Home राज्यवार उत्तर प्रदेश यूपी विधानमंडल सत्र में 65 वर्ष से ऊपर के विधायक करेंगे वर्चुअल...

यूपी विधानमंडल सत्र में 65 वर्ष से ऊपर के विधायक करेंगे वर्चुअल भागीदारी, कल से शुरू होगा सत्र

विधानसभा सत्र से पहले बैठक
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

20 अगस्त से शुरू हो रहे यूपी के तीन दिवसीय विधानमंडल सत्र में 65 वर्ष के ऊपर के विधायक सदन में वर्चुअल भागीदारी करेंगे। इस बाबत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित से अनुरोध किया था, जिस पर उन्होंने सहमति दे दी। वहीं, ऐसे विधायक जो बीमार हैं वो उनकी वर्चुअल भागीदारी से ही उन्हें उपस्थित मान लिया जाएगा।

इसके पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा विधानमंडल दल के साथ वर्चुअल बैठक की। बैठक को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए उन्होंने पार्टी विधायकों से सदन में कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए हिस्सा लेने का आग्रह किया साथ ही विधायकों से परिस्थितियों का हवाला देते हुए शांति और धैर्य से सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेने की अपील की।

उन्होंने 65 वर्ष या इससे अधिक आयु तथा अस्वस्थ विधायकों से सदन में आने के बजाय वर्चुअल हिस्सेदारी करने को कहा। सीएम ने कहा कि ऐसे विधायक लिखकर भेज दें, उनकी उपस्थिति मान ली जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि परिस्थितियां काफी प्रतिकूल हैं। संवैधानिक बाध्यता के चलते सदन की बैठक बुलाना आवश्यक हो गया था। आवश्यक न होता तो परिस्थितियां सामान्य होने पर सदन होता। सभी को अपनी बात रखने का मौका मिलता। समस्या को ध्यान में रखते हुए सभी लोग सावधान रहें और सहयोग करें।

कोरोना में भाजपा ने अपने दो विधायक (मंत्री) खोए हैं। पार्टी के लिए यह अपूरणीय क्षति है। ऐसे में भाजपा विधायक पूरी सुरक्षा बरतें। सदन में एक-दूसरे से पर्याप्त दूरी बनाए रखें और एक-एक सीट छोड़कर बैठें। सभी लोग कोविड जांच कराने के बाद ही सदन में आएं और मास्क जरूर लगाएं।

विधानमंडल सत्र के दौरान कानून-व्यवस्था का मुद्दा छाया रहेगा। पिछले एक महीने में आजमगढ़, गोरखपुर, जौनपुर, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, लखीमपुर, कानपुर नगर, कानपुर देहात, बागपत, बुलंदशहर, अलीगढ़, हापुड़, गाजियाबाद व फिरोजाबाद में हुई घटनाओं का मुद्दा सदन में उठना तय है। हाल के दिनों में हुई अपहरण और दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर भी विपक्ष सरकार को घेरने का प्रयास करेगा।

मानसून सत्र में समाजवादी पार्टी सरकार पर पूरी तरह हमलावर रहेगी। सदन की बैठक शुरू होने से ठीक पहले पार्टी अपनी रणनीति को अंतिम रूप देगी। इसके लिए प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने 20 अगस्त को सुबह 9 बजे विधानभवन स्थित पार्टी विधान मंडल दल कार्यालय में विधायकों की बैठक बुलाई है।

पार्टी के रुख से पता चलता है कि कोरोना के कहर, इलाज में दुश्वारियों, पुलिस मुठभेड़ जैसी घटनाओं को लेकर सरकार को घेरने की पूरी कोशिश होगी। कर्मचारियों की छंटनी, वेतन-भत्तों में कटौती, स्कूलों में जबरन फीस वसूली, किसानों को हो रही खाद की परेशानी जैसे मुद्दों पर सरकार को घेरेगी।

पटेल ने विधायकों से आग्रह किया है कि बैठक में और सदन में कोरोना गाइडलाइन का पालन करें। एक-दूसरे से दो मीटर की शारीरिक दूरी रखें और मास्क का प्रयोग करें।

