Home बड़ी खबरें भारत ज्‍योतिरादित्‍य सिंध‍िया की दो टूक, 'कांग्रेस में का‍बिल नेताओं की कद्र नहीं,...

ज्‍योतिरादित्‍य सिंध‍िया की दो टूक, ‘कांग्रेस में का‍बिल नेताओं की कद्र नहीं, सचिन पायलट ने भी…’

ज्‍योतिरादित्‍य पांच माह पहले ही कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हैं

इंदौर:

कांग्रेस नेतृत्व पर हमले जारी रखते हुए राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में काबिल नेताओं पर सवालिया निशान खड़ा किया जाता है और उनके पूर्व दलीय सहयोगी सचिन पायलट ने भी हाल ही में यही स्थिति झेली है. कांग्रेस का दामन छोड़कर करीब पांच महीने पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल होने वाले सिंधिया ने यहां संवाददाताओं से कहा, “पायलट मेरे मित्र हैं. उन्होंने जो पीड़ा झेली है, उससे सब लोग वाकिफ हैं. कांग्रेस किस तरह इतने विलंब के बाद अपना घर दुरुस्त करने की कोशिश कर रही है, इस बात से भी सब वाकिफ हैं.”उन्होंने कहा, “यह दु:ख की बात है कि कांग्रेस में काबिलियत पर प्रश्न चिन्ह खड़ा किया जाता है. यही स्थिति मेरे पूर्व सहयोगी (पायलट) ने भी झेली है.”

यह भी पढ़ें

मध्‍य प्रदेश की शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल में ‘महाराज’ के समर्थकों का ‘जलवा’..

सिंधिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया गया है, अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास किया गया है और चीन को ईंट का जवाब पत्थर से दिया गया है.बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि मोदी सरकार के इन अहम कदमों के बाद कांग्रेस अब पूरी तरह विफलता की राह पर जा रही है.‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ की एक रिपोर्ट की पृष्ठभूमि में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने बीजेपी तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर फेसबुक तथा व्हाट्सएप का इस्तेमाल करते हुए मतदाताओं को प्रभावित करने के लिये “फर्जी खबरें” फैलाने का आरोप लगाया है. इस आरोप को लेकर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर सिंधिया ने कहा, “इंटरनेट एक स्वतंत्र माध्यम है. लेकिन जनता का विश्वास खोने वाले लोगों के पास जब कहने को कुछ नहीं होता है, तो इन मुद्दों को पकड़ा जाता है.”

सिंधिया ने हालांकि कहा, “मैं इस बात का पक्षधर हूं कि फेसबुक, व्हाट्सएप और अन्य सोशल मीडिया मंचों पर किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कही जाने वाली आपत्तिजनक बातों पर सख्ती से लगाम लगायी जानी चाहिए.”पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा वर्ष 1985 में अयोध्या में राम मंदिर का ताला खुलवाये जाने को लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ के एक कथन से जुड़े सवाल पर सिंधिया ने दावा किया कि इसी पार्टी के नेता शशि थरूर राम मंदिर मुद्दे पर इसके विरोधाभासी बयानबाजी कर रहे हैं.उन्होंने कहा, “कांग्रेस (राम मंदिर मुद्दे पर) अपने आप में उलझ रही है. इस पार्टी को नहीं पता कि उसके नेताओं ने क्या किया है और क्या नहीं?”

राज्यसभा में शपथ ग्रहण के दौरान दिग्विजय-सिंधिया का आमना-सामना

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

किसान आंदोलन: नोएडा-दिल्ली सीमा पर डटे किसान, ट्रैफिक जाम, पुलिस ने डायवर्ट किए रूट

किसानों के आंदोलन में कांग्रेस का भी साथ मि्ला है। कांग्रेस से पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्विटर पर #isupportbharatband करके ट्वीट किया...

17 दिन बाद हत्या का खुलासा, पत्नी ने ही दुपट्‌टे से गला घोंटकर की थी पति की हत्या, खेत में शव छुपाया

लालसोट2 घंटे पहलेकॉपी लिंकलालसोट| हत्याकांड के मामले में गिरफ्तार किए गए मां बेटे (नीचे बैठे हुए)उपखंड के उगरियावास ग्राम में हुए हत्याकांड का पुलिस...

अजरबैजान नागोर्नो-काराबाख इलाके पर कब्जे के लिए अधिक विनाशकारी हथियारों का कर रहा इस्तेमाल

मॉस्को, एनवाइटी। आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच नागोर्नो-काराबाख इलाके पर कब्जे को लेकर जबरदस्त युद्ध चल रहा है। दोनों देश एक दूसरे पर...

सीबीएसई ने न्यायालय को बताया: 12वीं कक्षा की पूरक परीक्षा के नतीजे 10 अक्टूबर तक होंगे घोषित

डिसक्लेमर:यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।भाषा | Updated: 24 Sep 2020,...

बिहार चुनाव: पप्पू यादव ने जारी किया प्रतिज्ञा पत्र, 3 साल में वादा पूरा नहीं होने पर देंगे इस्तीफा

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) को लेकर पप्पू यादव लगातार बिहार सरकार पर हमलावर हैं. पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी ने...