Home क्राइम भाई बना कातिल: सिर्फ इसलिए कर दी हत्या, ऐसे हुआ खुलासा

भाई बना कातिल: सिर्फ इसलिए कर दी हत्या, ऐसे हुआ खुलासा

बाराबंकी: बुजुर्गो ने एक कहावत कही है कि हर फसाद के पीछे जर, जोरू और जमीन का ही हाथ होता है। और यह कहावत एक बार फिर चरित्रार्थ हुई है बाराबंकी में। जहाँ एक भाई ने अपने भाई की हत्या सिर्फ संपत्ति के लिए कर दी। उसने अपने इस कारनामें को छिपाने के लिए भरसक प्रयास भी किया। मगर उसकी शर्ट पर पड़े खून के चंद छीटों ने दूध का दूध ,पानी का पानी अलग कर के रख दिया।

पैसों के लिए कर दी भाई की हत्या

भाई-भाई के रिश्ते को तार-तार करने वाली घटना सामने आई है बाराबंकी के थाना मोहम्मदपुर खाला थाना इलाके के गांव नहरवल से। जहाँ एक भाई ने अपने भाई की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी क्योंकि उसने पैसे नहीं दिए। भाई द्वारा पैसा न दिया जाना उसे इस कदर नागवार गुजरा कि सोते समय भाई के गर्दन पर प्राणघातक हमला कर दिया। इस हमले से सोते हुए भाई की मौके पर मौत हो गयी। जिसे छिपाने के लिए उसने सुबह होते ही भाई की हत्या होने का ड्रामा करते हुए रोना चिल्लाना शुरू कर दिया।

ये भी पढ़ें-   बिहार चुनाव: चुनावी तैयारियों में एनडीए आगे, नीतीश और नड्डा भी हुए सक्रिय

Barabanki Brother Murder

पुलिस को भी देखने में यही लगा कि यह हत्या किसी और ने की है। मगर सच्चाई को वह ज्यादा देर तक छिपा नहीं पाया। ग्रामीणों ने भी हत्या का शक मृतक ननकुन्ने के बेटी और दामाद पर ही जाहिर किया। और सिधा आरोप लगाते हुए कहा कि वह लोग आए थे और ननकुन्ने से बिक्री हुयी संपत्ति का हिस्सा मांग रहे थे। और न देने पर जान से मारने की धमकी दे रहे थे।

ऐसे सामने आई सच्चाई

Barabanki Brother Murder
Barabanki Brother Murder

इस मामले का खुलासा करते हुए बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक डाक्टर अरविन्द चतुर्वेदी ने बताया कि मृतक ननकुन्ने मंडली में नृत्य करने का काम करते था और इसका नजदीकी सम्पर्क जगदीश से था। जगदीश से उसके सम्बन्ध इतने घनिष्ठ थे कि जब जगदीश ने अपनी एक संपत्ति की बिक्री की तो इसके पैसे का बड़ा हिस्सा उसने ननकुन्ने को दे दिया। जिसको लेकर जगदीश की बेटी और दामाद का भी उससे झगड़ा हुआ। इसी बीच ननकुन्ने का भाई रामदीन भी अपने भाई से पैसे की मांग करने लगा और थोड़े पैसे लिए भी जिससे अपने घर की मरम्मत भी करवाई। लेकिन वह और पैसे की मांग कर रहा था।

ये भी पढ़ें-   सभी सभ्यताओं ने गांधी के सत्य को स्वीकारा, वेबिनार में गांधी के चिंतन पर चर्चा

जिसे ननकुन्ने दे नहीं रहा था और इसी कारण दोनों के बीच विवाद भी हुआ था। जब रामदीन को ननकुन्ने की बेटी और दामाद के झगड़े की जानकारी मिली तो उसने अपने भाई को मारने की योजना बनाईं। जिससे शक लड़की और दामाद पर जाए। इस प्राणघातक हमले के बाद जब पुलिस रामदीन से पूछताछ करने गई। तो उसकी शर्ट पर पड़े खून के छीटों के बारे में जब पूंछा गया तो उसने बताया कि भाई को पकड़ कर रोने के दौरान लग गए है। मगर पीछे की तरफ छींटे पड़ने का जवाब नहीं दे पाया और पुलिस की सख्ती से वह टूटू गया और हत्या की बात स्वीकार कर ली।

रिपोर्ट-  सरफराज़ वारसी

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

शाहजहांपुर: नहीं रहे 106 साल के सैय्यद वाहिद अली, भारतीय सेना की ओर से लड़ा था दूसरा विश्‍व युद्ध

आसिफ अली, शाहजहांपुर यूपी के शाहजहांपुर में रहने वाले 106 साल के पूर्व भारतीय सैनिक सैय्यद वाहिद अली का लंबी बीमारी के बाद निधन...

युवती के साथ हुए दुष्कर्म पर दोषियों को फांसी देने की मांग, प्रशासन के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

देहरादून, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के हाथरस में युवती के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म पर दून में उत्तराखंड वाल्मीकि समाज कल्याण समिति ने आक्रोश...

Sacred Games एक्ट्रेस का खुलासा, शो में बोल्ड सीन से एतराज़ करने पर अनुराग कश्यप ने उठाया था यह क़दम

नई दिल्ली, जेएनएन। फ़िल्ममेकर अनुराग कश्यप पर एक अभिनेत्री ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाये हैं, जिसके बाद से सोशल मीडिया में इसको...