20 अगस्त से शुरू हो रहे यूपी के तीन दिवसीय विधानमंडल सत्र में 65 वर्ष के ऊपर के विधायक सदन में वर्चुअल भागीदारी करेंगे। इस बाबत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित से अनुरोध किया था, जिस पर उन्होंने सहमति दे दी। वहीं, ऐसे विधायक जो बीमार हैं वो उनकी वर्चुअल भागीदारी से ही उन्हें उपस्थित मान लिया जाएगा।

इसके पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा विधानमंडल दल के साथ वर्चुअल बैठक की। बैठक को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए उन्होंने पार्टी विधायकों से सदन में कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए हिस्सा लेने का आग्रह किया साथ ही विधायकों से परिस्थितियों का हवाला देते हुए शांति और धैर्य से सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेने की अपील की।

उन्होंने 65 वर्ष या इससे अधिक आयु तथा अस्वस्थ विधायकों से सदन में आने के बजाय वर्चुअल हिस्सेदारी करने को कहा। सीएम ने कहा कि ऐसे विधायक लिखकर भेज दें, उनकी उपस्थिति मान ली जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि परिस्थितियां काफी प्रतिकूल हैं। संवैधानिक बाध्यता के चलते सदन की बैठक बुलाना आवश्यक हो गया था। आवश्यक न होता तो परिस्थितियां सामान्य होने पर सदन होता। सभी को अपनी बात रखने का मौका मिलता। समस्या को ध्यान में रखते हुए सभी लोग सावधान रहें और सहयोग करें।

कोरोना में भाजपा ने अपने दो विधायक (मंत्री) खोए हैं। पार्टी के लिए यह अपूरणीय क्षति है। ऐसे में भाजपा विधायक पूरी सुरक्षा बरतें। सदन में एक-दूसरे से पर्याप्त दूरी बनाए रखें और एक-एक सीट छोड़कर बैठें। सभी लोग कोविड जांच कराने के बाद ही सदन में आएं और मास्क जरूर लगाएं।


आगे पढ़ें

सत्र में छाया रहेगा कानून-व्यवस्था का मुद्दा

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

कंगना रनोट ने टूटे ऑफिस की फोटो शेयर कर कहा- ये बलात्कार है मेरे सपनों का, जो कभी मंदिर था उसे कब्रिस्तान बना दिया

मनाली41 मिनट पहलेकॉपी लिंकयह फोटो कंगना रनोट के ऑफिस की है। बीएमसी ने उनके पाली हिल्स स्थित ऑफिस मणिकर्णिका फिल्म्स में अवैध निर्माण हटाने...

शाहजहांपुर: नहीं रहे 106 साल के सैय्यद वाहिद अली, भारतीय सेना की ओर से लड़ा था दूसरा विश्‍व युद्ध

आसिफ अली, शाहजहांपुर यूपी के शाहजहांपुर में रहने वाले 106 साल के पूर्व भारतीय सैनिक सैय्यद वाहिद अली का लंबी बीमारी के बाद निधन...

Realme Narzo 20 सीरीज से लेकर Moto E7 Plus तक इस हफ्ते लॉन्च होंगे कई नए स्मार्टफोन, यहां देखें पूरी लिस्ट

नई दिल्ली, टेक डेस्क। टेक इंडस्ट्री में आजकल काफी हलचल देखी जा रही है। फोन निर्माता कंपनियां आए दिन नए स्मार्टफोन और सीरीज...

Gold Rate Today: सोने के दाम में जबरदस्त गिरावट, चांदी की चमक भी पड़ी हल्की; जानें क्या चल रहे हैं रेट

Publish Date:Thu, 17 Sep 2020 06:31 PM (IST) नई दिल्ली, पीटीआइ। वैश्विक स्तर पर सोने की कीमतों में गिरावट का असर गुरुवार को घरेलू...

शर्मनाक : पांच साल तक बेटी से करता रहा दुष्कर्म, शादी के लिए घर में करके रखा कैद

बेगूसराय। पिता-पुत्री का रिश्ता दुनिया का सबसे मजबूत और पवित्र रिश्ता माना जाता है। लेकिन इस रिश्ते को कलंकित करने का एक चौंकाने वाला...