Home बड़ी खबरें भारत उज्जैन में बाल-बाल बचे सिंधिया, समर्थकों की धक्का-मुक्की में गिरी रेलिंग

उज्जैन में बाल-बाल बचे सिंधिया, समर्थकों की धक्का-मुक्की में गिरी रेलिंग

  • महाकाल की शाही सवारी में पहुंचे थे सिंधिया
  • इस दौरान वहां हो गया एक हादसा

उज्जैन में सोमवार को महाकाल की शाही सवारी में शामिल होने आए राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया एक हादसे में घायल होने से बाल-बाल बच गए. जैसे ही ज्योतिरादित्य सिंधिया रामघाट पहुंचे, एक हादसा हो गया. ज्योतिरादित्य सिंधिया, महाकाल की शाही सवारी का पूजन करने उज्जैन के रामघाट जा रहे थे. इस दौरान उनके समर्थकों के बीच धक्का-मुक्की शुरू हो गई. इस धक्का-मुक्की में घाट के पास सीमेंट की रेलिंग गिर गई. हालांकि गनीमत यह रही कि इस हादसे में किसी को चोट नहीं लगी.

दरअसल, सोमवार को उज्जैन में महाकाल की शाही सवारी निकाली गई थी. महाकाल पालकी में सवार होकर नगर भ्रमण पर निकले थे. ज्योतिरादित्य सिंधिया सोमवार को उज्जैन में सावन भादो मास की इसी मुख्य शाही सवारी में शामिल होने पहुंचे थे. जहां उन्होंने रामघाट पर जाकर बाबा महाकाल की पालकी का पूजन किया. ज्योतिरादित्य सिंधिया हर साल शाही सवारी में शामिल होते हैं, क्योंकि महाकाल मंदिर से सिंधिया परिवार का काफी पुराना संबंध है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया देर रात पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन से मिलने इंदौर स्थित उनके आवास भी गए थे.

भारत को आंख दिखाने के लिए चीन ने कई सालों में पहली बार उठाया ये कदम

बता दें, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मार्च महीने में ही कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी का साथ थाम लिया था. फिलहाल वे बीजेपी कोटे पर राज्यसभा सांसद हैं. हाल के दिनों में उन्होंने राम मंदिर के मुद्दे को लेकर पूर्व सीएम कमलनाथ पर भी निशाना साधा था. कांग्रेस पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि एक तरफ, वह (कमलनाथ) कह रहे हैं, उन्होंने (पूर्व पीएम राजीव गांधी) बाबरी मस्जिद का ताला खोला जबकि दूसरी तरफ शशि थरूर कहते हैं कि उन्होंने ताला नहीं खोला. कांग्रेस खुद ही नहीं जानती कि उनके नेता ने क्या किया और क्या नहीं.

फेसबुक कंट्रोल पर सियासी बवाल के बीच IFF ने संसद की स्थायी समिति को लिखी चिट्ठी

कमलनाथ ने अयोध्या में भूमि पूजन से पहले अपने यहां हनुमान चालीसा कराया था जिसके बाद उन्होंने दावा किया था कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के कारण ही राम मंदिर का सपना आज साकार हो रहा है. कमलनाथ ने उस वक्त कहा था कि आज राजीव गांधी होते तो यह सब देखते. हम राम मंदिर निर्माण के लिए प्रदेश की जनता की ओर से 11 चांदी की शिलाएं भेज रहे हैं. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने चंदे से पैसा इकट्ठा कर चांदी की इन ईंटों को अयोध्या भेजा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android IOS



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

चुनाव हारने और व्हाइट हाउस छोड़ने के सवाल पर डोनाल्ड ट्रंप के जवाब ने लोगों को चौंकाया

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव में हार की स्थिति में सत्ता के शांतिपूर्ण हस्तांतरण...

बाहर के खाने से अभी भी डर रहे लोग, शहर के 50 फीसदी फूडकोर्ट और रेस्टोरेंट बंद

नोएडा लॉकडाउन के बाद नोएडा के रेस्टोरेंट और फूडकोर्ट का कारोबार भी संघर्ष की स्थिति से गुजर रहा है। शहर की रेस्टोरेंट असोसिएशन के...