Home दुनिया चीन सीमा पर कुछ बड़ा होने वाला है? कंधे पर रखकर दागी...

चीन सीमा पर कुछ बड़ा होने वाला है? कंधे पर रखकर दागी जाने वाली मिसाइलों संग जवान तैनात

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के करीब चीनी हेलीकॉप्टरों की गतिविधियों के जवाब में भारतीय सेना ने वहां महत्वपूर्ण ऊंचाई वाली जगह पर कंधे पर रखकर हवा में मार करने वाली एयर डिफेंस मिसाइलों से लैस जवानों को तैनात किया है।

सूत्रों ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया, ‘रूसी मूल के इग्ला एयर डिफेंस सिस्टम से लैस भारतीय सैनिकों को सीमा पर महत्वपूर्ण ऊंचाई पर तैनात किया गया है। वे दुश्मन देश के हवाई जहाजों के हवाई क्षेत्र का उल्लंघन करने पर उन्हें मुंहतोड़ जवाब देंगे।’

रूसी मूल के एयर डिफेंस सिस्टम का इस्तेमाल भारतीय थल सेना और वायु सेना दोनों द्वारा किया जाता है और इसका उपयोग तब होता है, जब दुश्मन के लड़ाकू जेट या हेलीकॉप्टर हमारी सीमा या फिर जहां जवान तैनात हैं, उसके करीब आते हैं।

यह भी पढ़ें: चीन की कोई नई चाल तो नहीं? भारत के खिलाफ जहर उगलने वाला ड्रैगन अब कर रहा शांति की बात

भारत की ओर से दुश्मन की हवाई आवाजाही पर नजर रखने के लिए रडार और सतह से लेकर हवाई मिसाइल सिस्टम तक की तैनाती की गई है और दूसरे देश की गतिविधियों पर निगरानी बढ़ा दी गई है। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी और पेट्रोलिंग प्वाइंट 14 पर भारतीय जवानों ने कई बार देखा है कि चीन के चॉपरों ने भारतीय क्षेत्र में आने की कोशिश की है।

भारतीय वायु सेना (IAF) ने पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में चीनी हेलीकाप्टरों द्वारा संभावित हवाई क्षेत्र के उल्लंघन को विफल करने के लिए मई के पहले सप्ताह के आसपास अपने Su-30MKI को तैनात किया था। भारत झिंजियांग और तिब्बत क्षेत्र में PLAAF के होटन, गर गुनसा, काश्गर, होपिंग, डोंकाका डोंगॉन्ग, लिंझी और पंगत हवाई अड्डों पर कड़ी नजर रख रहा है। ये सभी हाल के दिनों में अत्यधिक सक्रिय रहे हैं।

यह भी पढ़ें: चीन से तनाव के बीच केंद्र सरकार का अहम फैसला, लेह-लद्दाख सीमा तक बनेगा वैकल्पिक मार्ग

चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयर फोर्स (PLAAF) ने हाल के दिनों में कई ठिकानों को अपग्रेड किया है, जिसमें रहने वाली जगह का निर्माण, रनवे की लंबाई का विस्तार और अधिक संचालन करने के लिए अतिरिक्त जनशक्ति की तैनाती शामिल है। पूर्वोत्तर राज्यों के विपरीत लिंज एयरबेस मुख्य रूप से एक हेलीकॉप्टर बेस है और चीन ने उन क्षेत्रों में अपनी निगरानी गतिविधियों को बढ़ाने के लिए वहां हेलीपैड का एक नेटवर्क भी बनाया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

WHO की बड़ी चेतावनी- सामूहिक रूप से कदम नहीं उठाने पर कोरोना से हो सकती हैं 20 लाख मौतें

वैश्विक स्तर पर कदम नहीं उठाने से बढ़ सकता है COVID से मौतों का आंकड़ा (प्रतीकात्मक तस्वीर)खास बातेंकोरोना से मौतों का आंकड़ा 20...

Indian Railway News: दिवाली-छठ पर घर जाना होगा आसान, बिहार के लिए चलेंगी स्पेशल ट्रेनें

नई दिल्ली । Indian Railway News: अगले महीने से त्योहार का मौसम शुरू हो रहा है और अभी से पूर्व दिशा की ओर जाने वाली...

हाथरस की दुष्कर्म पीड़िता को न्याय दिलाने को लेकर निकाला कैंडल मार्च

संसू, लुधियाना : उत्तर प्रदेश की दुष्कर्म पीड़िता को इंसाफ दिलाने के लिए आजाद युवा शक्ति संघ के कार्यकर्ताओं ने जमालपुर चौक से कैंडल...

बीजेपी सरकार आजादी के नारों से क्यों डरती है ! MNTv

बहुजन पोस्ट डॉट कॉम बीजेपी सरकार आजादी के नारों से क्यों डरती है ! MNTv----------------------------------------------------------------------------------------------------------- For More information to Also, Subscribe Our YouTube Channel: 1. MN...

Covid-19 vaccine: ब्रिटेन की अनोखी पहल, दुनिया का पहला ‘मानव चैलेंज’ परीक्षण करेगा शुरू

ब्रिटेन दुनिया का पहला कोविड-19 मानव चैलेंज परीक्षण करने जा रहा है. जिसमें स्वस्थ वॉलेंटियर को जानबूझ कर कोरोना...

Covid-19 vaccine: ब्रिटेन की अनोखी पहल, दुनिया का पहला ‘मानव चैलेंज’ परीक्षण करेगा शुरू

ब्रिटेन दुनिया का पहला कोविड-19 मानव चैलेंज परीक्षण करने जा रहा है. जिसमें स्वस्थ वॉलेंटियर को जानबूझ कर कोरोना...