Home राज्यवार बिहार प्रोजेक्ट डॉलफिन की बिहार में असीम संभावनाएं, राज्य सरकार ने केंद्र से...

प्रोजेक्ट डॉलफिन की बिहार में असीम संभावनाएं, राज्य सरकार ने केंद्र से की मदद की अपील- सुशील मोदी

पटना: केन्द्रीय पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावडेकर के साथ देशभर के पर्यावरण मंत्रियों की हुई वर्चुअल बैठक में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Sushil MOdi) ने पटना विश्वविद्यालय (Patna University) परिसर में राज्य सरकार की ओर से 30 करोड़ की लागत से स्थापित होने जा रही ‘डॉलफिन रिसर्च सेंटर’ के लिए केन्द्र से मदद की अपेक्षा की. 

उन्होंने कहा कि बिहार के तीन शहरों भागलपुर, गोपालगंज व गया में (ब्पजल थ्वतमेज) विकसित किए जाएंगे. इसके साथ ही गंगा सहित पांच नदियों के किनारे पौधारोपण तथा प्रत्येक जिले के 4-5 चयनित स्कूलों में ‘स्कूल नर्सरी’ खोले जाएंगे.

ज्ञातव्य है कि 15 अगस्त को लालकिले के प्राचीर से प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में ‘प्रोजेक्ट डॉलफिन’ (Project DOLPHIN) प्रारंभ करने की घोषणा की है. चुंकि बिहार सरकार की पहल पर ही 05 अक्तूबर, 2009 को भारत सरकार द्वारा डॉलफिन को ‘नेशनल एक्युटिक एनिमल’ (National Aquatic Animal)घोषित किया गया था और पूरे देश की डॉलफिन की आधी आबादी (1,464) बिहार में हैं, इसलिए डॉलफिन शोध संस्थान के लिए बिहार को केन्द्र सरकार से मदद की अपेक्षा है.
 
उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि भारत सरकार की योजना के अन्तर्गत बिहार में तीन जगह भागलपुर के जय प्रकाश उद्यान (10 हे.), गोपालगंज के थावे (12.28 हे.) और गया के ब्रह्मयोनि पहाड़ (50 हे.) में नगर वन विकसित किए जाएंगे. केन्द्र सरकार ने प्रत्येक नगर वन के लिए 2-2 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है.

इसके साथ ही प्रदूषण से प्रभावित गंगा सहित पांच नदियों सिरसिया (मोतिहारी), परमार (अररिया), पुनपुन (पटना), रामरेखा (बेतिया) व सिकरहना (बेतिया) के किनारे पौधारोपण किया जाएगा. गंगा के किनारे पिछले तीन वर्षों में 7.63 लाख पौधे लगाए गए हैं. 2020-21 में 3.17 लाख पौधारोपण किया जाना है.

सुशील मोदी ने कहा कि भारत सरकार की अगले पांच वर्षों (2020-21 से 2024-25)तक प्रति वर्ष देश के एक हजार स्कूलों में प्रति स्कूल एक हजार पौधे तैयार करने की योजना के अन्तर्गत बिहार के भी सभी जिलों के 4-5 विद्यालयों को चयन किया जा रहा है, जहां कक्षा छह से लेकर आठ के विद्यार्थियों को पौधा उगाने व पौधारोपण संबंधी ज्ञान को पाठ्येतर गतिविधि के तौर पर पढाया जायेगा.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

गिरिडीह सदर अंचल के राजस्व कर्मी को एसीबी ने 3500 रूपये की रिश्वत लेते किया गिरफ्तार – NEWSWING

Giridih : सदर अंचल के राजस्व कर्मचारी संजय साव को धनबाद एसीबी की टीम ने रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार कर...

क्या गिलोय-वासा कर सकते हैं Corona का इलाज!, आयुष मंत्रालय ने मंजूर किया ट्रायल प्रस्ताव

नई दिल्लीः कोरोना (Corona) संक्रमण और महामारी के साथ संघर्ष करते हए पूरी दुनिया को लगभग एक साल होने को आए हैं. महामारी से...

हाथरसः दलितों के विरोध से डरे योगी-मोदी, नौकरी, घर और 25 लाख की घोषणा, लेकिन इस शातिर चाल को समझिए

बहुजन पोस्ट डॉट कॉम अगर आप हमारे काम को पसंद करते हैं तो हमें सपोर्ट करें। आर्थिक सहयोग करें। Google Pay, Phone Pe or PayTm...