Home राज्यवार बिहार 'गरीब कल्याण रोजगार अभियान' के तहत रेलवे बिहार के 32 जिलों में...

‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ के तहत रेलवे बिहार के 32 जिलों में प्रवासियों को दे रहा रोजगार

बिहार में रेलवे की परियोजनाओं में बड़ी संख्या में प्रवासी कामगारों को रोजगार दिया जा रहा है.

बिहार में फिलहाल रेलवे (Railway) की 37 परियोजनाएं चल रही हैं. इसमें प्रवासी कामगारों (Migrant Laborer) को रोजगार (Employment) दिया जा रहा है.

पटना. लॉकडाउन के दौरान अपने गांव लौटने वाले प्रवासी श्रमिकों (Migrant Laborers) को रोजगार (Employment) प्रदान करने के लिए भारतीय रेल मिशन मोड पर काम कर रहा है. पूर्व मध्य रेलवे (Railway) के द्वारा ऐसे तमाम प्रवासी श्रमिकों को ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ (Garib Kalyan Rojgar Abhiyan) के तहत स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर पर मुहैया कराए जा रहे हैं. प्रवासी श्रमिकों को नई लाइन, दोहरीकरण, आमान परिवर्तन, विद्युतीकरण से जुड़े कार्यों में लगाया जा रहा है.

गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत बिहार के 32 जिलों के प्रवासी श्रमिकों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं. योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए इन जिलों में एक-एक कोऑर्डिनेटर नियुक्त किये गये हैं.

37 परियोजनाओं में प्रवासी कामगारों को दिया जा रहा रोजगार

बिहार की कुल 37 रेल परियोजनाओं में प्रवासी कामगारों को लगाया गया है. रेलवे के मुताबिक 20 जून से 07 अगस्त तक प्रवासी कामगारों के लिए 1 लाख 35 हजार 425 मानव दिवस रोजगार सृजित किया गया. और इसके लिए मजदूरों को 262.82 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया.राज्य में दोहरीकरण परियोजना के तहत समस्तीपुर-दरभंगा, कटरिया-कुरसेला, सगौली- बाल्मिकीनगर, मुजफ्फरपुर-सगौली, रमना-सिंगरौली, करैला रोड- शक्तिनगर परियोजनाओं में प्रवासी श्रमिकों को उनके कौशल के अनुसार रोजगार दिए जा रहे हैं. इसी तरह खगड़िया- कुशेश्वर स्थान, कोसी ब्रिज, हाजीपुर-सगौली, सकरी- हसनपुर, छपरा-मुजफ्फरपुर, अररिया-सुपौल, बिहारशरीफ- बरबीघा, इस्लामपुर- नटेसर, कोडरमा-तिलैया नई लाइन परियोजना एवं सकरी- लौकहाबाजार- निर्मली तथा सहरसा-फारबिसगंज एवं जयनगर-दरभंगा-सीतामढी- नरकटियागंज- भिखनाठोढ़ी आमान परिवर्तन कार्य में प्रवासी श्रमिक अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर रहे हैं. इसके अलावा विद्युतीकरण कार्यों में प्रवासी कामगारों को रोजगार मिल रहे हैं.

पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने कहा  कि गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत बिहार के 32 जिलों में प्रवासी श्रमिकों को रोजगार मुहैया कराए जा रहे हैं. इन 32 जिलों में से 23 जिले पूर्व मध्य रेलवे के  क्षेत्राधिकार में आते हैं. इन जिलों में रेलवे के कार्य में प्रवासी श्रमिकों को रोजगार दिए जा रहे हैं.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

VIDEO: दूसरी महिला के साथ चल रहा था चक्कर, पति ने पत्नी के साथ पानी में किया कुछ ऐसा…

मृत्युंजय मिश्रा/बोकारो: झारखंड के बोकारो के तेनुघाट ओपी क्षेत्र में एक महिला ने पति पर साजिश के तहत घुमाने के नाम पर तेनुघाट डैम...