामारी कक्षा 11 में है। यहां अब तक बॉयो ग्रुप के दो सेक्शन बमुश्किल चल पाते थे। कई बार एक सेक्शन भर के बच्चे ही नहीं मिल पाते थे। इस बार 70-70 छात्रों वाले दो सेक्शन फुल हो चुके हैं। तीसरे सेक्शन में प्रवेश जारी है। तीसरे सेक्शन के लिए 30 से ज्यादा छात्रों के प्रवेश हो चुके हैं।

प्रिसिंपल जयकरन यादव ने बताया, ‘यह मेरे लिए अप्रत्याशित है। इस बार पिछले सालों की तुलना में 30 प्रतिशत ज्यादा ऐडमिशन हो चुके हैं। यह हाल तब है जबकि अभी प्रवेश की अंतिम तिथि में 20 दिन शेष हैं। ऐसे ही हालात रहे तो जल्दी ही नो ऐडमिशन का बोर्ड लगना पड़ेगा।’

इसलिए प्राइवेट से किनारा

प्रिंसिपल जयकरन बताते हैं कि एकाएक प्रवेश बढ़ने की वजह कॉलेजों में पढ़ाई के स्तर में सुधार है। इसके साथ आर्थिक तंगी के कारण प्राइवेट कॉलेजों की ऊंची फीस न दे पाने की वजह से भी अभिभावक बच्चों का दाखिला सरकारी में करवा रहे हैं। हालांकि अभिभावकों का कहना है कि जब ऑनलाइन ही पढ़ना है तो प्राइवेट में क्यों इतनी फीस दें।

13 कमरे और 2200 का प्रवेश

जीआईसी निंदूरा में नए प्रवेश बंद कर दिए गए हैं। यहां पर अध्यापन के लिए 13 कमरें हैं। इसमें कक्षा नौ से कक्षा 12 तक के छात्र-छात्राओं के अध्यापन की व्यवस्था है। प्रतिदिन 20 से ज्यादा छात्र व छात्राएं बिना प्रवेश के ही वापस हो रहे हैं। यहां पर कक्षा 9 में अब तक 450, कक्षा 10 में 520, कक्षा 11 में साइंस तथा कला वर्ग में 590 और कक्षा 12 में 555 प्रवेश हो चुके हैं।

इस ब्लॉक के राजकीय हाईस्कूल मित्तई, घुंघटेर, समरदा, काजी बेहटा, बढ़ाईडीह , लखनऊ के राजकीय हाईस्कूल खंतारी और टिकरी के कक्षा 10 पास बच्चे भी आगे की पढ़ाई के लिए यहां पर प्रवेश लेते हैं। इस बार इतने प्रवेश हो चुके हैं, यदि क्लास चली तो उनको ही बैठाना मुश्किल होगा।

जाटा बरौली के जीआईसी में भी प्रवेश बंद

बंकी के जीआईसी जाटा बरौली में भी क्षमता से ज्यादा प्रवेश हो चुके हैं। शिक्षकों की पहले से कमी है। यहां पर कक्षा छह से 12 तक की क्लास चलती है। कॉलेज में साइंस तथा कला वर्ग की कक्षाएं संचालित हैं। यहां पर कुल 13 कमरे ही हैं। इसके विपरीत अब तक 1225 छात्र-छात्राओं के प्रवेश हो चुके हैं।

“ऑनलाइन पढ़ाई के कारण बच्चे सस्ती और अच्छी शिक्षा की आस में इसमें प्रवेश की जद्दोजहद कर रहे हैं। जीआईसी निंदूरा, सुबेहा तथा जाटा बरौली आदि कॉलेजों में आधारभूत ढांचा और शिक्षकों की उपलब्धता के अनुसार प्रवेश पूरे हो चुके हैं। ऐसे में वहां पर प्रवेश रोके गए हैं।”-राजेश कुमार वर्मा, DIOS, बाराबंकी

प्रिंसिपल सुधांशु त्रिपाठी ने बताया कि फिलहाल ऑनलाइन कक्षा चल रही है तो कई ग्रुप बनाकर कार्य किया जा रहा है। नियमित क्लास चली तो जितने प्रवेश हो गए हैं, उन्हें बैठाना ही मुश्किल होगा।

प्रवेश बढ़ने की वजहें

– निजी और राजकीय कॉलेजों में एक ही तर्ज पर ऑनलाइन पढ़ाई होना

– अभिभावकों की आर्थिक तंगी के कारण प्राइवेट की फीस देने में मुश्किल

– केवल सस्ती एनसीआरटीई की किताबों का ही प्रयोग, निजी में महंगे प्रकाशकों की किताबें लेने का दबाव

– ड्रेस सस्ती मिलना, जबकि निजी कॉलेजों में महंगी ड्रेस खरीदने का दबाव

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

ऐतिहासिक है राष्ट्रीय कृषि नीति : अन्नपूर्णा

संवाद सूत्र, डोमचांच (कोडरमा) डोमचांच प्रखंड अंतर्गत फुलवरिया मिडिल स्कूल प्रांगण में राष्ट्रीय कृषि नीति 2020 के समर्थन में किसान चौपाल का आयोजन...

प्लूरल्स पार्टी की पुष्पम प्रिया चौधरी ने जारी किया बिहार चुनाव 2020 के लिए मेनिफिस्टो, जानें मुख्य बातें

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर द प्लूरल्स पार्टी ने चुनावी मेनिफिस्टो जारी कर दिया है। 2020-2030 के 8 दिशा आठों पहर के नाम...

हाथरस पीड़िता के परिवार ने सुप्रीम कोर्ट से की सीबीआई जांच की निगरानी करने की मांग, यूपी सरकार ने किया समर्थन

नई दिल्लीहाथरस पीड़िता के परिवार ने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई है कि वो सीबीआई जांच पर अपनी निगरानी रखे। यूपी सरकार के वकील...

सेविंग अकाउंट में बचे हैं 18 हजार रुपये वाले स्टेटमेंट पर आदित्य नारायण ने दी सफाई, कहा- मेरे बयान को ट्विस्ट किया गया

सिंगर आदित्य नारायण इस समय सुर्खियों में हैं। सेविंग अकाउंट में 18 हजार रुपये बचे हैं, ऐसा उन्होंने बयान दिया था। एक न्यूज...

बिहार चुनाव का जातीय गणित: 14% आबादी वाले यादव वर्ग के 91 उम्मीदवार , EBC है काफी अहम

बिहार चुनाव के पहले चरण के मतदान में अब दो हफ्ते से भी कम का समय रह गया है। इस बार राज्य में ज्यादातर...