Home कोरोना वायरस सरकार कहे तो कोविड-19 टीके को आपात मंजूरी पर विचार संभव: आईसीएमआर

सरकार कहे तो कोविड-19 टीके को आपात मंजूरी पर विचार संभव: आईसीएमआर

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कहा है कि अगर सरकार फैसला करे तो वह कोरोना वैक्सीन टीके को आपात मंजूरी पर विचार कर सकता है। आईसीएमआर के महानिदेशक ने बुधवार को संसदीय समिति से कहा कि देश में विकसित किए जा रहे कोविड-19 रोधी दो टीकों के दूसरे चरण का क्लीनिकल परीक्षण लगभग पूरा हो गया है और केंद्र सरकार के फैसला करने पर किसी टीके को आपात मंजूरी देने पर विचार किया जा सकता है।

आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने गृह मामलों की संसदीय स्थायी समिति के सदस्यों को सूचित किया कि भारत बायोटेक, कैडिला और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा विकसित टीके परीक्षण के विभिन्न स्तर पर हैं। बैठक में मौजूद एक सांसद ने यह जानकारी दी।

भारत बायोटेक और कैडिला द्वारा विकसित किए जा रहे टीकों का दूसरे चरण का परीक्षण लगभग पूरा होने वाला है। सांसद ने बताया कि ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित टीके के विकास का काम सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया संभाल रही है और इस हफ्ते के अंत में इसका दूसरे चरण के दूसरे हिस्से का परीक्षण शुरू हो जाएगा। 

देशभर के 17 केंद्रों में 1,700 मरीजों को चिह्नित गया

इसके लिए देशभर के 17 केंद्रों में 1,700 मरीजों को चिह्नित किया गया है। बैठक में शामिल हुए सांसदों के अनुसार जब भार्गव से पूछा गया कि लोगों को कितने समय तक महामारी के साथ रहना होगा तो उन्होंने जवाब दिया कि सामान्यत: अंतिम परीक्षण में छह से नौ महीने लगते हैं लेकिन अगर सरकार फैसला करे तो आपात स्थिति में स्वीकृति प्रदान करने पर विचार किया जा सकता है।

अमेरिका में कोरोना वायरस का तेजी से पता लगाने के लिए एफडीए द्वारा स्वीकृत सलाइवा जांच के बारे में समिति के सवालों के जवाब में भार्गव ने कहा कि गरारे के पानी से लार के नमूने लेने पर पहले ही विचार चल रहा है और जल्द ही आगे का ब्योरा साझा किया जाएगा। बैठक में भाग लेने वाले एक अन्य सांसद ने यह जानकारी दी। संसदीय समिति में सभी दलों के सदस्यों ने महामारी से निपटने में विशेष रूप से आईसीएमआर की भूमिका और सामान्य रूप से पूरे चिकित्सा समुदाय की भूमिका की सराहना की।

सार

  • कोविड-19 रोधी दो टीकों के दूसरे चरण का क्लीनिकल परीक्षण लगभग पूरा हो गया है
  • केंद्र सरकार के फैसला करने पर किसी टीके को आपात मंजूरी देने पर विचार किया जा सकता है
  • देशभर के 17 केंद्रों में 1,700 मरीजों को चिह्नित किया गया है

विस्तार

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कहा है कि अगर सरकार फैसला करे तो वह कोरोना वैक्सीन टीके को आपात मंजूरी पर विचार कर सकता है। आईसीएमआर के महानिदेशक ने बुधवार को संसदीय समिति से कहा कि देश में विकसित किए जा रहे कोविड-19 रोधी दो टीकों के दूसरे चरण का क्लीनिकल परीक्षण लगभग पूरा हो गया है और केंद्र सरकार के फैसला करने पर किसी टीके को आपात मंजूरी देने पर विचार किया जा सकता है।

आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने गृह मामलों की संसदीय स्थायी समिति के सदस्यों को सूचित किया कि भारत बायोटेक, कैडिला और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा विकसित टीके परीक्षण के विभिन्न स्तर पर हैं। बैठक में मौजूद एक सांसद ने यह जानकारी दी।

भारत बायोटेक और कैडिला द्वारा विकसित किए जा रहे टीकों का दूसरे चरण का परीक्षण लगभग पूरा होने वाला है। सांसद ने बताया कि ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित टीके के विकास का काम सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया संभाल रही है और इस हफ्ते के अंत में इसका दूसरे चरण के दूसरे हिस्से का परीक्षण शुरू हो जाएगा। 

देशभर के 17 केंद्रों में 1,700 मरीजों को चिह्नित गया

इसके लिए देशभर के 17 केंद्रों में 1,700 मरीजों को चिह्नित किया गया है। बैठक में शामिल हुए सांसदों के अनुसार जब भार्गव से पूछा गया कि लोगों को कितने समय तक महामारी के साथ रहना होगा तो उन्होंने जवाब दिया कि सामान्यत: अंतिम परीक्षण में छह से नौ महीने लगते हैं लेकिन अगर सरकार फैसला करे तो आपात स्थिति में स्वीकृति प्रदान करने पर विचार किया जा सकता है।

अमेरिका में कोरोना वायरस का तेजी से पता लगाने के लिए एफडीए द्वारा स्वीकृत सलाइवा जांच के बारे में समिति के सवालों के जवाब में भार्गव ने कहा कि गरारे के पानी से लार के नमूने लेने पर पहले ही विचार चल रहा है और जल्द ही आगे का ब्योरा साझा किया जाएगा। बैठक में भाग लेने वाले एक अन्य सांसद ने यह जानकारी दी। संसदीय समिति में सभी दलों के सदस्यों ने महामारी से निपटने में विशेष रूप से आईसीएमआर की भूमिका और सामान्य रूप से पूरे चिकित्सा समुदाय की भूमिका की सराहना की।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

किंग्स XI पंजाब vs रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर LIVE स्कोर: 207 का लक्ष्य, पहले ही ओवर में पहला विकेट, कॉटरेल छाए

दुबईइंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 2020 सत्र का छठा मुकाबला किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के बीच खेला जा रहा...

ICSE, ISC Compartment Exam Date 2020: कंपार्टमेंट परीक्षाओं का शेड्यूल जारी, 6 अक्टूबर से परीक्षाएं और 17 को जारी होगा रिजल्ट

ICSE ISC Compartment Exam Date 2020 काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (Council for Indian School Certificate Examinations) ने ICSE (10th) और ISC कंपार्टमेंट...

राशिफल 25 सितंबर: मेष और तुला राशि वाले आज न करें ये काम, जानें- बाकी राशियों का हाल

Aaj Ka Rashifal: मेष राशि वाले आज हर कार्य को पूरे आत्मविश्वास करेंगे. आज सभी कार्यों में सफलता का योग...

अपने कुत्ते के लिए खिलौने खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान

अपने कुत्ते के लिए खिलौने खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान 0){setTimeout(function(){body.item(0).classList.remove('styles-loading');}, 10);}"> ...

IPL 2020: संजू सैमसन-धोनी के सबसे क़ाबिल उत्तराधिकारी? – BBC News हिंदी

वात्सल्य रायबीबीसी संवाददाताएक घंटा पहलेइमेज स्रोत, BCCI/IPLएक उम्दा पारी कितना कुछ बदल देती है?संजू सैमसन फिर से उन संभावनाशील विकेट कीपर बल्लेबाज़ों की कतार...