Home बड़ी खबरें भारत बिहार: इस बार उद्घाटन से पहले ही टूटा अप्रोच रोड, सत्तरघाट ब्रिज...

बिहार: इस बार उद्घाटन से पहले ही टूटा अप्रोच रोड, सत्तरघाट ब्रिज से डबल है बजट

  • छपरा में टूटी पुल की अप्रोच रोड
  • जुलाई में गोपालगंज में हुई ऐसा घटना
  • आज ही होना था पुल का उद्घाटन

बिहार में सिस्टम पर चोट करने वाली एक और घटना सामने आई है. छपरा में एक पुल की अप्रोच रोड उसके उद्घाटन से पहले ही टूट गई है. आज ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस पुल का उद्घाटन करने वाले थे. इससे पहले 15 जुलाई को गोपालगंज में सत्तरघाट ब्रिज की अप्रोच रोड टूट गई थी. फर्क बस इतना है कि उस पुल की अप्रोच रोड नीतीश कुमार द्वारा उद्घाटन करने के बाद टूटी थी.

यूं तो बिहार बारिश, बाढ़ और कोरोना की मार झेल रहा है. लेकिन विधानसभा चुनाव सिर पर है. लिहाजा, उद्घाटन समारोह की प्रक्रिया भी विधिवत चालू है. इसी कड़ी में आज (12 अगस्त) मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को छपरा में बंगरा घाट मेगा ब्रिज का उद्घाटन करना था, लेकिन इस पुल की अप्रोच रोड उद्घाटन से पहली ही बह गई.

बताया जा रहा है कि बैकुंठपुर में सारण बांध टूटने की वजह से बंगरा घाट मेगा ब्रिज की अप्रोच रोड टूटी है. इस पुल की लागत 509 करोड़ रुपये है. वहीं, एक महीना पहले गोपालगंज के जिस सत्तरघाट पुल की अप्रोच रोड टूटी थी उसकी कीमत 264 करोड़ थी. यानी इस बार लगभग डबल कीमत के पुल की अप्रोच रोड भी पानी का बहाव नहीं सहन कर पाई और धारा के साथ बह गई.

वो नेता और अधिकारी जिन पर रही गोपालगंज पुल निर्माण की जिम्मेदारी, पढ़ें- इनसाइड स्टोरी

सत्तरघाट पुल का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लॉकडाउन के दौरान ही बीते 16 जून को किया था. उद्घाटन के एक महीना बाद 15 जुलाई को पुल की अप्रोच रोड गिर गई. इस प्रोजेक्ट में पुल की लंबाई 1.44 किलोमीटर और ब्रिज के दोनों तरफ 10.15 किलोमीटर की अप्रोच रोड शामिल थी. गोपालगंज का सत्तरघाट ब्रिज 2012 से बनना शुरू हुआ था और तय समय से ज्यादा वक्त लेते हुए 2020 में जाकर तैयार हुआ. हादसे के बाद सरकार ने जांच के लिए एक टीम गठित की थी.

सत्तरघाट पुल का निर्माण हैदराबाद की वशिष्टा कंस्ट्रक्शन कंपनी ने किया था. घटना के बाद कंपनी की लापरवाही की बात सामने आई थी. बताया गया था कि अप्रोच रोड के दोनों किनारों को पिचिंग कर मजबूत नहीं किया गया था. जिसके चलते गंडक नदी में 3 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया तो अप्रोच रोड पानी का प्रेशर नहीं झेल सकी और टूट गई.

बता दें कि हर साल गंडक नदी में करीब 8 लाख क्यूसेक पानी छोड़ा जाता है, लेकिन इस बार 3 लाख क्यूसेक पानी ही छोड़ा गया. इसके बावजूद गोपालगंज के पुल की अप्रोच रोड पानी की टक्कर नहीं झेल सकी और जमीन में समा गई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android IOS



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

पश्चिम बंगाल: ममता ने शुरू की हिंदू-हिंदी वोटरों को लुभाने की क़वायद! – BBC News हिंदी

प्रभाकर मणि तिवारीकोलकाता से बीबीसी हिंदी के लिए2 घंटे पहलेइमेज स्रोत, DIBYANGSHU SARKAR/AFP/GettyImagesबीजेपी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी पर...

Health Benefits Of Star Fruit: दूर से ही अलविदा कह देगी कैंसर जैसी बीमारी, स्टार फ्रूट के फायदे जान लेंगे तो रोज खाएंगे

अमरस, कमरख या स्टार फ्रूट। आमतौर पर इन तीन अलग-अलग नामों से इस फल को पहचाना जाता है। स्टार फ्रूट साइट्रिक एसिड से युक्त...

दिलीप कुमार ने पहली अपनी पसंदीदा पिंक शर्ट, पत्नी सायरा बानो के साथ इस अंदाज में आए नजर

दिलीप कुमार (Dilip Kumar) ने शेयर की सायरा बानो (Saira Banu) के साथ तस्वीरखास बातेंदिलीप कुमार ने पहली पसंदीदा पिंक शर्ट पत्नी सायरा बानो के...

बड़ौदा में संकल्प भूमि पर बनने लगा ऐसा ऐतिहासिक भवन! देखिए Police officer told about Babasaheb

बहुजन पोस्ट डॉट कॉम #Sankalp_boomi #Vadodara #Babasaheb #ambedkarite_police_officer #Gujrat Edit by Hemant सम्यक इंडिया टीवी को जिंदा रखने के लिए आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। बैंक...

IPL 2020: सिर्फ विराट कोहली के कैच ही नहीं, ये कारण भी बने RCB की हार की प्रमुख वजह

कप्तान लोकेश राहुल की मात्र 69 गेंदों पर 14 चौकों और सात छक्कों की मदद से बनी नाबाद 132 रन की विस्फोटक शतकीय...

Zinc Rich Food: इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए अपनी डाइट में जिंक फूड्स को शामिल करें

Zinc Deficiency: ब्लड में जिंक का कम होना कोविड-19 के रोगियों की मृत्यु दर बढ़ा सकता है.Highlightsब्लड में जिंक का कम होना कोविड-19 के...