Home स्वास्थ्य सतर्कता जरूरी: कोरोनाकाल में डेंगू को नहीं करें नजरंदाज लापरवाही की तो...

सतर्कता जरूरी: कोरोनाकाल में डेंगू को नहीं करें नजरंदाज लापरवाही की तो बढ़ सकती है समस्या – दैनिक भास्कर

सीवान2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • स्वास्थ्य विभाग अलर्ट, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइन
  • बाढ़ और बारिश के कारण मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया फैलने की आशंका से लोगों को किया गया आगाह

वैश्विक महामारी कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। ऐसे में डेंगू को नजरंदाज नहीं किया जा सकता है। जगह-जगह रुके बारिश के पानी से अब मच्छरजनित रोग जैसे मलेरिया, डेंगू व चिकनगुनिया का प्रकोप बढने की संभावना प्रबल हो गई है। आमतौर पर अगस्त एवं सितंबर माह से डेंगू का प्रकोप बढ़ने लगता है। इसके लिए मरीजों की जांच के साथ उनके इलाज के लिए अस्पतालों में अलग वार्ड भी बनाया गया है।

इसको लेकर केंद्रीय स्वास्थ एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गाइडलाइन जारी कर लोगों से कोरोना वायरस महामारी के दौर में डेंगू से बचाव की सलाह दी है। गाइडलाइन में बताया गया है कि डेंगू का इलाज संभव है, इसलिए इसके इलाज में किसी भी तरह की लापरवाही करना ठीक नहीं होगा। डेंगू के इलाज के प्रति किसी तरह की लापरवाही आगे चलकर गंभीर समस्या बन सकती है। स्वास्थ मंत्रालय ने इस बीमारी के लक्षण और रोकथाम के लिए उपाय भी बताएं है।
डेंगू के चार प्रकार के होते हैं वायरस फैलने का चलता रहता है क्रम
डेंगू एडीज एजिप्टी मादा मच्छर के काटने से फैलता है। यह मच्छर दिन में और रात कभी भी काटता है। इस रोग के वायरस चार प्रकार के होते हैं, जिन्हें सिरोटाइप कहा जाता है। जब मादा मच्छर द्वारा संक्रमित व्यक्ति को काटा जाता है। इसके बाद जब यही मच्छर किसी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है तब यह वायरस व्यक्ति में चला जाता है और इस तरह यह चक्र लगातार चलता रहता है। इसको ध्यान में रखकर तमाम लोगाें को सचेत रहना होगा। खासकर आसपास में सफाई पर ध्यान देना होगा।

बुखार के साथ उल्टी और सूजन की रहती है शिकायत

जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम ठाकुर विश्वमोहन ने बताया कोरोना संक्रमण और डेंगू दोनों में ही रोगी को बुखार आता है। डेंगू के बुखार में उल्टी, सूजन एवं रैशेज होते हैं। डेंगू के गंभीर लक्षण में बार-बार उल्टी आना, सांस तेज चलना, बदन व पेट में दर्द, मसूड़ों में खून निकलना एवं कमजोरी आदि शामिल है। उन्होंने बताया लोगों की थोड़ी सी सतर्कता डेंगू के गंभीर नतीजों से बचाव कर सकती है।

मच्छर जनित रोगों से बचाव में बेहतर साफ- सफाई की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर इसकी प्रासंगिकता और भी बढ़ जाती है। अपने घर को स्वच्छ रखना तो स्वभाविक है लेकिन साथ में अपने आस-पास भी गंदगी व पानी नहीं जमा होने दें। उन्होंने बताया साफ़ पानी में डेंगू के मच्छर के पनपने की संभावना अधिक होती है। इसलिए घर में जहां भी जमा हो जैसे कूलर व अन्य इस प्रकार की कोई भी जगह तो उसे साफ़ जरूर करें एवं आवश्यकतानुसार मिट्टी का तेल भी पानी में डाल सकते हैं।

0

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

UP: कन्नौज में पुलिसकर्मी ने की दिव्यांग से बदसलूकी, घसीटकर ले गया चौकी; VIDEO वायरल

UP : सिपाही पर दिव्यांग को पीटने का आरोपकन्नौज : उत्तर प्रदेश के कन्नौज (Kannauj) जिले में एक पुलिसकर्मी द्वारा दिव्यांग के साथ मारपीट...

राजस्थान रॉयल्स को लगा झटका, बेन स्टोक्स सहित तीन दिग्गज खिलाड़ी पहले मैच से बाहर

राजस्थान रॉयल्स के कप्तान स्टीव स्मिथ, ऑलराउडंर बेन स्टोक्स और विकेटकीप जोस बटलर चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ पहले...

1 लाख 36 हजार रुपये का मोटोरोला फोन, केवल 2 मिनट में हुआ ‘आउट-ऑफ-स्टॉक’

नई दिल्लीटेक ब्रैंड मोटोरोला की ओर से पिछले साल बीच से फोल्ड होने वाला Moto RAZR स्मार्टफोन लॉन्च किया गया था और अब कंपनी...