Home राज्यवार दिल्ली गुरुग्राम से फोन लगा अमेरिका वालों को ठगते थे, यूं धरे गए

गुरुग्राम से फोन लगा अमेरिका वालों को ठगते थे, यूं धरे गए

गुड़गांव

खुद को अमेरिका की आईटी कंपनी का कर्मचारी बताकर विदेश में बैठे लोगों को तकनीकी सहायता के नाम पर ठगने वाले आरोपियों को पुलिस ने काबू किया है। ये लोग मिलकर एक फर्जी कॉल सेंटर चला रहे थे। वहां रेड कर पुलिस ने अन्य कर्मचारियों से पूछताछ के बाद 2 को अरेस्ट कर लिया है। उनके पास से 3 कंप्यूटर व 1 लाख 45 हजार रुपये नकद बरामद किए गए हैं।

सीपी ऑफिस में मंगलवार को सूचना मिली कि डीएलएफ फेज-2 के एन ब्लॉक में टेक सपोर्ट नाम से फर्जी कॉल सेंटर चल रहा है। यहां से अमेरिका के लोगों को तकनीकी सहायता देने के नाम पर ठगा जा रहा है। सूचना पर सीपी के के राव ने एसीपी डीएलएफ करण गोयल की अगुवाई में साइबर क्राइम थाना की टीम को कार्रवाई के लिए भेजा। पुलिस टीम ने मौके पर जाकर रेड की। मकान के 2 कमरों में 12 युवक हेडफोन लगाकर इंग्लिश में बात कर रहे थे और सभी के सामने कंप्यूटर रखे थे।

पुलिस टीम ने सभी को एक कमरे में इकट्ठा कर पूछताछ की। कॉल सेंटर संचालक का लाइसेंस व अन्य जानकारी मांगी लेकिन न तो कोई दस्तावेज दिया गया और न ही सही से कुछ बताया गया। पूछताछ में खुलासा हुआ कि अमेरिका की कंपनी बेस्ट बॉय के कर्मचारी बनकर ये आरोपी तकनीकी सहायता मुहैया कराने के नाम पर अमेरिका के लोगों को ठगते हैं।

बीटेक और बीकॉम पास हैं दोनों मास्टरमाइंड युवक

कॉल सेंटर मालिक की पहचान अमित ढांढा के तौर पर हुई। जबकि इसका संचालन सौरभ चौधरी देखता है। दोनों के खिलाफ साइबर क्राइम थाना में एफआईआर दर्ज की गई। साथ ही दोनों को अरेस्ट कर लिया गया। आरोपी अमित ढांढा मूलरूप से जींद के नरवाना का रहने वाला है। वह फिलहाल सेक्टर-82 में किराए पर रहता है और बीटेक पास है। आरोपित सौरभ वेस्ट बंगाल हुगली के पूर्वांचल अपार्टमेंट का मूल निवासी है और फिलहाल डीएलएफ फेज-3 यू ब्लॉक में रहता है। ये भी बीकॉम पास है।

निजी कंपनी में किया करते थे आईटी सॉल्यूशन का काम

आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ कि ये दोनों पहले एक निजी कंपनी में आईटी सॉल्यूशन का काम करते थे। वहां नौकरी करते हुए इन्होंने फर्जी रूप से यह काम करके ज्यादा रुपये कमाने का प्लान बनाया। लॉकडाउन में ही इन्होंने कॉल सेंटर शुरू किया।

गिफ्ट कार्ड के जरिए भी लेते थे रुपये

अमेरिका के लोगों को खुद को बेस्ट बॉय कंपनी का कर्मचारी बताकर तकनीकी सहायता के नाम पर ठगने लगे। लोगों को कंप्यूटर या लैपटॉप में हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, वायरस की दिक्कत पर ये ऑनलाइन ही सहायता करने का दावा करते। इसके बदले अमेरिका के नागरिकों से ये गिफ्ट कार्ड के जरिए रुपये लेते थे। एसीपी क्राइम प्रीतपाल सिंह ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ कर मामले से जुड़ी अन्य डिटेल जुटाई जा रही है। यह भी पता लगाया जा रहा है कि ये अब तक कितने लोगों से ठगी कर चुके हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

दिल्ली दंगा मामला: विधानसभा समिति की नोटिस के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे फेसबुक के वाइस प्रेसिडेंट

नई दिल्लीदिल्ली दंगा मामले (Delhi Riots Case) में विधानसभा की शांति और सद्भाव समिति (Delhi Assembly Peace and harmony Committe) की ओर से पेशी...

MeToo: पायल घोष के बाद सपना भावनानी भी सामने आईं, महिला आयोग से मांगी मदद

Publish Date:Mon, 21 Sep 2020 04:30 PM (IST) नई दिल्ली, जेएनएन। बॉलीवुड एक्ट्रेस पायल घोष की ओर से निर्देशक अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न...

जिंदा जलाकर मार दी गई थी पत्रकार की बेटी, अब टूटी प्रशासन की नींद, अखिलेश यादव बोले…

सुल्तानपुरउत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर में पुलिस खाकी को बचाने की खातिर खुद ही फंसती चली जा रही है। पत्रकार की बेटी को जिंदा जलाकर...

जानें क्‍या होता है कूलिंग पीरियड, कोविड-19 के मामले में आखिर क्‍यों है ये खास

नई दिल्‍ली (जेएनएन)। विशेषज्ञों के अनुसार किसी देश में कोविड-19 के संक्रमण के बाद अगर हर्ड इम्युनिटी हासिल हो जाती है तो उसकी संक्रमण चेन...

Delhi Metro News: मेट्रो के चलने से दिल्ली के बाजारों में बढ़ा कारोबार

नई दिल्ली । Delhi Metro News: दिल्ली में मेट्रो ट्रेन सेवा बहाल होने से बाजारों तक ग्राहकों, दुकानदारों और कर्मचारियों की पहुंच आसान हुई...