Home दुनिया Coronavirus Vaccine Update: कोरोना वैक्सीन पर राष्ट्रवाद की जंग, आखिर है क्या...

Coronavirus Vaccine Update: कोरोना वैक्सीन पर राष्ट्रवाद की जंग, आखिर है क्या यह?

नई दिल्ली
कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने आगाह किया है कि अमीर मुल्क संभावित वैक्सीन की जमाखोरी (Hoarding of Corona Vaccine) कर सकते हैं और गरीब देशों तक शायद इसकी पर्याप्त सप्लाई भी न होने पाए। WHO चीफ टेड्रॉस अडानोम गेब्रिएसिस ने एक दिन पहले ही ‘वैक्सीन राष्ट्रवाद’ (Vaccine Nationalism) को रोके जाने की जरूरत पर जोर दिया। आइए समझते हैं कि आखिर क्या है ‘वैक्सीन राष्ट्रवाद’ और क्यों इसे रोके जाने की है जरूरत।

क्या है ‘वैक्सीन राष्ट्रवाद’?
जब कोई देश सिर्फ अपने नागरिकों या अपने यहां रहने वाले लोगों के लिए वैक्सीन डोज सुरक्षित करने की कोशिश करता है तो इसे ‘वैक्सीन राष्ट्रवाद’ नाम दिया जाता है। ऐसी स्थिति तब होती है जब कोई देश वैक्सीन को अन्य देशों में उपलब्ध होने से पहले ही उन्हें अपने घरेलू बाजार और अपने नागरिकों के लिए एक तरह से रिजर्व करने की कोशिश करता है। इसके लिए संबंधित देश की सरकार वैक्सीन मैन्यूफैक्चरर के साथ प्री-परचेज अग्रीमेंट कर लेती है।


अभी क्या हो रहा है?
पूरी दुनिया कोरोना वायरस का कहर झेल रही है लेकिन अभी तक इसकी वैक्सीन नहीं बन पाई है। तमाम देशों में सरकारी और निजी स्तर पर कोरोना वैक्सीन बनाने की कोशिशें चल रही हैं। कुछ का शुरुआती स्तर पर ह्यूमन ट्रायल चल रहा है तो किसी का फाइनल स्टेज में है। लेकिन अभी से अमेरिका, ब्रिटेन, जापान फ्रांस, जर्मनी जैसे अमीर देश वैक्सीन मैन्यूफैक्चरर्स के साथ प्री-परचेज अग्रीमेंट कर चुके हैं। जापान, अमेरिका, ब्रिटेन और ईयू ने सबसे पहले अपने यहां वैक्सीन को सुनिश्चित करने के लिए अरबों रुपये खर्च कर डाले हैं। इन देशों ने कोरोना वैक्सीन बनाने के करीब पहुंचीं फाइजर इंक, जॉनसन ऐंड जॉनसन और एस्ट्रा जेनेका जैसी कंपनियों के साथ अरबों रुपये का करार कर लिया है। हालांकि, इन कंपनियों की वैक्सीन कितनी कारगर होगी, अभी यह भी साफ नहीं हो पाया है।

भारतीयों को सबसे पहले लग सकता है कोरोना का ये टीका, हो रही तैयारी

वैक्सीन तक सबकी पहुंच की राह में बाधा है ‘वैक्सीन राष्ट्रवाद’
ऐसी आशंकाएं जताई जा रही हैं कि इस तरह के प्री-परचेज अग्रीमेंट्स से कोरोना की वैक्सीन सबकी पहुंच से बाहर हो सकती है। मोटे तौर पर दुनिया की आबादी 800 करोड़ के करीब है, जिसमें सभी तक वैक्सीन पहुंचाना तो अपने आप में टेढ़ी खीर है। ऊपर से इस तरह के अडवांस अग्रीमेंट कोरोना की वैक्सीन को गरीब देशों की पहुंच से दूर कर देंगे। इनकी कीमत इतनी ज्यादा हो जाएगी कि सभी इन्हें अफोर्ड भी नहीं कर पाएंगे।

कोरोना: हर्ड इम्युनिटी को अभी दूर की कौड़ी क्यों बता रहा WHO?

