Home राज्यवार मुंबई मॉल खुल सकता है तो मंदिर क्यों नहीं: राज ठाकरे

मॉल खुल सकता है तो मंदिर क्यों नहीं: राज ठाकरे

राज्य में ‘मिशन बिगिन अगेन’ (mission begin again) के तहत सब कुछ धीरे-धीरे शुरू हो रहा है।  मॉल (maal) भी शुरू हो गए हैं।  फिर मंदिर (temple) क्यों नहीं खोले जाते। क्या सरकारी नियमों का पालन करके मंदिरों को शुरू नहीं किया जा सकता है? यह सवाल उठा कर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के अध्यक्ष राज ठाकरे (raj thackeray) ने सरकार को घेरने की कोशिश की।

सोमवार को त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग के 10 पुजारियों ने राज ठाकरे के घर ‘कृष्णकुंज’ (krishn kunj) जाकर उनसे मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद राज ठाकरे ने यह सवाल उठाया।

हालांकि इसके पहले राज ठाकरे ने कहा था कि, कोरोना (Coronavirus) से घबराने की कोई जरूरत नहीं है। इसलिए लॉकडाउन (lockdown) को सावधानी से उठाया जाना चाहिए।

इस मुलाकात में पुजारियों ने राज ठाकरे (raj thackeray) से जल्द से जल्द मंदिर खुलवाने की मांग रखी। पुजारियों के अनुसार लॉकडाउन (lockdown) के कारण, राज्य में सभी धर्मों के पूजा स्थल पिछले 5 महीनों से बंद हैं। कोरोना फैलने के डर से सरकार ने अभी तक पूजा स्थलों को खोलने की अनुमति नहीं दी है। फूल, प्रसाद, पूजा सामग्री और अन्य संबंधित वस्तुओं को बेचकर जीवन यापन करने वाले छोटे बड़े व्यवसायी सभी के सामने आर्थिक समस्याएं खड़ी हो रही हैं। साथ ही मंदिर में भक्तों के न आने से पुजारियों के सामने भी परेशानी अब सर उठा रही है।

राज ठाकरे ने पुजारियों के साथ चर्चा करते हुए कहा, जब मॉल खोले जा सकते हैं, तो मंदिर क्यों नहीं हैं? उन्होंने आगे कहा, मंदिरों को केवल लॉकडाउन नियमों के तहत ही खोला जाना चाहिए, लेकिन उन्होंने आशंका जताते हुए सवाल पूछा कि, अगर मंदिरों को शुरू करने के बाद भक्तों की भीड़ जमा होती है तो आप क्या करेंगे? भक्तों की भीड़ को कैसे रोकेगे?  कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए आप भीड़ को कैसे नियंत्रित करते हैं? मंदिरों को शुरू करने के बाद क्या अन्य धार्मिक नियमों का पालन किया जाएगा?

इन सब मुद्दों के बाद राज ठाकरे ने पुजारियों को आश्वासन देते हुए कहा कि, वे इन सभी मुद्दों को लेकर दो दिन में सरकार से बात करेंगे।

इस बीच, मंदिर को खोले जाने को लेकर दायर की गई याचिका पर सुनवाई करते हुए बॉम्बे हाई कोर्ट ने, उल्टा याचिकाकर्ता से ही पूछ लिया कि, मंदिर खोला जाता है तो पहले न्याय का मंदिर क्यों नहीं खोला जाता 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

ट्रंप ने एमी कोने बैरेट को बनाया सुप्रीम कोर्ट का नया जज, विपक्ष का विरोध खारिज

वाशिंगटनअमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विपक्ष के विरोध के बावजूद सुप्रीम कोर्ट में नए जज की नियुक्ति कर दी है। अमेरिकी मीडिया के अनुसार,...

मुंबई में एक दिन में कोविड-19 के 2,654 नये मामले, 46 लोगों की मौत

डिसक्लेमर:यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।भाषा | Updated: 30 Sep 2020,...

शाओमी ने लॉन्च की Mi 10T स्मार्टफोन सीरीज, जानें कीमत और फीचर्स

नई दिल्ली। पॉप्युलर स्मार्टफोन मेकर कंपनी शाओमी ने Mi 10T स्मार्टफोन सीरीज को लॉन्च कर दिया है। इस सीरीज के तहत तीन स्मार्टफोन Mi...

lock Down: लॉकडाउन से दिल्ली-एनसीआर के पर्यावरण को हुआ लाभ

नई दिल्ली । lock Down: लॉकडाउन के दौरान दिल्ली के सभी हॉटस्पॉट की हवा में भी खासा सुधार हुआ था। दरअसल, इस बीच...

विकास के लिए योजनाओं की सूची उपलब्ध कराएं प्रतिनिधि : बीडीओ

संवाद सूत्र, सतगावां (कोडरमा): सतगावां प्रखंड मुख्यालय में बुधवार को पंचायत समिति सदस्यों की बैठक प्रमुख करीना देवी की अध्यक्षता में बुधवार को...