Home मनोरंजन चिट्ठी में सुशांत के परिवार का दर्द: कहा- बदमाशों के झुंड से...

चिट्ठी में सुशांत के परिवार का दर्द: कहा- बदमाशों के झुंड से घिरा था सुशांत, पैसों के दम पर वापस आया हनी ट्… – Dainik Bhaskar

मुंबई34 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

यह तस्वीर सुशांत की मौत के दिन उनके पिता की है। निधन की जानकारी मिलते ही पूरा परिवार सदमे में आ गया था।

  • सुशांत की मौत के करीब 2 महीने बाद उनके परिवार ने पहली बार 9 पेज का बयान जारी किया है
  • पत्र में लिखा- सुशांत को ठगों-बदमाशों और लालचियों के झुंड ने घेर रखा था

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के करीब 2 महीने बाद उनके परिवार ने पहली बार 9 पेज का बयान जारी किया है। इसमें कहा गया कि सुशांत के परिवार, जिसमें चार बहनें और एक बूढ़ा बाप हैं को सबक सिखाने की धमकियां दी जा रही हैं। एक-एक करके सबके चरित्र पर कीचड़ उछाला जा रहा है। इसके अलावा सुशांत के परिवार ने रिया चक्रवर्ती और मुंबई पुलिस पर भी आरोप लगाए हैं। यह पत्र उनके पिता की तरफ से लिखा गया है।

सुशांत के परिवार ने फिराक जलालपुरी के एक शेर से पत्र की शुरुआत करते हुए लिखा है..‘तू इधर-उधर की ना बात कर ये बता कि काफिला क्यों लुटा, मुझे रहजनों से गिला नहीं तेरी रहबरी का सवाल है।’

पत्र में परिवार की 4 बड़ी बातें:

  • ‘कुछ साल पहले की ही बात है। न कोई सुशांत को जानता था, न उसके परिवार को। आज सुशांत की हत्या को लेकर करोड़ों लोग व्यथित हैं और सुशांत के परिवार पर चौतरफा हमला हो रहा है। अखबार पर अपना नाम चमकाने की गरज से कई फर्जी दोस्त-भाई-मामा बन अपनी-अपनी हांक रहें हैं। ऐसे में बताना जरूरी हो गया कि आखिर ‘सुशांत का परिवार’ होने का मतलब क्या है?’
  • ‘सुशांत को ठगों-बदमाशों लालचियों का झुंड घेर लेता है। इलाके के रखवाले को कहा जाता है कि बचाने के बजाय रखवाले उसके मृत शरीर की फोटो प्रदर्शनी लगाने लगते हैं। उनकी लापरवाही से सुशांत मरा। इतने से मन नहीं भरा तो उसके मानसिक बीमारी की कहानी चला उसके चरित्र को मारने में जुट जाते हैं। तमाशा करने वाले और तमाशा देखने वाले ये ना भूलें कि वे भी यहीं हैं। अगर यही आलम रहा तो क्या गारंटी है कि कल उनके साथ ऐसा ही नहीं होगा?’
  • रिया चक्रवर्ती पर आरोप लगते हुए परिवार ने लिखा,’सुशांत के परिवार का सब्र का बांध तब टूटा जब महीना बीतते-ना-बीतते महंगे वकील और नामी पीआर एजेन्सी से लैस ‘हनी ट्रैप’ गैंग डंके की चोट पर वापस लौटता है। सुशांत को लूटने-मारने से तसल्ली नहीं हुई।’
  • पिता ने मदद की अपील करते हुए आगे कहा,’मदद करें। अग्रजों के वारिस हैं, एक अदना हिंदुस्तानी मरे, इन्हें क्यों परवाह हो? पीड़ित से कुछ मिलना नहीं, सो मुलजिम की तरफ हो लेते हैं।’ पिता ने आरोप लगाया,’अंग्रेजों के एक और बड़े वारिस तो जालियावाला-फेम जनरल डायर को भी मात दे देते हैं। सुशांत के परिवार को कहते हैं कि तुम्हारा बच्चा पागल था, सुसाइड कर सकता था।’

‘सवाल सुशांत की हत्या का है’
सुशांत के पिता ने आगे लिखा है, ‘सवाल सुशांत की निर्मम हत्या का है। सवाल ये भी है कि क्या महंगे वकील कानूनी पेचीदगियों से न्याय की भी हत्या कर देंगे? इससे भी बड़ा सवाल है कि अपने को एलिट समझने वाले, अंग्रेजियत में डूबे, पीड़ितों को हिकारत से देखने वाले नकली रखवालों पर लोग क्यों भरोसा करें?”

सीबीआई ने केस दर्ज किया

सुशांत 14 जून को अपने बांद्रा स्थित घर में मृत पाए गए थे। पहले इसे आत्महत्या का मामला बताया जा रहा था, लेकिन अब परिवार ने इसमें हत्या की आशंका व्यक्त की है। सुशांत के पिता द्वारा पटना में शिकायत दर्ज कराने के बाद बिहार पुलिस ने भी अपनी जांच शुरू कर दी। हालांकि, अब मामले की जांच सीबीआई कर रही है। सुशांत के पिता ने पटना में रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शोविक, पिता इंद्रजीत और मां समेत पांच लोगों के खिलाफ उनके बेटे से पैसे ऐंठने और उन्हें आत्महत्या के लिए उकसाने के लिए शिकायत दर्ज कराया है।

0

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

SSR केस: CFSL रिपोर्ट में हत्या का कोई सीधा सबूत नहीं मिला, अभिनेता की मौत को पार्शियल हैंगिंग माना

नई दिल्ली: सुशातं सिंह राजपूत मामले में सीएफएसएल (CFSL) की रिपोर्ट में हत्या का कोई सीधा सबूत नहीं मिला...

पूर्व मंत्री बौद्ध ने थामा बसपा का हाथ, बोले- कांग्रेस में सिर्फ किसी की मदद कर सकता था, बसपा में स्वयं लड़ूंगा लड़ाई

दतियाएक घंटा पहलेकॉपी लिंकपूर्व गृह मंत्री महेंद्र बौद्ध बसपा की सदस्यता ग्रहण करते हुए।50 साल कांग्रेस में रहे पूर्व गृह मंत्री ने टिकट न...