नया नहीं है ‘वैक्सीन राष्ट्रवाद’
ऐसा कोई पहली बार नहीं हुआ है कि दुनिया के तमाम देश ‘वैक्सीन राष्ट्रवाद’ की राह पर चल रहे हैं। 2009 में H1N1 फ्लू के प्रकोप के वक्त भी इसी तरह से वैक्सीन की जमाखोरी हुई थी। तब ऑस्ट्रेलिया पहला ऐसा देश था जिसने एच1एन2 फ्लू की वैक्सीन बनाने में कामयाबी हासिल की थी। लेकिन उसने उस वैक्सीन के निर्यात को प्रतिबंधित कर दिया। दूसरी तरफ कुछ अमीर देशों ने कई फार्मा कंपनियों के साथ वैक्सीन के लिए प्री-परचेज अग्रीमेंट कर लिया था। सिर्फ अमेरिका ने 6 लाख वैक्सीन डोज के लिए अग्रीमेंट किया था।

क्या हो अगर कोरोना के खिलाफ हर्ड इम्यूनिटी जल्दी हासिल हो जाए

विश्व स्वास्थ्य संगठन की चेतावनी
विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रॉस गेब्रिएसिस ने मंगलवार को चेतावनी देते हुए कहा कि वैक्सीन राष्ट्रवाद और जमाखोरी कोरोना वायरस के खतरे को और बढ़ा देंगी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की वैक्सीन को कभी भी राष्ट्रवाद से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। हमें वैक्सीन की पहुंच सभी लोगों तक बनानी होगी, जिससे इस महामारी को जल्द से जल्द रोका जा सके।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

बिहार चुनाव: किसानों की नाराज़गी क्या एनडीए पर भारी पड़ेगी – BBC News हिंदी

सरोज सिंहबीबीसी संवाददाता39 मिनट पहलेइमेज स्रोत, FB TEJ PRATAPनीले रंग की ट्रैक्टर, ड्राइवर की सीट पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, ट्रैक्टर पर छत पर...

बाहर के खाने से अभी भी डर रहे लोग, शहर के 50 फीसदी फूडकोर्ट और रेस्टोरेंट बंद

नोएडा लॉकडाउन के बाद नोएडा के रेस्टोरेंट और फूडकोर्ट का कारोबार भी संघर्ष की स्थिति से गुजर रहा है। शहर की रेस्टोरेंट असोसिएशन के...

शादी से इनकार पर नेशनल प्लेयर का किया था मर्डर, 10 महीने बाद कुश्ती खिलाड़ी सोमवीर जाट गिरफ्तार

हाइलाइट्स:गुरुग्राम में ताइक्वांडो खिलाड़ी सरिता की हत्या का आरोपी दौसा से गिरफ्तार।द्यनवंबर 2019 में हरियाणा सरीता जाट का किया थामर्डर।ताइक्वांडो प्लेयर सरिता जाट की...

IPL 2020: कोलकाला के खिलाफ राजस्थान का पलड़ा भारी, जानें दोनों टीमों की संभावित प्लेइंग 11

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें मुकाबले में कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ राजस्थान रॉयल्स का पलड़ा भारी दिख रहा...

सात हजार से अधिक गाडि़यों के निबंधन मिले संदिग्ध

पटना। जिला परिवहन कार्यालय के भ्रष्टाचार की जांच में व्यापक स्तर पर घोटाले की आशंका सामने आने लगी है। इसी कारण जांच के लिए...

बाइक या स्कूटी चलाने के दौरान अपने बालों को ऐसे रखें सुरक्षित

बाइक या स्कूटी चलाने के दौरान अपने बालों को ऐसे रखें सुरक्षित 0){setTimeout(function(){body.item(0).classList.remove('styles-loading');}, 10);}"> ...